• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Sirsa
  • For 48 Hours, 212 Cleaning Workers Of NAP Did Not Pick Up The Broom, The Cleanliness System In The City Crumbling

डोर-टू-डोर अभियान:48 घंटों से नप के 212 सफाई कर्मियों ने नहीं उठाया झाड़ू, शहर में चरमराई सफाई व्यवस्था

सिरसाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 33 गाड़ियाें ने 31 वार्डों से डोर-टू-डोर उठाया कूड़ा, डंपिंग प्वाइंटों के आसपास रहा गंदगी का आलम

नप में तैनात 212 सफाई कर्मियों ने 48 घंटों से झाड़ू नहीं उठाया है। उनकी हड़ताल से सोमवार को शहर में लगातार दूसरे दिन साफ- सफाई काम ठप रहा। बाजारों व गली- मोहल्लों में हर तरफ कूड़ा बिखर गया। क्योंकि पहले दिन रविवार को सफाई कर्मी छुट्टी पर रहते हैं। जबकि सोमवार सुबह अपनी मांगों के समर्थन में धरना शुरू कर दिया है। 48 घंटों से सफाई व्यवस्था पूरी तरह चरमराई हुई है।

हालांकि नप प्रशासन की ओर से कूड़ा उठवाने की टेंडर प्रक्रिया के तहत एजेंसी की 33 गाड़ियां डोर टू डोर पहुंची। जिससे शहर के 31 वार्डों में सवा लाख घरों से कूड़ा एकत्रित किया गया। डंपिंग प्वाइंटों से कूड़े काे उठाया गया, मगर लोग उतरा कचरा वहीं फेंकते नजर आए।

कूड़े के ढेर नजर आए, जिससे बदबू का आलम हो गया है। जगह- जगह गंदगी के ढेर लगे हुए हैं। सार्वजनिक भवनों के सामने लगाए डस्टबिन कूड़े से भर गए हैं। सफाई कर्मी आज दूसरे दिन हड़ताल पर रहेंगे, लेकिन नप प्रशासन से कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं हो पाई है।

सड़कों पर बिखरा कचरा

सफाई कर्मियों की हड़ताल से कचरा सड़कों तक बिखर गया है। आने- जाने वाले लोगों काे गंदगी के मोहोल से गुजरना पड़ा है। वहीं नगर पालिका कर्मचारी संघ के इकाई प्रधान नरेश चौहान ने कहा कि मंगलवार को हड़ताल का दूसरा दिन है। अगर उनकी मांगे नहीं मानी गई तो कर्मचारी एकजुटता के साथ डटे हैं।

शहर से प्रतिदिन निकलता है करीब 95 टन कूड़ा

शहर के 31 वार्डों से प्रतिदिन 95 टन से ज्यादा कूड़ा निकलता है। जिसको उठवाने के लिए 33 गाड़ियां शहर के सभी वार्डों की गली- मोहल्लों में घूमती हैं। घरों से गिला- सूखा कूड़ा अलग- अलग एकत्रित किया गया । जिसको 12 ट्रालों, तीन ट्रालियों व 4 लोडरों के जरिये शहर में बनाए गए डंपिंग प्वाइंटों पर कूड़ा एकत्रित करके गांव बकरियांवाली स्थित कचरा निस्तारण प्लांट में पहुंचाया जाता है, लेकिन शहर को साफ सुथरा रखने के लिए नगरपरिषद में 58 कच्चे सहित 212 सफाई कर्मचारी तैनात हैं।

जिन्होंने पुरानी पेंशन बहाल की जाए, फायर विभाग को निकाय विभाग में शामिल किया जाए, सफाई, फायर व सीवर मैन कर्मचारियों व अन्य सभी तृतीय चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को ठेका प्रथा से मुक्त किया जाए, कच्चे कर्मचारियों को पक्का किया जाए, हरियाणा कौशल रोजगार निगम को भंग किया जाए सहित मांगों को लेकर दो दिवसीय हड़ताल शुरू की है।

खबरें और भी हैं...