पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Rewari
  • Vaccination Will Be Done 3 Days A Week, Frontliners Will Be The First And Health Workers Will Get The Second Dose At 14 Centers On Monday

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई गाइडलाइन:सप्ताह में 3 दिन होगा टीकाकरण, सोमवार को 14 केंद्रों पर फ्रंटलाइनर्स को पहली व हेल्थ वर्कर्स को लगेगी दूसरी डोज

रेवाड़ी13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रेवाड़ी में हेल्थ वर्कर्स दूसरी डोज लगवाने के बाद खुशी मनाते हुए। - Dainik Bhaskar
रेवाड़ी में हेल्थ वर्कर्स दूसरी डोज लगवाने के बाद खुशी मनाते हुए।

कोरोना टीकाकरण के लिए नई गाइडलाइन जारी की गई है। जिसके अंतर्गत अब सप्ताह में केवल तीन दिन ही कोरोना टीकाकरण का कार्य चलेगा। यानी सप्ताह में सोमवार, मंगलवार और बुधवार को ही टीके लगाए जाएंगे। शेष तीन दिनों में सामान्य टीकाकरण का कार्य किया जाएगा, क्योंकि अभी रूटीन इम्युनाइजेशन कार्य प्रभावित हो रहा था। इसलिए इसमें बदलाव किया गया है।

यह जानकारी देते हुए डीआईओ डॉ. अशोक कुमार ने बताया कि तीन दिन टीकाकरण होगा तो लाभार्थियों की संख्या ज्यादा रहेगी, इसलिए सेंटर भी बढ़ाए जाएंगे। सोमवार को भी 14 जगह पर पहली व दूसरी डोज लगाई जाएगी।

वहीं गुरुवार को जिले में 10 केंद्रों पर टीकाकरण का कार्य किया गया। जहां 454 को दूसरी डोज और 44 दूसरे चरण के फ्रंटलाइनर्स ने टीके लगवाए। दोनों के लिए लगभग 1 हजार लोगों को मैसेज भेजे गए थे। अब तक पहले चरण में कुल 6612 हेल्थ वर्करों का टीकाकरण किया जा चुका है।

इन जगहों पर हुआ टीकाकरण
गुरुवार को जिन सेंटरों पर टीकाकरण हुआ, उनमें यूपीएचसी कुतुबपुर, राजीव नगर, सेक्टर-4 हुडा डिस्पेंसरी, पीएचसी भाड़ावास, मसानी, धारूहेड़ा, फतेहपुरी, सीएचसी मीरपुर, एसडीएच कोसली व सिविल अस्पताल रेवाड़ी के अलावा पुष्पांजलि अस्पताल शामिल रहे।

जिले को-वैक्सीन की 8 हजार डोज मिली हैं
जिले को कोविशील्ड के बाद अब गुरुवार को को-वैक्सीन की 8 हजार डोज और मिली है। यह खेप भी गुड़गांव से लाई गई है। इसे सोमवार से शुरू होने वाले दूसरे चरण के फ्रंटलाइनर्स को लगाया जाएगा। फिलहाल को-वैक्सीन को कोल्ड चेन स्टोर में रखवा दिया गया है।

कोविन एप से ले सकते हैं वैक्सीनेशन का ई-सर्टिफिकेट, पहली डोज पर प्रोविजनल और दूसरी डोज लगने पर मिलेगा परमानेंट

विदेश यात्रा के दौरान जांच, वैक्सीनेशन का प्रमाण होगा सर्टिफिकेट

जिले में वैक्सीनेशन की दूसरी डाेज लगाने की शुरूआत हाे चुकी है। लेकिन ई-सर्टिफिकेट लेने में कम ही लोगों ने रूचि दिखाई है। जिला स्वास्थ्य विभाग ने 538 लोगों के ई-सर्टिफिकेट निकाले हैं। हालांकि यह सर्टिफिकेट खुद भी निकाल सकते हैं।

पहली डोज लगने के बाद प्रोविजनल और दूसरी डोज लगने के उपरांत परमानेंट ई-सर्टिफिकेट मिलता है। लाभार्थी काे दूसरी डाेज लगवाने के बाद वैक्सीनेशन सेंटर पर ही सर्टिफिकेट दिया जाएगा। अगर किसी कारण से वहां नहीं मिलता है ताे ई-सर्टिफिकेट भी प्राप्त कर सकते हैं।

स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार ई-सर्टिफिकेट हाेने से लाभार्थी जहां पर भी मांगते हैं, इसे दिखा सकते हैं। ई-सर्टिफिकेट विदेश जाने सहित अन्य मामलों में भी काम आएगा। साथ ही यह वैक्सीनेशन कराने का प्रमाण भी है। सर्टिफिकेट की हार्ड काॅपी साथ रखने की जरूरत नहीं है।

वैक्सीन लगवाने के बाद आधे घंटे तक जब चिकित्सा विभाग के ऑब्जरवेशन में रहते हैं उस दाैरान वैक्सीनेशन का मैसेज आता है। जिसमें लिंक दिया जाता है उसे क्लिक कर ई-सर्टिफिकेट ले सकते हैं। ऑब्जरवेशन रूम में कार्यरत अधिकारी से इसके बारे में जानकारी ले सकते हैं। पहली डाेज लगने के बाद प्रॉविजनल व दूसरा डाेज लगने के बाद परमानेंट सर्टिफिकेट मिलेगा।

इस तरह कर सकते हैं डाउनलोड
www.cowin.gov.in में जाकर co-win पर क्लिक करना हाेगा। इसके बाद वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट में रेफरेंस आईडी डालनी हाेगी जाे वैक्सीनेशन से पहले मोबाइल पर मिली हाेगी। आईडी डालते ही लाभार्थी का सर्टिफिकेट डाउनलोड हाे जाएगा। अगर किसी के रेफरेंस आईडी नहीं मिल रही हैं ताे स्वास्थ्य विभाग से संपर्क कर सकते हैं।

20% लाभार्थियों ने प्राप्त की ई-सर्टिफिकेट
जिले में लाभार्थियों ने ई-सर्टिफिकेट प्राप्त करने में अभी कम रूचि दिखाई है। केवल 20 फीसदी लोगों ने ही यह सर्टिफिकेट प्राप्त की है। जबकि जिले में अब तक 6612 लोगों का वैक्सीनेशन किया जा चुका है। स्वास्थ्य विभाग ने भी 538 लोगों को ई-सर्टिफिकेट प्रदान किए हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी सकारात्मक और संतुलित सोच द्वारा कुछ समय से चल रही परेशानियों का हल निकलेगा। आप एक नई ऊर्जा के साथ अपने कार्यों के प्रति ध्यान केंद्रित कर पाएंगे। अगर किसी कोर्ट केस संबंधी कार्यवाही चल र...

    और पढ़ें