पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आईजीयू कोर्ट का निर्णय:माता-पिता को खो चुके विद्यार्थी से नहीं लेंगे फीस

रेवाड़ी25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

इंदिरा गांधी विश्वविद्यालय (आईजीयू) मीरपुर में यूनिवर्सिटी कोर्ट की बैठक में कोविड या अन्य कारणों से अनाथ विद्यार्थियों के लिए एक अतिरिक्त सीट का प्रावधान करने और इनसे फीस नहीं लेने का निर्णय किया गया है। यह बैठक ऑनलाइन माध्यम से की गई। विश्वविद्यालय कोर्ट के सदस्यों की सहमति के बाद कुलपति प्रो. एसके गक्खड ने बताया कि ये अतिरिक्त सीट उन सभी विभागों में दी जाएगी, जिनके कोर्स किसी विनियामक संस्था से नहीं जुड़े हुए हैं।

इसके अतिरिक्त यूनिवर्सिटी कोर्ट में विद्यार्थियों के जीवन बीमा सम्बन्धी विषय पर भी मंथन किया और यह प्रस्ताव पास किया कि विश्वविद्यालय के अधिकारी इस प्रस्ताव पर आगे की रूपरेखा तैयार करें। इन दोनों योजनाओं को विश्वविद्यालय की अगली कार्यकारिणी परिषद की नीति में रखने का प्रस्ताव भी अनुमोदन किया गया।

इस महत्वपूर्ण बैठक में विश्वविद्यालय के वित्तीय सम्बन्धी प्रस्तावों का अनुमोदित किया गया। इसी बैठक में वार्षिक प्रतिवेदन 2019-20 को भी सर्वसम्मति से अनुमोदित किया गया। बैठक में विवि के विभिन्न संकायों के डीन तथा वरिष्ठ शिक्षकों ने भाग लिया। विश्वविद्यालय की कुलसचिव प्रो. ममता कामरा ने सदस्य-सचिव के रूप में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

खबरें और भी हैं...