दफ्तर के चक्कर से राहत:डीटीपी से 7-ए में नोटिफाइड एरिया की एनओसी मिलेगी ऑनलाइन

रेवाड़ी2 महीने पहलेलेखक: मनीष कुमार
  • कॉपी लिंक

अवैध कॉलोनियों में प्लॉट काटकर उनकी रजिस्ट्री होने के खेल पर प्रभावी ढंग से अंकुश लगाने के लिए अब जिला नगर योजनकार विभाग की ऑनलाइन एनओसी जरूरी हो गई है। विभाग की तरफ से नोटिफाइड एरिया में रजिस्ट्री के लिए तभी एनओसी जारी की जाएगी जब वेबसाइट पर तमाम वैध दस्तावेज अपलोड हो जाएंगे। दस्तावेज सही होने की स्थिति में तुरंत एनओसी जारी हो जाएगी। रजिस्ट्री के ऑनलाइन सिस्टम के साथ एनओसी की प्रक्रिया भी ऑनलाइन किए जाने से गलत रजिस्ट्रियों पर लगाम लग जाएगी।

जिला प्रशासन की तरफ से निर्धारित किए गए कंट्रोल एरिया में शहर से अलग-अलग सड़कों पर निश्चित दूरी तक का एरिया 7ए में नोटिफाइड किया गया है। इन क्षेत्रों में रजिस्ट्रियों के लिए जिला नगर योजनाकार विभाग की तरफ जारी की जाने वाली एनओसी जरूरी होती है।

अभी तक विभाग की तरफ से ऑफलाइन ही एनओसी दी जाती थी जिससे गड़बड़ी की भी संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है। चूंकि राज्य में रजिस्ट्रियां पूरी तरह से ऑनलाइन की जा चुकी है जिसमें तमाम वैध दस्तावेज अपलोड करने के साथ यह प्रक्रिया पूरी हो जाती है। उसी को ध्यान में रखते हुए सरकार ने योजनकार विभाग की एनओसी के लिए भी यही प्रक्रिया प्रारंभ कर दी है।

इसमें एनओसी लेने के लिए सीएलयू, सजरा, इंतकाल जैसे दस्तावेज जरूरी कर दिए गए हैँ। इनके नहीं होने की स्थिति में एनओसी जारी ही नहीं होगी और कोई इनके बगैर अप्लाई भी करता है तो ऑटो जनरेट सिस्टम उसको रिजेक्ट कर देगा। इससे यह होगा कि अब जो भी एनओसी जारी होंगी वह पूरी तरह से सही जारी होगी,जिससे रजिस्ट्री कराने में भी आसानी होगी।

दो कनाल से कम के लिए एनओसी जरूरी

डीटीपी की तरफ से 7ए में नोटिफाइए एरिया में किसी भी तरह की कॉलोनी, निर्माण करने के लिए सीएलयू लेना जरूरी होती है। बगैर सीएलयू के जमीन के टाइटल को चेंज नहीं किया जा सकता है और एनओसी इसी का हिस्सा होती है। इसमें जमीन का सीएलयू होने के साथ ही यह प्रक्रिया आगे बढ़ती है।

सरकार की तरफ से नोटिफाइड एरिया में दो कनाल से कम जमीन की रजिस्ट्री के लिए डीटीपी की एनओसी को जरूरी किया हुआ है। हालांकि रेवाड़ी जिला में एक बड़ा खेल यह भी चल रहा है कि सड़कों के साथ लगते कुछ हिस्से नोटिफाइड नहीं है।

टीसीपी हरियाणा वेबसाइट पर करें आवेदन

जिला की 7ए के तहत नोटिफाइड यानि कंट्रोल एरिया की जमीन पर एनओसी के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा। यह आवेदन tcpharyana.gov.in वेबसाइट पर करना होगा। इसके लिए जमाबंदी, सजरे का नक्शा, इंतकाल, सेल डीड, बेचने वाले का शपथ-पत्र ऑनलाइन ही अपलोड करना होगा।

इससे संबंधित तमाम प्रक्रिया पूरी होने के बाद ऑनलाइन ही एनओसी जनरेट हो जाएगी। इससे लोगों को डीटीपी कार्यालय में चक्कर लगाने की कोई जरूरत नहीं होगी। यदि किसी दस्तावेज की कमी होगी तो उससे संबंधित मैसेज आ जाएगा। साथ मोबाइल नंबर पर स्वीकृति और रद्द करने का भी मैसेज आएगा।

लोगों की सुविधा के लिए उठाया है कदम

7 ए के तहत नोटिफाइड जमीन की एनओसी लेने के लिए अब लोगों को कार्यालय में आने की जरूरत नहीं है। विभाग की तरफ से यह प्रक्रिया अब पूरी तरह से ऑनलाइन की जा चुकी है। वैध दस्तावेज अपलोड करने के बाद वेबसाइट के माध्यम से ही ऑटो जनरेट सिस्टम से एनओसी जारी हो जाएगी। इसके लिए विभाग से संपर्क करने की कोई जरूरत नहीं है।

-धर्मबीर खत्री, जिला नगर योजनकार, रेवाड़ी।

खबरें और भी हैं...