• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Sirsa
  • The Teacher Class Will Have To Discharge The Responsibility Towards The Society By Bringing Awareness Among The Youth Narendra Singh

सात दिवसीय कार्यशाला:शिक्षक वर्ग को ही युवाओं में जागरूकता लाकर, समाज के प्रति जिम्मेदारी का निर्वहन करना होगा- नरेन्द्र सिंह

ओढ़ांएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • माता हरकी देवी महिला महाविद्यालय में चल रही सात दिवसीय कार्यशाला

माता हरकी देवी महिला महाविद्यालय में सात दिवसीय कार्यशाला के दूसरे दिन नरेंद्र सिंह बेनीवाल उद्यान विकास अधिकारी मांगेआना ने मुख्य वक्ता के रूप में शिरकत की। उन्होंने अपना वक्तव्य ‘आज हम कहां खड़े हैंं ?’ विषय पर केंद्रित रखा। उन्होंने रोंगटे खड़े कर देने वाले, परिपूर्ण एवं सारगर्भित संबोधन में कहा कि आज विश्व की परिस्थितियां बेहद विकराल रूप धारण कर चुकी हैं परंतु विडंबना यह है कि हम अभी तक इनके प्रति जागरूक नहीं हैं। वैश्विक स्तर पर जनसंख्या वृद्धि, बेरोजगारी, प्रदूषण, महंगाई आदि गंभीर मुद्दा बन चुकी हैं। पानी, हवा, धरा प्रदूषित हो चुके हैं। ओजोन परत में छेद हो चुका है। माफिया द्वारा अंधाधुंध जंगलों का कटाव किया जा रहा है, जिसकी वजह से धरती पर महज 19 फीसदी जंगल बचा है।

परंतु दुखद बात यह है कि कोई भी देश इसके प्रति अपनी गंभीर जिम्मेदारी नहीं निभा रहा। पेट्रोलियम, सोना, चांदी आदि पदार्थ 90 फीसदी तक मिलावटी होने के साथ दिन प्रतिदिन महंगाई आसमान छूते जा रही है। 80 प्रतिशत युवा वर्ग का नशा युक्त रुझान रूह कंपा देने वाला है। नरेंद्र सिंह एचडीओ ने आगे कहा कि इस भयंकर दौर में अध्यापक वर्ग को ही देश के कर्णधार युवा वर्ग मे जागरूकता फैलाकर समाज के प्रति जिम्मेदारी का निर्वहन करना होगा क्योंकि इस वक्त 90 करोड़ युवा आबादी है। 500 करोड़ वृक्षों के लगाए जाने की जरूरत है। हम कदम से कदम मिलाकर देश के पुनर्निर्माण में अपना योगदान डालने की कोशिश करें। भारत सोने की चिड़िया था परंतु मानव ने स्वार्थ वस भारतवर्ष रूपी सोने की चिड़िया के माथे पर कालिख पोत दी है। आज उस कालिख को हटाने का संकल्प लेने की जरूरत है ताकि भारत फिर सोने की चिड़िया बन सके। यह जिम्मेदारी देश के भविष्य का निर्माता अध्यापक वर्ग बखूबी निभा सकता है। इस अवसर पर महाविद्यालय के समूह प्रवक्ता गण उपस्थित रहें।

खबरें और भी हैं...