• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Rewari
  • When The Parents Did Not Come To Meet The Parents In The Hostel, 2 Students Ran Away From Jhunjhunu, The Operator In Rewari Handed Them Over To The Police

प्रशिक्षण:हॉस्टल में अभिभावक मिलने नहीं आए तो दीवार फांद झुंझुनूं से भागे 2 छात्र, रेवाड़ी में परिचालक ने पुलिस के हवाले किए

रेवाड़ी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
परिजनों की मौजूदगी में बच्चों को समझाते पुलिस अधिकारी। - Dainik Bhaskar
परिजनों की मौजूदगी में बच्चों को समझाते पुलिस अधिकारी।
  • दिल्ली और नेपाल निवासी दो विद्यार्थी झुंझुनूं जिले के स्कूल में पढ़ते हैं, पुलिस ने परिजनों को सौंपा

अभिभावकों से दूरी कई बार बच्चों को परेशान कर देती है। ऐसा ही एक मामला आया जिसमें दिल्ली और नेपाल निवासी विद्यार्थियों को झुंझुनूं के हॉस्टल में दाखिल करा दिया लेकिन उनसे मिलने नहीं पहुंचे तो वह दीवार फांदकर भाग निकले। दोनों छात्र झुंझुनूं से रेवाड़ी के लिए बस में सवार हो गए। परिचालक को बच्चों पर शक हुआ तो रेवाड़ी बस स्टैंड की चौकी में दोनों बच्चों को पुलिस को सौंप दिया। तत्पश्चात पुलिस ने दोनों के परिजनों के साथ स्कूल संचालक को मौके पर बुलाकर आवश्यक हिदायत देते हुए सौंप दिया।

बारहवीं कक्षा में पढ़ते हैं दोनों छात्र

पुलिस ने बताया दिल्ली शाहदरा निवासी और नेपाल निवासी छात्र का परिवार भी दिल्ली में रहता है। दोनों के परिवारों ने इन्हें अच्छी पढ़ाई के लिए राजस्थान के जिला झुंझुनूं के रतनगढ़ स्थित एक स्कूल में बारहवीं कक्षा में दाखिल दिला दिया। स्कूल प्रबंधन की तरफ से दोनों बच्चों को हॉस्टल में रखा जा रहा था। बच्चे लगभग दो माह पहले ही स्कूल में आए थे।

पुलिस को छात्रों ने बताया कि अब दो-तीन पहले उनका हॉस्टल में रहने वाले छात्रों से झगड़ा हो गया था। इसके झगड़े में उनके एक साथी के साथ मारपीट की गई। इस बाबत उन्होंने इसकी शिकायत स्कूल प्रबंधन के साथ अपने माता-पिता को भी दी। माता-पिता की तरफ इस घटना के बाद भी जब उनसे मिलने के लिए कोई नहीं आया।

परिजनों द्वारा मिलने के लिए नहीं आने के कारण दोनों बच्चे हॉस्टल में परेशान हो उठे और गुरुवार सुबह करीब 2 बजे इन्होंने हॉस्टल की कुंडी तोड़कर दीवार फांदकर कूदकर फरार हो गए। सुबह दो बजे फरार होने के बाद दोनों साथी किसी तरह झुंझनूं बस स्टैंड तक पहुंच गए और यहां से फिर 5 बजे आने दिल्ली के लिए चलने वाली राजस्थान रोडवेज की बस में बैठ गए। उनके पास कुछ पैसे भी थे।

इस पर उन्होंने कहा कि दिल्ली जाएंगे तो कभी गुड़गांव जाने की बात कहने लगे। इसके बाद परिचालक ने इनको रेवाड़ी तक की टिकट बना दी। इसी बीच परिचालक बच्चों के पास पहुंचा और उनकी बातें सुनने लग गया। इस पर दोनों छात्र आपस में हॉस्टल से भागने और विवाद को लेकर बातचीत करते आ रहे थे। बस के रेवाड़ी पहुंचने पर परिचालक ने इसकी जानकारी पुलिस को दे दी।

पुलिस ने तत्प्श्चात दोनों बच्चों को अपने संरक्षण में ले लिया। पूछताछ के बाद उनके परिजनों के साथ स्कूल प्रबंधन को इसकी जानकारी दी। इसके बाद दिल्ली से उनके परिजन और इधर झुंझुनूं से स्कूल संचालक मौके पर पहुंचे। यहां पर पुलिस ने उनसे पूछताछ की बात तो बच्चों ने हॉस्टल में झगड़ा के बाद परिजनों के नहीं मिलने को भागने का कारण बताया। तत्पश्चात पुलिस ने दोनों को परिजनों को सौंप दिया।

खबरें और भी हैं...