• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Sirsa
  • The Farmers Protested Against The Officials Of The Irrigation Department Who Came To Shorten The Moge In Sherawali Minor.

आक्रोश:शेरावाली माइनर में मोगे को छोटे करने आए सिंचाई विभाग के अधिकारियों का किसानों ने किया विरोध

चौपटाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चौपटा।अधिकारियों से बातचीत करते किसान व मौजूद भारी पुलिस बल - Dainik Bhaskar
चौपटा।अधिकारियों से बातचीत करते किसान व मौजूद भारी पुलिस बल

चौपटा क्षेत्र से गुजरने वाली शेरावाली माइनर पर सिंचाई के लिए लगाए गए मोगा का साइज छोटा करने के लिए आए सिंचाई विभाग के अधिकारियों को कैरांवाली, दड़बा कलां, नारायण खेड़ा,और अली मोहम्मद के किसानों का विरोध का सामना करना पड़ा। किसानों ने अधिकारियों को कहा कि अगर मोगे छोटे कर दिए गए तो उनके खेतों में पानी कम लगने लगेगा।

उधर सिंचाई विभाग के अधिकारियों का कहना है कि माइनर के टेल तक पानी पहुंचाने के लिए मोगों का साइज कम करना जरूरी है। किसानों के विरोध के चलते सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने नाथूसरी चौपटा थाना से पुलिस फोर्स को बुला लिया। दोपहर बाद सिंचाई विभाग के उच्च अधिकारियों से किसानों की बातचीत के बाद बुधवार को मोगे लगाने का कार्य शुरू करने पर सहमति बनी।

मंगलवार को सिरसा से नहराना डिवीजन से सिंचाई विभाग के अधिकारी एसडीओ हरदीप सिंह बेरवाल, जेई आवेश कुमार, संदीप कुमार और जेई विशाल की टीम ने नहराणा हेड से करीब 1 किलोमीटर आगे चलते ही कैरावाली गांव के पास शहर में सिंचाई के लिए मोगों के साईज छोटा करने का काम शुरू किया। इसकी भनक लगते ही गांव कैंरांवाली, दड़बा कलां, अली मोहम्मद और नारायण खेड़ा के सैकड़ों किसान नहर पर आ कर मोगे छोटे करने के लिए आए अधिकारियों का विरोध शुरू कर दिया।

इस दौरान अधिकारियों ने मौके की नजाकत को समझते हुए नाथूसरी चौपटा थाना से पुलिस फोर्स बुला ली जिसमें नाथुसरी चौपटा थाना प्रभारी राजा राम डूडी, कागदाना चौकी प्रभारी रमित, एएसआई मनीष कुमार सहित पुलिस टीम ने आकर किसानों को समझाना शुरू किया।

दो मोगों की खुदाई की गई लेकिन किसानों के विरोध के चलते अधिकारियों ने काम को रोक दिया। इसी दौरान युवा नेता गोकुल सेतिया ने भी किसानों के समर्थन में नहर पर आ कर सिंचाई विभाग के अधिकारियों से बातचीत की ।

नहराणा डिवीजन सिरसा के एसडीओ हरदीप ने बताया कि नियम के अनुसार मोगों का साइज ठीक किया जा रहा है। किसानों की उच्च अधिकारियों के साथ बातचीत के बाद सहमति बनी है बुधवार को मोगों का साइज ठीक करने का काम फिर शुरू किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...