रेवाड़ी जिले में 18 घंटे में 5 हत्याएं:हांसावास में रिटायर्ड जवान ने भाई की पत्नी-बेटे को गोली मारी गैंगवार में भाकली के 2 युवकों और शहर में ऑटो चालक की हत्या

रेवाड़ीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोसली में हत्या की घटना के बाद मौके पर जांच करते पुलिस अधिकारी। - Dainik Bhaskar
कोसली में हत्या की घटना के बाद मौके पर जांच करते पुलिस अधिकारी।
  • चिराहड़ा में ऑफिस में बैठे युवक पर ताना कट्‌टा, जान से मारने की धमकी देकर फरार हुआ आरोपी

रेवाड़ी जिले में दीपावली के त्योहार पर अपराधियों ने ताबड़तोड़ वारदातों को अंजाम दिया। शनिवार रात को शहर के घंटेश्वर मंदिर पर बदमाशों ने एक ऑटो चालक की चाकूओं गोदकर हत्या कर दी।

गुरुवार दोपहर को कोसली बस स्टैंड पर सरेआम हुए शूटआउट में बदमाशों ने गैंगवार में 10 राउंड फायरिंग कर दो युवकों को माैत के घााट उतार दिया। इस घटनाक्रम से पुलिस अभी निपटी भी नहीं थी कि रोहड़ाई क्षेत्र के गांव हांसावास में गुरुवार की शाम को एक रिटायर्ड फौजी ने लाइसेंसी रिवाल्वर से अपने छोटे भाई की विधवा पत्नी और उनके बेटे की गाेली मारकर हत्या कर दी। घटना में दोनों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि आरोपी के सबसे छोटे भाई का 11 साल का बेटा घायल हो गया। 48 घंटे के दौरान जिला में हत्या की 5 वारदातों ने पुलिस महकमा के भी होश उड़ा दिए।

दीपावली की तैयारियों में जुटे थे मां-बेटा, गलत नजर रखता था आरोपी

रोहड़ाई थाना क्षेत्र के गांव हांसावास में गुरुवार की शाम को करीब साढ़े 5 बजे हुई इस वारदात में असम राइफल्स से रिटायर्ड विक्रमसिंह ने उसी परिसर में रहने वाली अपने छोटे भाई की 43 पत्नी वर्षीय संतोष,उसके 16 वर्षीय बेटे शिवम और सबसे छोटे भाई अजय के 11 साल के बेटे अनुज पर गोली चला दी। आरोपी ने तीनाें पर गाेली चला दी। जिसमें संतोष और उसके बेटे शिवम की मौके पर ही मौत हो गई।

अनुज की पीठ में गाेली लगने से वह गंभीर रूप से घायल हो गया। घटना के समय पीड़िता अपने बेटे के साथ दीपावली की तैयारियों में लगी हुई थी। पुलिस ने बताया कि संतोष के पति की लगभग 6 साल पहले मौत हो गई थी।

शिकायतकर्ता में मृतका के देवर और आराेपी के छाेटे भाई अजय ने बताया कि गुरुवार की शाम को उसका सबसे बड़ा भाई विक्रमसिंह शराब के नशे में झगड़ा कर रहा था। वह समझाने के लिए गए थे जिसके उन्हें लगा कि त्योहार का दिन है कुछ समय बाद मान जाएगा। इसके बाद भी कहासुनी जारी रही और आरोपी ने अपनी बेटी से लाइसेंसी रिवाल्वर मंगाकर तीनों को सीधे ही गोली मार दी।

आरोप है कि विक्रमसिंह संतोष पर गलत नजर रखता था, जिसको लेकर झगड़ा हुआ था। दोहरे हत्याकांड की सूचना मिलते ही पुलिस में भी हड़कंप मच गया और घटना के पश्चात कोसली डीएसपी मुकेश कुमार के साथ रोहड़ाई थाना प्रभारी रतनलाल सहित अन्य पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने दोनों के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए नागरिक अस्पताल भेजा और शुक्रवार को मां-बेटे के शवों का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया। उधर अनुज का गुड़गांव के अस्पताल में दाखिल कराया गया है। फिलहाल बच्चे की हालत खतरे से बाहर बताई गई है।

पुलिस ने बताया कि शहर के मोहल्ला बल्लूवाड़ा निवासी अमित कुमार शहर में टेंपो चलाता था। शाम के समय एक दुकान पर भी काम करता था। घटनाक्रम के अनुसार अमित बुधवार की रात को दीपावली के लिए मिठाई व अन्य सामान खरीदने के लिए शहर के मोती चौक पर गया हुआ था। यहां पर उसे अकेला पाकर 8-10 युवकों ने उसके साथ मारपीट करना शुरू कर दिया।

इसके बाद पीड़ित आरोपियों से बचकर घंटेश्वर मंदिर के निकट एक गली में छिप गया। आरोपी उसका पीछा करते हुए वहां तक भी पहुंच गए और उसे गली में ही पकड़ लिया। जमकर पिटाई के बाद आरोपियों ने अमित की छाती पर चाकू से कई वार कर डाले।

घटना के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए। बाद में कुछ लोगों ने उसे घायल देखा तो ट्रामा सेंटर में पहुंचाया जहां से जानकारी मिलने पर उसके परिजन भी पहुंच गए। यहां पर उपचार के दौरान अमित की मौत हो गई। अमित के पिता रामअवतार ने बताया कि उनका दुकान काे लेकर विवाद चल रहा है जिसकाे लेकर पहले भी उनके साथ मारपीट हुई थी। ऐसे में संभावना है कि इसी वजह से उनके बेटे की हत्या की गई है।

हालांकि पुलिस ने मामले में अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया है। घटना की जानकारी मिलने के बाद एसपी राजेश कुमार के साथ डीएसपी मोहम्मद जमाल ने भी जानकारी ली। वहीं सीआईए टीम ने मौके पर पहुंचकर सुबूत जुटाए। फिलहाल मामले में पुलिस ने एक आरोपी नई बस्ती निवासी यश उर्फ नन्नू को गिरफ्तार किया है। आरोपी को पुलिस ने दो दिन के रिमांड पर लिया है।

कोसली भी दहला: गैंगवार में बाजार में खरीददारी के आए दो दोस्तों को मारी गोली : दीपावली के दिन ही कोसली के बाजार में खरीददारी के लिए आए दो दोस्तों की बदमाशों ने 10 राउंड अंधाधुंध फायर करके हत्या कर दी। वारदात से पहले बदमाशों ने उनकी कार पर भी फायर किए लेकिन दोनों कार से निकलकर बाजार में भागने में कामयाब हो गए। बदमाशों ने उनका वहां भी पीछा नहीं छोड़ा और दोनों पर सीधे फायर करते हुए हत्या कर दी। दिनदहाड़े बाजार में हुई हत्या की इस वारदात से सनसनी फैल गई। सूचना मिलते ही भारी पुलिस बल मौके पर पहुंच गया।

घटना के संबंध में पुलिस मृतक यशदेव उर्फ ईशु की मां की शिकायत पर 8 लोगों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया है। गुरुवार की शाम को दोनों को पुलिस पहरे में अंतिम संस्कार करा दिया गया। पुलिस ने बताया कि गांव भाकली निवासी यशदेव उर्फ ईशु और अक्षय उर्फ बादशाह गुरुवार दोपहर को कोसली के बस स्टैंड पर दीपावली की खरीददारी के लिए गए थे। खरीददारी करने के बाद जैसे ही दोनों कार में बैठे तभी उन पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। अचानक हुए इस हमले में दोनों ने खुद को उस समय बचा लिया और फिर कार छोड़कर बाजार में भाग निकले।

बदमाशों ने दोनों का पीछा करते हुए फिर से उन्हें बस स्टैंड के पीछे झुग्गी एरिया में पकड़ लिया और गोली मार दी। गोली लगने से दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। घटना के बाद बदमाश पैदल ही बाजार में भीड़ का फायदा उठाकर फरार हो गए। घटना के पश्चात आसपास के लोगों ने दोनों को शहर के एक निजी अस्पताल में पहुंचाया जहां पर चिकित्सकों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया।

अगस्त में भी हुई थी ईशु पर फायरिंग

भाकली निवासी यशदेव और अक्षय पर 25 अगस्त को भी इसी रंजिश के चलते बदमाशों ने फायरिंग की थी। इस घटना में गोली यशदेव के कान के पास से छूते हुए निकल गई थी। हालांकि बदमाशों ने उन्हें ललकारा भी था लेकिन वह किसी तरह वहां से बच निकलने में कामयाब हो गया था। इस संबंध में भी पुलिस ने 7 बबदमाशों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी। इसमें कुछ कोसली के युवक भी नामजद हुए थे। इस मामले में पुलिस ने अभी तक 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर पाई है और शेष आरोपी अभी पकड़ से बाहर थे। पुलिस को दी शिकायत में मृतक ईशु की मां ने 8 बदमाशों का नामजद करते हुए 25 अगस्त को हुए हमले के आरोपियों पर ही शक जताया है।

घटना के पश्वात कोसली पुलिस के साथ सीआईए की टीम मौके पर पहुंची और घटना से जुड़े साक्ष्य हासिल करने के लिए आसपास के सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले हैं। फिलहाल मामले में पुलिस ने भाकली निवासी फौजी जोखी, विरेंद्र उर्फ कर्नल, परवेज धनिया, दीपक आमबोली, डाकू, कोसली निवासी गोलू उर्फ सचिन,प्रवीण पंघाल सहित 8 को नामजद कर केस दर्ज कर लिया है।

शहर के घंटेश्वर मंदिर के समीप चालक को चाकू से गोदा : इन दोनों वारदातें से पहले बुधवार की रात को शहर के मुख्य बाजार के बीच भी एक हत्या की वारदात हो गई। इस वारदात में बाजार में आए ऑटो चालक की 8-10 बदमाशों ने चाकू से गोदकर हत्या कर दी। ऑटो चालक बचाव के लिए एक गली में घुस गया लेकिन बदमाशों ने उसे वहीं घेरकर चाकू से गोद डाला। घटना के बाद उसे ट्रामा सेंटर में भी ले जाया गया जहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

इस मामले में भी हत्या का आरोप मृतक के चचेरे भाईयों पर लगा है। दोनों परिवारों में किसी दुकान को लेकर विवाद की बात सामने आई है। हालांकि मामले में पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

खबरें और भी हैं...