स्कूलों को खोले जाने की शिकायत:डीईओ ने नहीं माने डीसी के आदेश, खिलाफ जाकर खुलवा दिए जिले के स्कूल

रेवाड़ी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • नॉन वर्किंग-डे को बनाया मजाक
  • डीसी बोले- डीईओं से मांगा जाएगा स्पष्टीकरण

हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग (एचएसएससी) द्वारा आयोजित पुलिस भर्ती परीक्षा के निर्बाध तरीके से संचालन और जाम या किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए डीसी यशेंद्र सिंह द्वारा जारी नॉन वर्किंग-डे के आदेशों को जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) राजेश कुमार ने नहीं माना। जिले के सभी शिक्षण संस्थानों में अवकाश रखा जाना था, मगर स्कूलों में आदेशों को लागू कराने की बजाय डीईओ ने खिलाफ जाकर स्कूलों को खुलवा दिया। स्कूलों में बच्चे पहुंचे तथा कक्षाएं भी लगाई गई। हालांकि इसके लिए डीईओ को स्पष्टीकरण देना होगा। डीसी ने बताया कि स्कूलों को खोले जाने की शिकायत मिली है। इसके लिए जिला शिक्षा अधिकारी से स्पष्टीकरण मांगा जा रहा है।

मुख्य सचिव के निर्देश पर डीसी ने जारी किया था पत्र

राज्य सरकार के मुख्य सचिव द्वारा रेवाड़ी समेत जिन जिलों में पुलिस भर्ती परीक्षा होनी थी, उनके डीसी को 7 अगस्त (शनिवार) की परीक्षा के लिए नॉन वर्किंग-डे घोषित करने के निर्देश दिए थे। इन निर्देशों के अनुसार डीसी यशेंद्र सिंह ने शुक्रवार देर आदेश जारी कर जिले के सभी शिक्षण संस्थानों में शनिवार को नॉन वर्किंग-डे घोषित कर दिया। इसके तहत सभी स्कूल, कॉलेज, यूनिवर्सिटी व अन्य शिक्षण संस्थानों में अवकाश रखा जाना था।

अलसुबह मीडिया व सोशल मीडिया के माध्यम से शिक्षकों तक यह सूचना भी पहुंच गई थी। शिक्षकों व स्कूल मुखियाओं ने इस बात को मानते हुए छुट्टी की तैयारी कर ली थी। लेकिन सुबह जिला शिक्षा अधिकारी राजेश कुमार ने डीसी के आदेशों से पहले के शिक्षा निदेशालय के निर्देशों का हवाला देकर सूचना जारी कर दी कि सिर्फ उन्हीं स्कूलों में अवकाश रहेगा, जहां एग्जाम सेंटर बनाए गए हैं। हैरानी की बात है कि डीसी के लिखित आदेशों में सबसे पहले डीईओ को ही संबोधित किया गया है। इसके बावजूद डीईओ ने डीसी ऑफिस से इस बारे में स्पष्ट जानकारी लेकर स्कूल बंद रखवाने की बजाय खुलवा दिए। लिखा कि कोई भ्रमित न हो, स्कूल खोलें। इस बारे में वे जवाब देने से भी बचते रहे। फोन करने पर उन्होंने कट कर दिया।

खबरें और भी हैं...