क्राइम:सिर में गोली लगने से दड़बाकलां बिजलीघर में तैनात एसए की मौत

चौपटाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • भांजे ने दी थी जान से मारने की धमकी, परेशान रहता था वेदप्रकाश

गांव दड़बाकलां के बिजली घर में तैनात एक कर्मचारी ने गुरुवार की शाम को संदिघ्ध परिस्थियों में खुद के सिर में गोली मारकर सुसाइड कर लिया। शाम को दूसरे कर्मचारी आकर देखा तो कमरे का गेट बंद मिला। पीछे की खिड़की से देखा तो वह खून से लथपथ पड़ा था। कंधे के पास पिस्तौल थी।

पुलिस को सूचना दी गई । चौपटा थाना पुलिस मौके पर पहुंची और सीन ऑफ क्राइम की टीम को साथ लेकर घटनास्थल का मुआयना किया। फिलहाल पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए नागरिक अस्पताल में पहुंचाया है। शुक्रवार सुबह पोस्टमार्टम होगा।

गांव मानक दिवान निवासी वेदप्रकाश बिजली निगम में कॉन्ट्रैक्ट बेस पर एसए के पद पर तैनात है। उसकी ड्यूटी बिजली घर दड़बाकलां में थी। गुरुवार को वह अपने साथी को साथ लेकर सिरसा गया था। वहां से शॉपिंग करने के बाद दोपहर को वे दोनों बिजली घर आ गए और वेदप्रकाश रेस्ट करने लगा।

उसके बाद साथी कर्मचारी बोला मै घर जाता हूं, नाइट ड्यूटी वाला साथी आ जायेगा तब तक तुम यहाँ रहना। उसके जाने के बाद जब नाइट ड्यूटी के दूसरा कर्मचारी आया तो उसने देखा गेट बंद था। उसने खिड़की से देखा तो वेद खून से लथपथ पड़ा था। अंदर की कुंडी लगी हुई थी।

बिजली कर्मचारी वेदप्रकाश ने अपने पिस्तौल से ही खुद को गोली मारी है। वेदप्रकाश को उसके भांजे राकेश उर्फ काला खैरमपुरिया ने जान से मारने की धमकी दे रखी थी। एसपी का कहना है कि मामला सुसाइड का लग रहा है लेकिन फिर गहन जांच होगी।

परिवार को मिली हुई थी पुलिस सुरक्षा

वेद के परिवार को चौपटा थाना से पुलिस सुरक्षा भी मिली हुई थी। उसकी जान को खतरा देखकर पुलिस की ओर से उसे असले का लाइसेंस भी बनाकर दिया गया था। केश उर्फ काला खैरमपुरिया वेद का सगा भांजा है। उसने पहले भी अपने दूसरे मामा भाल सिंह के घर में आकर गोली मारी थी। हालांकि वह इलाज के बाद ठीक हो गया था।

उसके बाद परिवार को भी सुरक्षा दी हुई थी। इस घटना के बाद एक बार तो लगा कि किसी ने वेद को गोली मारी है। मगर हालात देखने बाद मामला क्लियर हुआ कि यह हत्या नही सुसाइड है। सूत्र बताते है कि वेद राकेश उर्फ काला खैरमपुरिया की ओर से धमकी दिए जाने के बाद तनाव में चल रहा था।

खबरें और भी हैं...