Apple का स्टोर दिलाने के नाम पर ठगे 1.67 करोड़:रेवाड़ी के एक नामी व्यापारी के साथ हुई धोखाधड़ी; आरोपी परिवार को लेकर फरार, मॉडल टाउन पुलिस ने दर्ज किया केस

रेवाड़ीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक तस्वीर - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक तस्वीर

रेवाड़ी में एक नामी व्यापारी के साथ 1.67 करोड़ रुपए की ठगी का मामला सामने आया हैं। जो एप्पल का स्टोर दिलाने के नाम पर की गई। आरोपी रेवाड़ी का ही रहने वाला है, जो पुलिस में शिकायत पहुंचने के बाद परिवार सहित गायब है। मॉडल टाउन थाना पुलिस ने केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

रेवाड़ी शहर के बारा हजारी निवासी ऋषभ जैन ने बताया कि उन्होंने मॉडल टाउन में मोबाइल शॉप खोली हुई थी, जिसमें उनका एक पार्टनर दीपांक मेहता भी है। शहर के बंजारवाड़ा निवासी दीपांक मेहंदीरत्ता उनकी दुकान के साथ-साथ शहर में अन्य शोरूम पर भी एप्पल के मोबाइल बेचता था। इसी बीच दीपांक ने मेरे भाई अभिषेक जैन को कहा कि एप्पल कंपनी में एक बड़े पद पर उनका खास दोस्त काम करता है।जिसकी अप्रोच से वह रेवाड़ी में उन्हें एप्पल का स्टोर दिला सकता है।

अभिषेक उसकी बातों में आ गया और 16 लाख रुपए सिक्योरिटी के नाम पर एक फर्म के खाते में ट्रांसफर करा दिए। जिसके एवज में शातिर दीपांक ने कंपनी के फर्जी कागजात भी तैयार करा कर दिए। बाद में वह धीरे-धीरे कर उससे एक करोड़ से ज्यादा की रकम कभी ऑनलाइन ट्रांजेक्शन और कभी कैश लेता रहा। करीब 1 करोड़ 67 लाख रुपए देने के बाद दीपांक ने अभिषेक को कहा कि एप्पल स्टोर के लिए नई दुकान लेनी होगी। अभिषेक ने मॉडल टाउन में ही एक दुकान लेकर पूरा स्टोर तैयार कर दिया।

जब उसने दीपांक से स्टोर के बारे में पूछा तो कहा कि अमेरिका में लॉकडाउन की वजह से स्टोर खुलने में दिक्कत आ रही है। मार्च 2021 में लॉकडाउन खुलने के बाद स्टोर भी खुल जाएगा। मार्च में भी स्टोर नहीं खुला तो अभिषेक जैन और उसका भाई दोनों दिल्ली में कंपनी के ऑफिस पहुंचे। जहां बताया गया कि जो 16 लाख रुपए उन्होंने सिक्योरिटी के रूप में जमा कराए थे, उनसे दीपांक एप्पल के मोबाइल खरीद कर ले जा चुका है। इतना सुनते ही उनके होश उड़ गए।

रेवाड़ी में तैयार वह स्टोर, जिसे खोलने के नाम पर ठगी हुई है।
रेवाड़ी में तैयार वह स्टोर, जिसे खोलने के नाम पर ठगी हुई है।

ऋषभ और अभिषेक ने जब दीपांक द्वारा दिए कागजात दिखाए तो पता चला कि ये भी फर्जी हैं। अभिषेक जैन ने आरोपी से संपर्क किया तो पहले तो वह टालने लगा, लेकिन जब बार-बार उससे संपर्क किया तो उसने पैसे ही देने से मना कर दिया। अभिषेक के भाई ऋषभ ने इसकी शिकायत मॉडल टाउन थाना में दर्ज कराई। इसकी जानकारी मिलने के बाद आरोपी दीपांक परिवार सहित फरार हो गया। मॉडल टाउन थाना पुलिस ने केस दर्ज करके कार्रवाई शुरू कर दी हैं।

खबरें और भी हैं...