पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

समीक्षा बैठक:बाजरा खरीद अब 27 तक, 3119 किसानों का अभी तक फसल बिक्री के लिए नहीं आया नंबर

रेवाड़ी6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रेवाड़ी की अनाजमंडी में टोकन के लिए किसानों की लगी लंबी लाइन।
  • जिला सचिवालय सभागार में हुई बाजरा खरीद को लेकर समीक्षा बैठक
  • डीसी बोले- जिन किसानों का नहीं आया नंबर उनकी शीघ्र करें वेरिफिकेशन

जिले में बाजरा खरीद से जुड़े अधिकारियों को निर्देश देते हुए डीसी यशेंद्र सिंह ने कहा कि किसानों को मंडी में खरीद से संबंधित कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए। उठान कार्य में और अधिक तेजी लाने की जरूरत है। यदि ट्रांसपोर्टर उठान कार्य समय सीमा में नहीं कर रहा है तो उसके ऊपर फिर जुर्माना लगाया जाएं। डीसी बुधवार को जिला सचिवालय सभागार में बाजरा खरीद की समीक्षा बैठक में बोल रहे थे।

उन्होंने बताया कि जिले के 46 हजार 827 किसानों ने बाजरे की ब्रिकी के लिए मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवाया हुआ है। जिन्होंने एक लाख 79 हजार 186 एकड़ में बाजरे की खेती की हुई है। 3119 किसान अभी ऐसे बचे हैं जिनका नंबर अभी तक मंडी में बाजरा बिक्री के लिए नहीं आया है।

जिसमें 2374 रेवाड़ी, 33 बावल तथा 558 कोसली अनाज मंडी के किसान हैं, इन किसानों की फिजिकल वेरिफिकेशन का कार्य शीघ्र करें। सभी पंजीकृत किसानों का बाजरा खरीदा जाएगा। डीसी ने बताया कि सरकार द्वारा बाजरा की खरीद को 27 नवंबर तक बढ़ा दिया गया है। पिछले दिनों उठान की समस्या को देखते हुए व्यापारियों की शिकायत पर ट्रांसपोर्टर पर जुर्माना भी लगाया गया था।

इस मौके पर एसडीएम कोसली कुशल कटारिया, एसडीएम बावल मनोज कुमार, सीटीएम संजीव कुमार, डीएफएससी अशोक रावत, एएफएसओ जय यादव, हैफेड डीएम संतराम, उपमंडल अधिकारी कृषि डॉ. दीपक यादव, मार्केट कमेटी सचिव सत्यप्रकाश यादव, तहसीलदार प्रदीप देशवाल सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

परेशानी ... वेरिफिकेशन और गेट पास के लिए दूसरे दिन भी लगी लंबी लाइन

बाजरे की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद में इस बार शुरूआत से ही किसान परेशान हो रहे हैं। शुरूआती दिनों में कुछ किसानों का मैसेज दूसरे जिलों का आ गया तो कुछ के टोकन में ही गलती मिली। वहीं पहले खरीद के दौरान सीधे ही किसानों को गेट पास मिल रहे थे।

जिससे लाइन भी नहीं लगती थी, लेकिन अब दो दिन से व्यवस्था में बदलाव करते हुए गेट पास से पहले वेरिफिकेशन अनिवार्य किए जाने से मंडी में अव्यवस्था का आलम हो गया है। मंडी में उपज बिक्री करने के लिए पहुंचे किसानों का कहना था कि पहले वेरिफिकेशन में लंबी लाइन लगती है और फिर वहां से पास होने के बाद गेट पास के लिए लाइन में लगना पड़ रहा है।

मंडी में बुधवार को 750 किसानों का बाजरा बिक्री का शेड्यूल था, लेकिन लगभग 50 किसान किसी न किसी कारण से अपनी उपज बिक्री नहीं कर पाए। कुछ का रिकॉर्ड मिलान नहीं हुआ तो कुछ के पटवारी नहीं मिलने का भी कारण रहा।

किसान यूनियन पदाधिकारी बोले- बाजरा खरीद के नियमों में दी जाए ढील
भारतीय किसान यूनियन के जिला प्रधान समय सिंह ने कहा कि अब बाजरे की सरकारी समर्थन मूल्य पर खरीद में पहले वेरिफिकेशन करने की एक नई अड़चन खड़ी कर दी है। इससे किसानों को इस नए नियम से परेशानी उठानी पड़ रही है। सरकार के आए दिन नए नियम लागू करने से किसानों के लिए समस्या बनी हुई है।

उन्होंने कहा कि सरकार की नीयत में फर्क आ गया है और सभी किसानों का बाजरा खरीद करने की नीयत नहीं है। कपास भी सरकार ने एमएसपी पर नहीं खरीद की है। यूनियन प्रधान ने कहा कि अगर बाजरे की खरीद के नियमों में ढील नहीं दी गई तो यूनियन की ओर से धरना-प्रदर्शन भी किया जा सकता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उन्नतिकारक है। आपकी प्रतिभा व योग्यता के अनुरूप आपको अपने कार्यों के उचित परिणाम प्राप्त होंगे। कामकाज व कैरियर को महत्व देंगे परंतु पहली प्राथमिकता आपकी परिवार ही रहेगी। संतान के विवाह क...

और पढ़ें