• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Rewari
  • Prime Minister Modi Said; Today The Country Has Created History, The Country Now Has A Shield Of 100 Crore Vaccine Doses, Will Work As Vishram Sadan Vishwas Sadan

झज्जर AIIMS में विश्राम सदन का शुभारंभ:PM बोले- देश के पास 100 करोड़ वैक्सीन डोज का कवच, मरीज और रिश्तेदारों को होगी सहूलियत

रेवाड़ी/झज्जरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
उद्घाटन के बाद संबोधित करते हुए PM नरेंद्र मोदी। - Dainik Bhaskar
उद्घाटन के बाद संबोधित करते हुए PM नरेंद्र मोदी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज 21 अक्टूबर 2021 का दिन इतिहास में दर्ज हो गया है। भारत ने अब से कुछ देर पहले 100 करोड़ वैक्सीन डोज का टारगेट पूरा कर लिया है। 100 साल बाद पूरी दुनिया के सामने आई नई महामारी का मुकाबला करने के लिए देश के पास अब 100 करोड़ वैक्सीन डोज का मजबूत सुरक्षा कवच है। PM मोदी गुरुवार को हरियाणा के झज्जर जिले में नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट के विश्राम सदन के उद्घाटन अवसर पर बोल रहे थे।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बाढसा AIIMS का यह विश्राम सदन-विश्वास सदन का काम करेगा। केंद्र सरकार की कोशिश है कि देश में जहां भी AIIMS बन चुके या फिर बन रहे हैं, वहां इस प्रकार का विश्राम सदन जरूर बने। इससे मरीज ही नहीं, बल्कि उनके इलाज के दौरान साथ आने वाले रिश्तेदारों को भी सहूलियत मिलेगी।

PM मोदी ने कहा कि 100 करोड़ वैक्सीन डोज की उपलब्धि भारत की है। देश के प्रत्येक नागरिक की है। उन्होंने वैक्सीनेशन से जुड़ी तमाम मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों, ट्रांसपोर्ट से जुड़े कर्मचारी, हेल्थ वर्कर का आभार प्रकट किया। उन्होंने जानकारी दी कि वह कुछ देर पहले ही दिल्ली के राम मनोहर लाल लोहिया अस्पताल के वैक्सीनेशन सेंटर से होकर आए हैं। वहां वैक्सीनेशन का जो जज्बा देखा, वह हम सबको मिलकर कोरोना को हराने की प्रेरणा देता है।

झज्जर एम्स में मरीजों का हालचाल पूछते मुख्यमंत्री मनोहर लाल।
झज्जर एम्स में मरीजों का हालचाल पूछते मुख्यमंत्री मनोहर लाल।

मरीज के साथ रिश्तेदारों की चिंता दूर होगी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बाढसा AIIMS में इन्फोसिस फाउंडेशन विश्राम सदन का वीसी के माध्यम से रिमोट से बटन दबाकर उद्घाटन किया। PM ने कहा कि झज्जर एम्स में कैंसर का इलाज कराने वाले मरीजों और उनके रिश्तेदारों को बड़ी सहूलियत मिली है। कैंसर जैसी बीमारी में इलाज के लिए मरीज और रिश्तेदारों को बार-बार जाना पड़ता है। कभी कीमोथैरपी तो कभी रेडियोथैरपी या फिर डॉक्टर से मिलना होता है। इसमें बड़ी दिक्कत ये होती है कि आखिर रुके कहां? ठहरे कहां? यह 10 मंजिला विश्राम सदन अब मरीजों और उनके रिश्तेदारों की चिंता कम करेगा। इससे हरियाणा ही नहीं, बल्कि देश के अन्य राज्यों जैसे दिल्ली और उत्तराखंड के लोगों को भी लाभ मिलेगा।

कॉरपोरेट सेक्टर और सामाजिक संस्थाएं कर रहीं सहयोग

PM मोदी ने कहा कि गरीबों की मदद करना ही नर सेवा नारायण सेवा है। कॉरपोरेट सेक्टर और सामाजिक संस्थाएं देश को मजबूत करने में सहयोग कर रही हैं। प्रधानमंत्री ने इस दौरान आयुष्मान भारत योजना के लाभ भी गिनाए और बताया कि इससे किस तरह देश के गरीबों को लाभ मिला है। उन्होंने कहा कि पब्लिक और प्राइवेट सेक्टर के बीच साझेदारी काम आ रही है। हमारे यहां कहा गया है कि दान करने से धन घटता नहीं, बल्कि बढ़ता है। इसलिए गरीबों की मदद के लिए सबको आगे आना चाहिए।

विश्राम सदन के शुभारंभ के अवसर पर झज्जर एम्स पहुंचे मुख्यमंत्री मनोहर लाल।
विश्राम सदन के शुभारंभ के अवसर पर झज्जर एम्स पहुंचे मुख्यमंत्री मनोहर लाल।

सहूलियत से मजबूती मिलती है

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इलाज के दौरान मरीज और उनके रिश्तेदारों को मिलने वाली सहूलियत से उन्हें मजबूती मिलती है। हमारा यह सेवा भाव ही है कि हमने कैंसर की 400 से ज्यादा दवाइयों को कम करने का कदम उठाया। सरकारी अस्पतालों में हर प्रकार की सुविधाओं का दायरा बढ़ाया जा रहा है।

इस मौके पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल, स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ व रोहतक लोकसभा क्षेत्र से सांसद डॉ. अरविंद शर्मा झज्जर एम्स में आयोजित कार्यक्रम में मौजूद रहे। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया व इन्फोसिस फाउंडेशन की चेयरपर्सन सुधा मूर्ति वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़े। उद्घाटन समारोह में एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया भी मौजूद रहे। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कार्यक्रम के बाद कैंसर इंस्टीट्यूट में भर्ती मरीजों का हाल भी जाना।