पुलिस की कार्रवाई:पेट्रोल पंप लूट के प्रयास की वारदात में शामिल तीसरा आरोपी 11 साल बाद काबू

रेवाड़ीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कसौला थाना पुलिस ने दिल्ली-जयपुर राजमार्ग स्थित एक पेट्रोल पंप पर लूट के प्रयास की वारदात में शामिल तीसरे आरोपी को गिरफ्तार को 11 साल बाद गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किया गया आरोपी जिला नूंह के गांव ग्वारका निवासी इरशाद है। पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि दिल्ली के महेंद्रा पार्क मंजीत सिंह का दिल्ली-जयपुर राजमार्ग पर भूड़ला के निकट पेट्रोल पंप है। जुलाई 2010 में रात के समय एक कार में सवार होकर तीन युवक उनके पंप पर पहुंचे। इसके बाद दो युवक उनके ऑफिस में आ गए हैं और सेल्समैन कार का ब्रेक ऑयल मांगा।

इस दौरान एक युवक कार के अंदर ही बैठा रहा। सेल्समैन ने ऑयल देने के बाद जब ऑयल के पैसे मांगे तो आरोपियों ने उसे धक्का देकर जबरन कुर्सी पर बैठा दिया। इसके बाद आरोपियों ने पैसे मांगने पर सीधे गोली मारने की धमकी देते हुए ऑफिस की तलाशी लेने लगे। मामला देखने के बाद पंप पर काम करने वाले अन्य सेल्समैन भी वहां पहुंच गए तो आरोपियों ने उन्हें भी गोली मारने की धमकी दी।

वारदात के बाद आरोपी कार सहित मौके से फरार हो गए। शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने केस दर्ज करके मामले में दो आरोपी वसीम और शाकिर को गिरफ्तार कर लिया। जबकि इरशाद वारदात के बाद से ही पुलिस के हाथ नहीं आ रहा था। अब पुलिस ने उसको गिरफ्तार कर लिया। आरोपी को अदालत में पेश किया जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

खबरें और भी हैं...