चवन्नी मर्डर केस में 8 बदमाशों को उम्रकैद:गैंगस्टर सुनील दोषी ठहराए जाने के बाद हो चुका फरार; कोर्ट ने 10 हजार का जुर्माना भी लगाया

रेवाड़ी13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रेवाड़ी कोर्ट ने सजा के अलावा जुर्माना भी लगाया है। जुर्माना नहीं भरने की सूरत में अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी। - Dainik Bhaskar
रेवाड़ी कोर्ट ने सजा के अलावा जुर्माना भी लगाया है। जुर्माना नहीं भरने की सूरत में अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी।

हरियाणा के रेवाड़ी में गैंगवार के चलते हुए चवन्नी मर्डर केस में दोषी ठहराए गए सभी 8 बदमाशों को बुधवार को अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश की कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई है। वहीं इस मामले में दोषी ठहराते ही फरार हुए आलू गैंग का सरगना सुनील डुलगच अब भी फरार है। कोर्ट ने बदमाशों के साथ सुनाने के साथ ही उन पर जुर्माना भी लगाया है। कोर्ट ने बदमाशों को सजा सुनाने के साथ ही उन पर जुर्माना भी लगाया है। जुर्माना नहीं भरने की सूरत में दोषियों को अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी।

2017 में हुई थी चवन्नी की हत्या

वर्ष 2017 में रेवाड़ी शहर की दुर्गा कालोनी में रहने वाले देवेंद्र और नई आबादी निवासी संजय उर्फ चवन्नी बाइक पर धारूहेड़ा चुंगी से पुरानी तहसील की तरफ जा रहे थे। रास्ते में वाल्मीकि बस्ती निवासी सुनील डुलगच, योगेश उर्फ भोटा, तन्नू, अरुण के अतिरिक्त पवन, चेतन व सन्नी खड़े थे। उन्होंने दोनों पर गोली चला दी थी। दोनों बाल-बाल बच गए थे, लेकिन बदमाशों ने लोहे की रॉड व सरियों से उन हमला कर दिया था, जिसमें संजय उर्फ चवन्नी की मौत हो गई थी। सिटी पुलिस ने इन नामजद बदमाशों पर हत्या, हत्या का प्रयास व आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज किया था। अब इन सभी 8 बदमाशों को कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई है।

जज की बात सुनते ही फरार हो गया था गैंगस्टर

इस मामले का मास्टरमाइंड आलू गैंग का सरगना सुनील डुलगच को भी उम्रकैद हुई है, लेकिन सुनील अभी फरार है। दरअसल, 19 नवंबर को इस मामले में कोर्ट ने सभी 8 बदमाशों को दोषी ठहराया था। अन्य बदमाशों के साथ सुनील भी कोर्ट में मौजूद था। इस दौरान जैसे ही अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश सरताज बासवाना की कोर्ट ने उन्हें दोषी ठहराया तो सुनील डुलगच चुपचाप कोर्ट से फरार हो गया है। रेवाड़ी पुलिस की कई टीमें सुनील को पकड़ने के लिए लगातार छापेमारी कर रही हैं, लेकिन अभी उसका सुराग नहीं लग पाया है।