कोरोना वॉरियर्स / वायरस से लड़कर ठीक हो लौटी जिले की पहली महिला, बोलीं- गर्म पानी और काढ़ा पीएं, सबसे दूरी रखें तो कोरोना को हरा देंगे

X

  • सेक्टर-4 में 8 मई को मां-बेटी के साथ ही उक्त पड़ोसन महिला मिली थी संक्रमित

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 08:01 AM IST

रेवाड़ी. जिले में 7 मई तक कोरोना का एक भी केस नहीं था। 8 मई को बुरी खबर आई और सेक्टर-4 में रह रही मां-बेटी के साथ ही उनकी ही बिल्डिंग में रह रही एक 53 वर्षीय महिला भी कोरोना पॉजिटिव मिली। सिविल हॉस्पिटल में शुरूआती ट्रीटमेंट के बाद उन्हें नूंह के नल्हड़ मेडिकल कॉलेज कोविड-19 हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। 

15 दिन बाद वहां से अब अच्छी खबर सामने आई। 53 वर्षीय महिला पूरी तरह स्वस्थ हो गई हैं। बता दें कि उसी जगह भर्ती 13 वर्षीय बच्ची का स्वास्थ्य भी पूरी तरह ठीक है। मगर अभी उसे छुट्टी नहीं दी गई है। गुड़गांव में भर्ती पुलिसकर्मी को भी जल्द ही छुट्टी मिलने की उम्मीद है। खास ये है कि सेक्टर-4 निवासी महिला कोरोना वॉरियर्स की तरह ठीक होने के बाद अब वापस रेवाड़ी में अपने घर भी लौट आई हैं। अपने ठीक होने के बाद सभी संक्रमितों को हिम्मत के साथ ही मूलमंत्र देते हुए कहा कि गर्म पानी का इस्तेमाल करें। काढ़ा पीते रहें और सोशल डिस्टेंसिंग रखें तो हम कोरोना को निश्चित तौर पर हरा पाएंगे। दैनिक भास्कर से बातचीत में उन्होंने बताया कैसे दो सप्ताह में वायरस हराया।

पहले लगा कुछ खतरा है, मगर सब ठीक हुआ... शुक्रिया डॉक्टर
8 मई को हमारी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी तो अस्पताल ले जाया गया। क्योंकि मैं पूरी तरह स्वस्थ थी तो मुझे ज्यादा चिंता नहीं थी। अस्पताल में भर्ती कर लिया गया। यहां रहे तो खतरनाक वायरस के चलते कोई नजदीक नहीं आ रहा था। डॉक्टर भी दूर से और सावधानी से दवा दे रहे थे। इसके बाद अगले दिन नूंह के लिए रेफर कर दिया गया। परिवार से अलग हुए तो मन में कुछ चिंता बढ़ी। मगर तब भी मेरी सेहत खराब नहीं थी, बस यही तसल्ली थी। मेरे साथ हमारी पडोस में रह रही महिला और उसकी बेटी को भी रेफर किया गया था। 13 साल की बच्ची संक्रमित थी, मगर उसके हौसले भी हमें हिम्मत मिली। अस्पताल में दवाओं के साथ हमें गर्म पानी के साथ ही 2 बोतल काढ़ा भी दिया जाता था।

पीने में तो वह स्वादिष्ट नहीं था, मगर बीमारी में अच्छा काम किया। खाने में भी काफी परहेज थे। ठंडी चीजें पूरी तरह ही बंद थी। यहां पहली रिपोर्ट पॉजिटिव थी। मगर वहां 4 टेस्ट हुए, चारों ही बार रिपोर्ट निगेटिव मिली। गुरुवार को चौथी रिपोर्ट निगेटिव मिली तो छुट्टी दे दी गई। शुक्रवार रात को 12 बजे घर आ गई। इस 14-15 दिन की परीक्षा के बाद अब परिवार के साथ हूं। डॉक्टरों का भी बहुत शुक्रिया। 14 दिन घर में ही क्वारेंटाइन रहना है। सबसे यही कहूंगी कि गर्म पानी और काढा पीएं और खुद को बीमारी से दूर रखें। -जैसा ठीक हुई सेक्टर-4 निवासी महिला ने बताया।

बच्ची की 3 रिपोर्ट निगेटिव
सेक्टर-4 निवासी मां-बेटी भी नल्हड़ हॉस्पिटल में भर्ती हैं। बच्ची के दादा रिटायर्ड कमांडेंट ने बताया कि बच्ची की सेहत पूरी तरह ठीक है। वहां उसकी 3 रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी हैं। मगर अभी उसे मां के पास वार्ड में ही रखा है। हालांकि मां को अभी जुकाम की शिकायत है। इसलिए बच्ची के लिए एहतियात रखी जा रही है। वहीं बच्ची के चाचा गुड़गांव में भर्ती हैं। जो मुरलीपुर के रहने वाले हैं तथा हरियाणा पुलिस में गुड़गांव ही तैनात हैं। उनकी भी रिपोर्ट निगेटिव आई हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना