रेवाड़ी में 4.05% कोरोना पॉजिटिविटी रेट:हर दिन कम हो रही सैंपलिंग; फिर भी एक्टिव केस 991, ज्यादातर घर में आइसोलेट, रिकवरी रेट में सुधार

रेवाड़ी4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक तस्वीर - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक तस्वीर

हरियाणा के रेवाड़ी शहर में कोरोना संक्रमण की रफ्तार पिछले दो दिनों में कम तो जरूर हुई, लेकिन चिंता की बात यह है कि सैंपलिंग भी बहुत कम हो गई है। जिले में पॉजिटिविटी दर बढ़कर 4.05% पर पहुंच गई। जिले में फिलहाल कोरोना के 991 एक्टिव केस हैं, जिनमें 9 को छोड़कर बाकी सभी घर में ही आइसोलेट हैं।

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़े के अनुसार, तीसरी लहर में एक बार भी एक दिन के अंदर 2 हजार सैंपल नहीं लिए गए हैं। हालांकि दूसरी लहर में भी सैंपलिंग बहुत कम थी, लेकिन इस बार बढ़ाकर इसे कुछ दिन तक प्रतिदिन 1500 के पार जरूर किया गया, लेकिन अब फिर से सैंपलिंग कम हो गई।

रविवार को पूरे दिन में सिर्फ 731 सैंपल लिए गए। हेल्थ बुलेटिन पर नजर डालें तो रविवार को 24 घंटे के अंदर कोरोना के 118 पॉजिटिव केस मिले। अब जिले में कुल पॉजिटिव केस का आंकड़ा 22 हजार 801 पर पहुंच गया है। राहत की बात यह है कि तीसरी लहर में कोरोना संक्रमण की वजह से किसी की मौत नहीं हुई।

जिले में पॉजिटिविटी दर 20 दिन पहले तक 2% से नीचे था, लेकिन अब बढ़कर 4.05% पर पहुंच गया है। एक और राहत की बात यह है कि जिस तेजी के साथ पॉजिटिव केस मिल रहे हैं, उसी तेजी के साथ ठीक भी हो रहे हैं। जिले में रिकवरी रेट 94.52% है। जिले में कोरोना से अब तक कुल 258 लोगों की मौत हुई है।

वैक्सीनेशन में भी गिरावट

पिछले 10 दिनों में वैक्सीनेशन में भी गिरावट दर्ज की गई है। पहले हर दिन 10 हजार से ज्यादा वैक्सीन की डोज लग रही थी। शुरुआत में 15 से 18 आयु वर्ग के किशोर भी वैक्सीनेशन को लेकर बहुत ज्यादा उत्साह दिखा रहे थे। वैक्सीनेशन बढ़ने का एक कारण यह भी था कि सरकार ने वैक्सीन की दोनों डोज नहीं लेने वालों की सार्वजनिक स्थानों से लेकर बस और ट्रेन में एंट्री बैन कर दी थी। हालांकि आदेश तो अब भी लागू हैं, लेकिन पहले जैसी सख्ताई नहीं होने के कारण वैक्सीनेशन में गिरावट दर्ज की गई है। अब पूरे दिन में 3 हजार से भी कम टीके लग रहे हैं।

खबरें और भी हैं...