पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोरोना इफैक्ट:कैदी भाइयों को राखी बांधने के लिए आने वाली बहनों के लिए नहीं खुलेंगे जेल के दरवाजे

रेवाड़ी6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
Advertisement
Advertisement

रक्षाबंधन के दिन हर बहन का अरमान होता है कि वह अपने भाई की कलाई पर रक्षासूत्र अवश्य बांधे। भाई चाहे किस भी हालात में हो फिर भी बहनों के विश्वास की डोर उन तक अवश्य पहुंचती है लेकिन इस बार कोरोना की वजह से बाधाएं बढ़ गई हैं।

जेलों में बंद कैदियों तक उनकी बहन हर साल राखी बांधने के लिए पहुंचती हैं लेकिन इस बार उनकी यह इच्छा अधूरी ही रह जाएगी। गृह विभाग की तरफ से हर साल जेलों में बंद कैदियों को राखी बांधने की अनुमति दी जाती है लेकिन इस बार कोरोना की वजह से विभाग की तरफ से अभी तक कोई निर्देश जारी नहीं किया गया है।

ऐसे में जेल अधिकारियों का कहना है कि निर्देश नहीं मिलने की वजह यही है कि सरकार इस बात को लेकर गंभीर है कोरोना का संक्रमण न फैल जाए। मौखिक रूप से ही यही कहा गया है कि जेलों में बंद कैदियों को रक्षाबंधन के दिन उनके परिजनों से नहीं मिलवाया जाए क्योंकि पुलिस महकमे के अलावा जेलों में भी संक्रमण के कई मामले सामने आ चुके हैं।

हालांकि जेलों में संक्रमण के मामले सामने आने के बाद पुलिस की तरफ से गिरफ्तारी से पहले आरोपियों को कोविड टेस्ट भी कराया जा रहा है लेकिन फिर भी जोखिम कम नहीं है। सोशल डिस्टेंसिंग की पालना के लिए जेलों में कैदियों की संख्या को भी कम किया गया है और उन्हें दूसरी जेलों में शिफ्ट किया जा चुका है।

रोक की पीछे कारण ये...परिजन संक्रमित मिला तो चेन तोड़ना जटिल हो जाएगा : गृह विभाग की चिंता यह है कि रक्षाबंधन के दिन जेलों के बाहर हर वर्ष बड़ी संख्या में कैदियों के परिवार के सदस्य पहुंचते हैं और उनके बहन राखी बांधती है। ऐसे में यदि इस बार छूट दी जाती है तो भीड़ उमड़ेगी इसलिए संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है।

वहीं यदि कोई कैदी अथवा उनसे मिलने के लिए आने वाला कोई भी परिजन संक्रमित आ गया तो उसमें संक्रमण की चेन को तोड़ना बेहद मुश्किल हो जाएगा। हालांकि जेल अधिकारियों का कहना है कि फिलहाल कोई अनुमति के निर्देश नहीं आए हैं और आना भी बेहद मुश्किल है।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - अपने जनसंपर्क को और अधिक मजबूत करें। इनके द्वारा आपको चमत्कारिक रूप से भावी लक्ष्य की प्राप्ति होगी। और आपके आत्म सम्मान व आत्मविश्वास में भी वृद्धि होगी। नेगेटिव- ध्यान रखें कि किसी की बात...

और पढ़ें

Advertisement