शहर में खाद उपलब्धता:जिले को आज और कल मिलेंगे डीएपी के दो नए रैक, नहीं रहेगी खाद की किल्लत

रेवाड़ी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सड़कों की मरम्मत, पराली प्रबंधन, फसल खरीद व खेतों में जल भराव की गई समीक्षा

जिला सचिवालय सभागार में बैठक आयोजित की गई। जिसमें एडीसी आशिमा सांगवान ने खाद की उपलब्धता, सड़कों की मरम्मत, पराली प्रबंधन, फसल खरीद व खेतों में जल भराव संबंध में समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों को जरूरी निर्देश भी दिए।

एडीसी सांगवान ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि रबी सीजन के मद्देनजर किसानों को डीएपी की कमी न आने दी जाए। उन्होंने उप-निदेशक कृषि विभाग को निर्देश दिए कि खाद व बीज की उपलब्धता व सुचारू वितरण को लेकर खंड स्तर पर अधिकारियों की ड्यूटी लगाएं, ताकि किसानों को परेशानियों का सामना न करना पड़े।

उप-निदेशक कृषि बलवंत सिंह ने बैठक में बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा जिले में किसानों की मांग के अनुरूप खाद उपलब्ध कराई जा रही है, जिसके लिए आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं। जिले को गुरुवार व शुक्रवार को डीएपी के दो नए रैक मिलेंगे, जिससे डीएपी खाद की कोई कमी नहीं रहेगी।

उन्होंने बताया कि इफको व गुजरात फर्टिलाइजर के रैक लगते ही सभी केन्द्रों पर डीएपी व सिंगल सुपर फास्फेट का वितरण शुरू कर दिया जाएगा। एडीसी ने पराली प्रबंधों की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि जिले में पराली जलाने पर रोक लगाई जाए और इस और पूरा ध्यान दिया जाए। उप-निदेशक कृषि ने बताया कि जिले के खंड जाटूसाना व खंड रेवाड़ी में दो हजार एकड़ में ही धान फसल की बिजाई की जाती है, जिसकी कटाई हाथ से की जाती है और जिले में पराली प्रबंधन की कोई समस्या नहीं है।

जो सड़कें टूटी-फूटी और क्षतिग्रस्त, उनकी कराएं मरम्मत

सड़क मरम्मत कार्यों की समीक्षा करते हुए कार्यकारी अभियंता लोकनिर्माण विभाग को निर्देश दिए कि अब बरसात का मौसम समाप्त हो चुका है, जिले की जो भी सड़कें टूटी-फूटी और क्षतिग्रस्त हैं, उनकी मरम्मत शुरू करवाएं और इस कार्य में गुणवत्ता का पूरा ध्यान रखें। इस माह के अंत तक सभी सड़कों की मरम्मत कराना सुनिश्चित करें।

उन्होंने बस स्टैंड से राव गोपाल देव चौक तक क्षतिग्रस्त सड़क की मरम्मत के लिए एनएएचआई से पत्राचार करने के निर्देश भी अधिकारियों को दिए। एडीसी ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि बरसात के मौसम के दौरान जल भराव वाले क्षेत्रों में पानी की निकासी करवाएं, ताकि किसान अपनी फसलों की बिजाई कर सकें। इस मौके पर संदीप सिंह, डीपी नैन, सचिव मार्केट कमेटी सत्य प्रकाश, सचिव कोसली जितेन्द्र, संतराम, ईओ एमसी अभय सिंह सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...