भास्कर एनालिसिस:संक्रमित होने वालों में सबसे अधिक 67% लोग 21 से 40 की उम्र के, 20 वर्ष से कम के 8% और 60 से अधिक के

रेवाड़ी2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सिविल अस्पताल में बच्चों के लिए बनाया गया पीआईसीयू वार्ड। - Dainik Bhaskar
सिविल अस्पताल में बच्चों के लिए बनाया गया पीआईसीयू वार्ड।
  • जिले के 343 सक्रिय मामलों की पड़ताल, युवा अधिक संक्रमित हो रहे

कोविड की तीसरी लहर में युवा वर्ग सबसे अधिक संक्रमित हो रहा है। जिले में इस समय सक्रिय 343 मामलों की पड़ताल के दौरान ये बात सामने आई है। इनमें 67% संक्रमित 21 से 40 वर्ष की उम्र के ही हैं, जबकि 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चों पर इसका सबसे कम प्रभाव पड़ा है। एक्टिव केस में इस उम्र के बच्चों की संख्या महज 0.5% है। जबकि 60 से ज्यादा आयु के बुजुर्गों की संख्या 5.5 % है, जो कि इएस समय कोरोना की चपेट में हैं।

जबकि 41 से 60 वर्ष के 18% लोग पॉजिटिव हैं। यदि शहरी और ग्रामीण क्षेत्र की बात करें तो शहरी क्षेत्र में 51% तथा ग्रामीण क्षेत्र में 49% केस मिल रहे हैं। जिला स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन के साथ लोगों के लिए राहत की बात ये है कि जो भी व्यक्ति संक्रमण से बीमार पड़ रहा है, वो महज 4 से 5 दिन के अंदर ठीक भी हो रहा है। इसी के चलते इस बार होम आइसोलेशन का समय 10 से घटाकर 7 दिन किया गया है। यानी एक सप्ताह के आइसोलेशन के बाद व्यक्ति 8वें दिन काम पर लौट सकता है।

हेल्थ बुलेटिन

107 लोग ठीक हुए, 91 पॉजिटिव : जिला स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार शुक्रवार को जिले में 91 नए संक्रमित केस मिले हैं, जबकि 107 लोगों को स्वस्थ घोषित किया गया है। इस समय 343 सक्रिय केस हैं, जिनमें से 9 विभिन्न अस्पतालों में भर्ती हैं, जबकि 334 होम आइसोलेशन में हैं। एक दिन में 1488 सैंपल लिए गए। फिलहाल 1227 की रिपोर्ट आनी बाकी है। बता दें कि अभी तक 4 सरकारी डॉक्टर व 7 स्वास्थ्य कर्मी संक्रमित हो चुके हैं। ज्यादातर आइसोलेशन में हैं।

एक्सपर्ट व्यू- वैक्सीन से वायरस का असर कम : कोविड नोडल ऑफिसर अर्बन डॉ. दीपक वर्मा का कहना है कि वैक्सीन मजबूत सुरक्षा चक्र है। संभवत: यही वजह है कि अभी तक वायरस का अधिक प्रभाव संक्रमितों में देखने को नहीं मिला। वैरिएंट का नेचर दूसरी लहर के मुकाबले बदला हुआ है। पॉजिटिव रिपोर्ट के अधिकतर मामलों में बुखार, बॉडी पेन जैसे लक्षण नजर आ रहे हैं। इसलिए जिस किसी ने भी वैक्सीन की दोनेां डोज नहीं लगवाई हैं, वो जरूर लगवा लें तथा मास्क का इस्तेमाल करें।

91 नए केस- अब तक 4 सरकारी डॉक्टर और 7 कर्मचारी चपेट में, अधिकतर आइसोलेशन में

बैंककर्मी पॉजिटिव; बैंक ऑफ बड़ौदा शाखा 2 दिन के लिए बंद

कर्मचारियों के पॉजिटिव होने से कार्य स्थलों पर भी असर पड़ना शुरू हो गया है। ब्रास मार्केट स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा की शाखा के एक कर्मचारी की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके चलते बैंक को दो दिन के लिए बंद किया गया है। शुक्रवार को यह ब्रांच बंद रही तथा कामकाज नहीं हुआ। अब शनिवार को भी इसे बंद ही रखा जाएगा। रविवार को अवकाश रहेगा। पूरी तरह सेनिटाइजेशन के बाद सोमवार को ही काम सुचारू हो पाएगा। इस ब्रांच के अन्य कर्मचारियों के भी सैंपल लिए गए हैं।

प्रशासन की तैयारी- बस स्टैंड और रेलवे स्टेशन पर होगी रैंडम सैंपलिंग

अतिरिक्त मुख्य सचिव एवं रेवाड़ी जिला के प्रशासनिक सचिव वीएस कुंडू ने शुक्रवार को नए कोरोना वैरिएंट ओमिक्रॉन से बचाव के लिए की जा रही तैयारियों के बारे में जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। कुंडू ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग सामान्य टेस्टिंग के साथ-साथ रेलवे स्टेशन व बस स्टैंड पर रैंडम सैम्पलिंग करें, ताकि पता चला सके कि नए ओमिक्रॉन का कितना फैलाव है।

जिले में ऑक्सीजन की उपलब्धता व अन्य प्रबंधों पर प्रशासन के इंतजामों को सराहा। डीसी यशेन्द्र सिंह ने एसीएस कुंडू को अवगत कराते हुए कहा कि संक्रमण के अधिक फैलाव को देखते हुए दूसरी लहर में प्रतिदिन अस्पताल में दाखिल होने वाले मरीजों की तादाद से 5 गुणा मरीजों के हिसाब से तैयारियां हैं।

सरकारी व निजी अस्पताल में 5.53 एमटी ऑक्सीजन जनरेट हो रही है। 44 एमटी ऑक्सीजन की स्टोरेज क्षमता है। इस मौके पर एसपी राजेश कुमार, एडीसी आशिमा सांगवान, सीईओ जिप जयदीप कुमार, एसडीएम बावल संजीव कुमार, एसडीएम कोसली होशियार सिंह, एसडीएम रेवाड़ी सिद्धार्थ दहिया, सीटीएम देवेन्द्र शर्मा, डीडीपीओ एचपी बंसल, सीएमओ डॉ. कृष्ण कुमार, पीएमओ डॉ. सुशील माही, डॉ. अशोक, डॉ. विजय प्रकाश, डॉ. दीपक वर्मा उपस्थित रहे।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...