पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

निरीक्षण:मलेरिया जांच के लिए 20 जुलाई तक रैपिड फीवर सर्वे करेंगी स्वास्थ्य विभाग की टीमें

रेवाड़ी21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कोसली के गांव सुधराना में सर्वे के दौरान एक बच्चे का मलेरिया टेस्ट करते स्वास्थ्यकर्मी। - Dainik Bhaskar
कोसली के गांव सुधराना में सर्वे के दौरान एक बच्चे का मलेरिया टेस्ट करते स्वास्थ्यकर्मी।
  • गांवों में पहुंचकर सैंपल ले रहे, बता रहे बचाव के उपाय

कोरोना के साथ-साथ क्षेत्र में बरसाती सीजन के दौरान मच्छरों से पनपने वाले संभावित मलेरिया बुखार की रोकथाम को लेकर स्वास्थ्य विभाग द्वारा रैपिड फीवर सर्वे कराया जा रहा है। यह सर्वे कोसली क्षेत्र में भी शुरू हो चुका है। एसडीएम होशियार सिंह ने बताया कि एएनएम, एमपीएचडब्लू सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मियों की टीमें गांवों में पहुंचकर मलेरिया टेस्ट कर रही हैं।

20 जुलाई तक प्रत्येक गांव में रैपिड फीवर सर्वे के तहत सभी प्रकार के बुखार की स्क्रीनिंग करते हुए रक्त के नमूने लेकर जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि सामुदायिक स्तर पर मलेरिया इत्यादि बुखार का प्रसार न बढ़ने पाए, स्वास्थ्य विभाग की टीम सभी गांवों में आशा वर्कर के सहयोग से सर्वे कार्य को निर्धारित समयावधि में पूरा करना सुनिश्चित करें।

एसएमओ डॉ. सुरेंद्र यादव ने बताया कि रैपिड फीवर सर्वे के लिए डॉ. राजीव लहकरा को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। मंगलवार को गांव सुधराना में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सर्वे के तहत मलेरिया टेस्ट के लिए नमूने लिए। सर्वे टीम में सुपरवाइजर राजबीर सिंह, एमपीएचडब्लु विनोद कुमार, देवकर्ण, सुशीला देवी शामिल रहे।

खबरें और भी हैं...