जींद निवासी कंपनी कर्मी के साथ हुई धोखाधड़ी:मौसी का बेटा बता फोन-पे पर भेजा 1 रुपया, यूपीआई पिन डलवाकर ट्रांसफर कर लिए 1.06 लाख रुपए

रेवाड़ीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शातिर ठग नए-नए पैंतरों से लोगों के साथ ठगी कर रहे हैं। सबसे अधिक मामले साइबर फ्रॉड के सामने आ रहे हैं। साइबर फ्रॉड के ही एक मामले में शातिर ठग ने एक कंपनी कर्मी से मौसी का बेटा बनकर बात की और ऑनलाइन पैसे मंगाने का झांसा देकर खाते से 1 लाख 6 हजार 300 रुपए ट्रांसफर कर लिए। पीड़ित जींद जिले का रहने वाला है, जिसे खाते से पैसा ट्रांसफर होने के बाद अपने साथ हुई धोखाधड़ी का पता चला। शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने धोखाधड़ी का केस दर्ज कर लिया है।

शातिर ने मोबाइल पर भेजे लिंक, फिर पिन डलवाया

पुलिस को दी शिकायत में जिला जींद के गांव लोधार निवासी कंपनी कर्मी सलिंद्र सिंह ने बताया कि वह फिलहाल धारूहेड़ा की विशाल कॉलोनी में किराए पर रहते हैं। 9 दिसंबर को उनके पास दो नंबरों से कॉल आई जिसमें फोन करने वाले शातिर ने पहले उनका हाल-चाल पूछा और कहा कि पहचानों कि मैं कोन बोल रहा हूं?इस पर पीड़ित ने अपनी मौसी के बेटे नरेश का नाम लिया तो शातिर ने कहा कि वह नरेश ही बोल रहा है। इसके बाद पीड़ित को उसको मौसी का बेटा समझकर बात करने लगा।

शातिर ने कहा कि उसे किसी दोस्त से एलआईसी के पैसे मंगाने हैं और वह उसके पे-फोन के अकाउंट में यह पैसा मंगाना चाहता है। इस पर सलिंद्र ने हां कर दी जिसके बाद शातिर ने उसके खाते में 1 रुपया भेज दिया। एक रुपया रिसीव होने के बाद शातिर ने उसको तीन-चार लिंक भेजे और उसके बैंक अकाउंट के यूपीआई पिन डलवा लिए। इसके बाद उसके खाते से कुल 1 लाख 6 हजार 300 रुपए ट्रांसफर हो गए। खाते के पूरे पैसे ट्रांसफर होने के बाद पीड़ित को अपने साथ हुई धोखाधड़ी का पता चला। तत्पश्चात पीड़ित ने मामले की शिकायत पुलिस को दी।

खबरें और भी हैं...