नियम-134ए:दाखिले का आज अंतिम दिन, अब तक सिर्फ 19 फीसदी विद्यार्थियों के हुए एडमिशन, 1729 को अभी भी इंतजार

रेवाड़ी7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अभिभावकों व बच्चों ने मकर संक्रांति पर सचिवालय में की साफ-सफाई

नियम-134ए के अंतर्गत दाखिले करवाना अभिभावकों के लिए परेशानी बनता जा रहा है। अब पहली लिस्ट में जिन बच्चों का नाम आया, उनको दाखिले देने की 15 जनवरी अंतिम तिथि है। लेकिन निजी स्कूलों के विरोध के चलते अब तक 2151 में से सिर्फ 422 ही दाखिले जिले में पोर्टल पर अपडेट किए गए हैं।

दाखिले नहीं करने वाले 114 स्कूलों को शिक्षा विभाग की ओर से शो कॉज नोटिस भी जारी किया जा चुका है। हांलाकि नोटिस के बाद 46 दाखिले भी हुए, लेकिन यह लिस्ट के मुकाबले में कम है। इधर, दाखिला न होने से खफा होकर शुक्रवार को भी अभिभावकों और बच्चों ने जिला सचिवालय पर धरना दिया। इस दौरान मकर संक्रांति पर जिला सचिवालय में साफ-सफाई भी की गई। अभिभावकों का कहना था कि दाखिला न होने से उनके बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। वे ऑनलाइन कक्षा भी नहीं ले पा रहे हैं।

बता दें कि निजी स्कूलों द्वारा पुराना बकाया नहीं मिलने के चलते खुले तौर पर ऐलान किया था कि सरकार जब तक उनकी राशि जारी नहीं करती, तब तक वे स्कूलों में नियम-134ए के तहत दाखिले नहीं करेंगे। हरियाणा प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन द्वारा नियम-134ए को खत्म कर आरटीई लागू करने की भी मांग उठाई गई है। इस गतिरोध के चलते सरकार ने अंतिम तिथि को भी कई बार आगे बढा चुकी है। अब भी वही स्थिति बनी हुई है। यदि तिथि नहीं बढ़ाई तो बड़ी संख्या में बच्चों का भविष्य पर चिंता के बादल छाए रहेंगे।

जिले में सिर्फ 19.6 फीसदी ही दाखिले

जिले में 134ए के अंतर्गत दाखिले का ग्राफ काफी कम है। यहां 422 यानी 19.6 फीसदी के आसपास ही दाखिले हुए हैं। पहली लिस्ट को जारी हुए 29 दिन हो गए, लेकिन अब भी जिले में 1721 दाखिले पेंडिंग चल रहे हैं। ये दाखिले जिला शिक्षा विभाग के लिए भी परेशानी का कारण बन रहे हैं। अब दाखिले न करने वाले स्कूलों को नोटिस भी दिया गया है।

अभिभावक बोले- एडमिशन नहीं होने से बच्चों की पढ़ाई भी प्रभावित हो रही

अभिभावकों का कहना है कि एडमिशन नहीं होने से बच्चों की पढ़ाई भी प्रभावित हो रही है। क्योंकि पहले स्कूल से भी नाम कटवा लिया और दूसरे स्कूल में भी दाखिला नहीं हुआ। जिससे उनके बच्चे पढ़ाई भी नहीं कर पा रहे हैं। दाखिला होने का असमंजस ही बना हुआ है। अब सत्र बीतने में भी दो माह ही रह गए।

शुक्रवार को जिले में 46 बच्चों के दाखिले और पोर्टल पर अपडेट हुए हैं। जिससे बढ़कर संख्या अब 422 हो गई। दाखिले नहीं देने वाले स्कूलों काे शो कॉज नोटिस जारी किया हुआ है। अब आगे जो भी निर्देश मिलेंगे, उसी अनुसार कार्रवाई की जाएगी। -कपिल पूनिया, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी, रेवाड़ी।

खबरें और भी हैं...