निर्देश:विजिलेंस ने दो वर्षों का सोलर लाइट और डस्टबिन खरीद का मांगा रिकॉर्ड

सिरसाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • खरीद में अनियमितता बरतने के आरोप के बाद कसा जा रहा शिकंजा

विकास एवं पंचायत विभाग द्वारा सोलर लाइट की खरीद में अनियमितता बरतने के आरोप में सस्पेंड किए गए बीडीपीओ पर अधिक शिकंजा कसे जाने की तैयारी की है। विभाग ने पिछले दो वर्षों के दौरान सोलर लाईट व डस्टबिन की खरीद का रिकाॅर्ड तलब किया गया है।

मामले की जांच का दायरा बढऩे पर आरोपियों की मुश्किल बढऩा तय माना जा रहा है। विकास एवं पंचायत विभाग के गुणवत्ता नियंत्रण एवं चौकसी सेल के अधीक्षण अभियंता की ओर से जिला के सभी बीडीपीओ कार्यालयों से पिछले दो वर्ष का रिकार्ड तलब किया है और यह रिकार्ड 27 मई तक पेश करने के निर्देश दिए है।

वर्णनीय है कि विकास एवं पंचायत विभाग के गुणवत्ता नियंत्रण एवं चौकसी सेल के अधीक्षण अभियंता द्वारा ही सोलर लाईट की खरीद में सिरसा जिला के चार बीडीपीओ पर प्रतिकूल टिप्पणी की गई थी। जांच रिपोर्ट के आधार पर ही पंचायत एवं विकास विभाग ने सिरसा जिला के चार बीडीपीओ (खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी) रवि कुमार सिरसा, ओमप्रकाश ओढां, अनिल कुमार रानियां व विवेक कुमार चौपटा को सस्पेंड करने के आदेश दिए थे। जिसमें से सिरसा के बीडीपीओ रवि कुमार व ओढां के बीडीपीओ ओमप्रकाश की 30 अप्रैल को रिटायरमेंट थी और रिटायरमेंट वाले ही दिन दोनों को सस्पेंड के आदेश प्राप्त हुए थे।

इसके साथ ही विभाग के हिसार में कार्यरत जेई दिनेश कुमार के अलावा अक्षय ऊर्जा विभाग सिरसा के सहायक परियोजना अधिकारी सुभाष कुमार को निलंबित कर एफआईआर दर्ज करवाने की अनुशंसा की गई थी। पुलिस द्वारा सभी आरोपियों के खिलाफ मामला भी दर्ज किया जा चुका है। अब पिछले दो वर्षों का रिकार्ड तलब किए जाने से शिकंजा अधिक कसे जाने के कयास लगाए जा रहे है।

खबरें और भी हैं...