रेवाड़ी नगर परिषद हाउस की बैठक:8 माह बाद हुई मीटिंग शुरू होने से पहले ही हंगामा; सफाई, टूटी सड़क, अतिक्रमण व लावारिस पशुओं का मुद्दा उठा

रेवाड़ी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रेवाड़ी नगर परिषद हाउस में उपस्थित चेयरपर्सन, पार्षद व अन्य। - Dainik Bhaskar
रेवाड़ी नगर परिषद हाउस में उपस्थित चेयरपर्सन, पार्षद व अन्य।

रेवाड़ी नगर परिषद की बैठक बुधवार को हंगामेदार रही। बैठक शुरू होने से पहले ही पार्षद पतियों व उनके परिजनों के हाउस में पहुंचने को लेकर हंगामा हुआ। हालांकि बाद में उन्हें एक साइड में बैठने की जगह दे दी गई। उसके बाद बैठक शुरू होने पर शहर की बदहाल व्यवस्था पर पार्षदों ने अधिकारियों पर जमकर तीर चलाये। बैठक में शहर की टूटी सड़के, अतिक्रमण, लावारिस पशु व सफाई का मुद्दा जोरशोर से उठा।

इस बीच कुछ पार्षदों के बीच आपस में नोंक-झोंक भी होती दिखी। बैठक में खास बात यह रही कि रेवाड़ी से कांग्रेस के विधायक चिरंजीव राव भी पहुंचे। उन्होंने बैठक में शहर की समस्याओं से जुड़े मुद्दों को उठाया। बैठक में हाल ही में नोमिनेट किए गए तीन पार्षदों को शपथ भी दिलाई गई।

दरअसल, रेवाड़ी नगर परिषद के चुनाव दिसंबर 2020 में संपन्न हुए थे। उसके बाद एक बार ही बैठक हुई थी। पिछले 8 माह हाउस की कोई बैठक नहीं हो पाई थी। बुधवार दोपहर बाद शुरू हुई हाउस की बैठक में चेयरपर्सन पूनम से लेकर तमाम अधिकारी मौजूद रहे। बैठक शुरू होने से 2 मिनट पहले ही विधायक चिरंजीव राव भी पहुंच गए। बैठक में अधिकांश पार्षदों ने शहर की साफ-सफाई और अतिक्रमण का मुद्दा उठाया।

बैठक में चेयरपर्सन के साथ बैठे विधायक चिरंजीव राव।
बैठक में चेयरपर्सन के साथ बैठे विधायक चिरंजीव राव।

इसके अलावा कुछ पार्षदों ने लावारिस पशुओं के कारण बिगड़ी शहर की सूरत व आए दिन हो रहे हादसों का जिक्र किया। इस पर नगर परिषद के अधिकारियों की तरफ से जवाब दिया गया कि लावारिस पशुओ को पकड़ने के लिए नए सिरे से टेंडर छोड़ा जा रहा हैं। वहीं साफ-सफाई को लेकर कहा कि इस तरह पहले से ज्यादा ध्यान दिया जा रहा हैं। अगर फिर भी शहर में कही सफाई की प्रॉब्लम हो तो पार्षद सीधे फोटो खिंचकर भेज सकते है। तुरंत सफाई कराई जाएगी।

नप में कैमरे जरूरी तो बाजार में भी लगने चाहिए
हाउस की मीटिंग में रखे गए एजेंडे में नगर परिषद परिसर में सीसीटीवी कैमरे लगाने की अनुमति देने का भी अनुरोध किया गया था। इस पर पार्षद धीरज शर्मा ने कहा कि नगर परिषद में कैमरे लग सकते हैं, तो फिर बाजार में भी लगने चाहिए। उन्होंने तर्क दिया कि आए दिन बाजार में अपराधिक घटनाएं होती रहती हैं। व्यापारी भयभीत हैं, इसलिए यहां कैमरे जरूर लगने चाहिए। इसका विधायक चिरंजीव राव ने भी समर्थन किया और कहा कि बाजार में कैमरे लगने चाहिए।

विधायक ने गिनाई समस्याएं
रेवाड़ी विधायक चिरंजीव राव ने बैठक के दौरान शहर की समस्याएं गिनाई। उन्होंने कहा कि रेवाड़ी की जनता अतिक्रमण से त्रस्त हैं। सफाई व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं हैं। उन्होंने सवाल किया कि 2019 में करोड़ों रुपए खर्च कर शहर की सड़कों से मिट्‌टी उठाने के लिए मंगवाई गई स्वीपिंग मशीन आखिर कहा है, इसका जवाब भी अधिकारियों को देना चाहिए। इस पर नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी अभय सिंह ने कहा कि मशीन चालू हालत में है। रात के समय शहर की सड़कों की सफाई इसी मशीन से की जाती हैं। जिसकी सीसीटीवी फुटेज भी देखी जा सकती हैं। विधायक ने कहा कि अगर मशीन चलती हैं तो उसकी सीसीटीवी फुटेज दिखाई जाए। विधायक ने एक और सवाल किया कि बरसात के मौसम में रेवाड़ी की जनता ने बहुत बुरा हाल देखा है। उसके बावजूद बरसाती पानी की निकासी को लेकर कोई प्रबंध नहीं है। वहीं दूसरी तरफ पार्षद प्रवीन उर्फ शालू ने कहा कि उनके वार्ड की जनता सवाल करती है कि आखिर शहर की ऐसी हालत क्यों है? बाजार से गाड़ी लेकर निकलना तो दूर कोई पैदल भी नहीं निकल सकती। अतिक्रमण के कारण सड़कें सिकुड़ चुकी हैं। उनके पास कोई जवाब नहीं होता। उन्होंने कहा कि शहर की सफाई और अतिक्रमण से लोगों को जल्द निजात दिलाई जानी चाहिए।

खबरें और भी हैं...