पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रिहाई के बाद इनेलो सुप्रीमो की सेकंड ईनिंग:पलवल में कृषि कानूनों के खिलाफ धरना दे रहे किसानों के बीच पहुंचे पूर्व CM चौटाला; मतभेद भुलाकर साथ चलने की अपील

रेवाड़ी2 महीने पहले
पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला।

हरियाणा के बहुचर्चित JBT टीचर भर्ती घोटाले में सजा काट चुके प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और इंडियन नेशनल लोकदल के प्रमुख ओम प्रकाश चौटाला ने दूसरी राजनैतिक पारी की शुरुआत कर दी है। मंगलवार को चौटाला पलवल पहुंचे, जहां तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान धरने पर बैठे हैं। चौटाला ने यहां पुराने सभी मतभेद भुलाने के साथ सभी से एकजुट होकर किसान आंदोलन को आगे बढ़ाने की अपील की है। इसके बाद वह उत्तर प्रदेश और दिल्ली के बीच के सीमावर्ती गाजीपुर के धरने के लिए रवाना होंगे। इनेलो सुप्रीमो मंगलवार को पलवल के धरनास्थल पर चल रहे किसानों के धरने में शामिल हुए। वह यहां साढ़े 11 बजे पहुंचे। यह पहली बार है कि जेल से रिहा होने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री और इनेलो सुप्रीमो किसी मुद्दे को लेकर लोगों के बीच आए।

पलवल में किसानों के धरने में शामिल हुए ओम प्रकाश चौटाला। उनके साथ उनके पौत्र अर्जुन चौटाला भी थे।
पलवल में किसानों के धरने में शामिल हुए ओम प्रकाश चौटाला। उनके साथ उनके पौत्र अर्जुन चौटाला भी थे।

इनेलो सुप्रीमो व पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे किसानों के आंदोलन में शामिल होने के लिए मंगलवार को सबसे पहले पलवल स्थित धरना स्थल पर पहुंचेंगे। इनेलो के प्रदेश प्रवक्ता रजवंत डहीनवाल ने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री करीब 11:30 बजे पलवल पहुंचने के बाद किसानों को संबोधित करेंगे। इसके बाद वे सीधे गाजीपुर बॉर्डर पर चल रहे किसानों के धरने में शामिल होंगे। ओम प्रकाश चौटाला के धरना स्थल पर पहुंचने की सूचना के बाद वहां बड़ी संख्या में इनेलो कार्यकर्ता भी पहुंच रहे हैं। इनेलो सुप्रीमो के किसानों के बीच पहुंचने की जानकारी एक दिन पहले ही उनके पुत्र अभय चौटाला ने दी थी।

बता दें कि जेल से रिहा होने के बाद ओमप्रकाश चौटाला पहली बार राजनीतिक तौर पर अपनी नई सियासी पारी की शुरुआत कर रहे हैं। पूरे प्रदेश में किसानों का आंदोलन बड़े स्तर पर चल रहा है और इसी आंदोलन के माध्यम से ओम प्रकाश चौटाला प्रदेश व केंद्र सरकार पर निशाना साधना के साथ ही अपनी पार्टी में जान फूंकने का प्रयास करेंगे।