विद्युत समस्या:सिरसा व कालांवाली में 10 एमएम बरसात के साथ आई आंधी से 4 से 9 घंटे तक बाधित रही बिजली

सिरसाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कालांवाली। बरसात के कारण गांव पक्का शहीदां में गिरी मकान की दीवार को दिखाते ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
कालांवाली। बरसात के कारण गांव पक्का शहीदां में गिरी मकान की दीवार को दिखाते ग्रामीण।
  • तापमान में आई 14 डिग्री की गिरावट से 13 लाख यूनिट कम हुई बिजली की खपत, क्षतिग्रस्त लाइनें ठीक करने में जुटे निगम कर्मचारी

जिले में बीते सोमवार रात्रि को चली तेज आंधी से टूट करीब 100 खंबों को निगम कर्मचारी दुरूस्त कर ही रहे थे कि मंगलवार अलसुबह आंधी के साथ आई बारिश ने उनकी मुश्किलें और बढ़ा दी। अलसुबह चली तेजी आंधी के साथ आई बारिश से क्षेत्र में बिजली गुल रहीं और तारे आपस में टकराने से लाइनों में फाल्ट पड़ने का सिलसिला जारी रहा।

हालांकि मंगलवार को निगम को पोल गिरने जैसी कोई शिकायत प्रर्याप्त नहीं हुई। लेकिन शहर के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी लाइन फाल्ट पड़ने से 4 से 9 घंटे तक बिजली गुल रही। निगम कर्मचारी फाल्टों को खोजकर उन्हें ठीक करने में लगे रहे।

वहीं जिला में 10 एमएम बारिश से तापमान दो दिन में करीब 14 डिग्री कम होने से लोगों ने राहत की सांस ली। चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय हिसार के कृषि मौसम विज्ञान विशेषज्ञ डॉ. मदन खीचड़ ने बताया कि 25 मई को भी मौसम परिवर्तनशील रहेंगा।

ओढां में सबसे कम 4 एमएम बारिश

जिला में मंगलवार अलसुबह हुई बारिश सबसे अधिक 10 एमएम सिरसा व कालांवाली के क्षेत्र में हुई। इसी के साथ पंजुआना में 5 एमएम, ओढ़ां में 4 एमएम, पंजुआना में 5 एमएम बारिश दर्ज की गई है।

नरमे व धान की सीधी बिजाई करने वालों को होगा फायदा

जिले में हुई बारिश से नरमे के छोटे पौधे तेजी से बढ़ने लगेंगे। वहीं धान सीधी बिजाई करने वाले किसानों को भी इस बारिश से फायदा होगा। बारिश से एक ओर यहां तापमान में गिरावट आने से अंकुरित होने वाली बीज जलने से बचेगें, वहीं बारिश के पानी से जमीन में अधिक समय तक नमी बनी रहेगी। जिससे किसान को फायदा होगा।

अब 65 से 68 लाख यूनिट प्रतिदिन खर्च हो रहीं

मई माह में तापमान 48 डिग्री तक पहुंचने पर जिला में करीब 80 लाख यूनिट बिजली की खपत हो रही थी। बारिश आने से तापमान में आई गिरावट के चलते अब 65 से 68 लाख यूनिट बिजली प्रतिदिन खर्च हो रही है। वहीं बारिश से मौसम में ठंडक आने से फाल्ट पड़ने के कारण लोग शिकायतें भी कम कर रहे है।

आंधी से किसान के खेत में टूटी सोलर प्लेट

गांव ढाणी रतन सिंह ने तेज हवाओं के कारण एक के किसान के खेत में लगी सोलर प्लेट टूट गई। किसान भूपेंद्र सिंह ने बताया कि बीते सोमवार को तेज हवाएं चलने से खेत में लगी सोलर प्लेट टूट कर बिखर गई। जिससे उसे काफी आर्थिक नुकसान झेलना पड़ रहा है। किसान ने सरकार से सोलर प्लेट के कोई नुकसान की भरपाई के लिए गुहार लगाई है।

कई इलाकों में बिजली आपूर्ति बाधित हुई थी, अब बहाल की गई

लाइनों के फाल्ट को भी कर्मचारी ठीक करने में जुटे है। वही बीते सोमवार को आई बारिश से करीब 100 पोल टूटे थे, जिसे दुरुस्त कर लाइनों को सुचारू रूप से चालू कर दिया गया है।'' -राजेंद्र सभरवाल, एसई बिजली निगम, सिरसा।

खबरें और भी हैं...