डोर-टू-डोर सर्वे:एससी बाहुल्य गांवों में विकास कार्यों को लेकर होगा सर्वे, स्कोर 70 आने पर बनेंगे आदर्श गांव

रेवाड़ी6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रत्येक गांव के लिए स्वीकृत किए गए हैं 20 लाख रुपए

प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के तहत 50% से अधिक जनसंख्या वाले अनुसूचित जाति बाहुल्य गांवों में विकास कार्यों को लेकर डोर-टू-डोर सर्वे किया जाएगा। योजना में प्राप्त राशि से किए जाने वाले कार्यों की समीक्षा करते हुए एडीसी आशिमा सांगवान ने बैठक में संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए। कहा कि जो कार्य फिजीबल हैं उन कार्यों पर तुंरत कार्यवाही की जाए। उन्होंने बैठक में बताया कि जिले के 5 खण्डों के 18 गांवों को इस कार्य के लिए चिह्नित किया गया है।

इन 18 गांवों में से 9 गांवों का कार्य पूरा हो चुका है। गांवों का स्कोर 70 आने पर गांव को आदर्श गांव घोषित किया जा सकता है। उपरोक्त 18 गांवों को 20 लाख रुपए प्रति गांव के हिसाब से प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के तहत स्वीकृत हुई है, जिससे इन गांवों में विकास कार्य किए जाने है।

सीईओ जिला परिषद जयदीप कुमार ने सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत गांव खरखड़ा व भाड़ावास में विकास कार्यों की समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि खरखड़ा गांव में बैंक की शाखा, भाड़ावास में व्यायामशाला व रिचार्ज बोरवेल, सामुदायिक केन्द्र का निर्माण, दोनों गांवों में जोहड़ का निर्माण व ओपन जिम इत्यादि का कार्य भी किया जाना है। इसके लिए संबंधित अधिकारी कार्य शुरू करें। बैठक में डीडीपीओ एचपी बसंल, एलडीएम भूपेन्द्र राव, बीडीपीओज, एपीओ अर्जुन गुप्ता, सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...