पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

विवाहिता की मौत:पिता ने कहा-दहेज के लिए हत्या, पति बोला-छत पर उपला उठाते हाईटेंशन करंट लगा

गन्नौर2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पिता की शिकायत पर पति समेत तीन के खिलाफ मामला दर्ज

राजपुर में शादी के 3 साल बाद डेढ़ वर्षीय बच्ची की मां की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। बहू की मौत के बाद ससुराल पक्ष ने कॉल कर परिजनों को करंट से मौत होने की सूचना दी। बेटी के शव को देखकर मायके वालों ने दहेज हत्या का आरोप लगाकर रिपोर्ट लिखाई। परिजनों ने पति, सास व ससुर के खिलाफ हत्या का आरोप लगाते हुए निष्पक्ष जांच की मांग की है।

राजलू गढ़ी चौकी पुलिस ने घटना की सूचना मिलने के बाद सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया है। मामले को लेकर एफएसएल टीम ने भी जांच के लिए नमूने जुटाए हैं। पुलिस को दी शिकायत में नांगल खुर्द के बिजेंद्र ने बताया कि उसके पास तीन साल पहले उन्होंने अपनी लडक़ी श्वेता की शादी नीरज पुत्र दिलबाग के साथ की थी। इनके पास करीब डेढ़ वर्षीय बेटी योगिता भी है। आरोप है कि शादी होने के बाद से बेटी का दहेज के लिए प्रताडि़त किया जाता था, बेटा सरकारी जॉब पर होने पर कार की डिमांड की जाने लगी। कार न देने पर उसकी पति, सास व ससुर ने हत्या कर दी।

दिलबाग ने बताया कि उसका बेटा नीरज रेलवे नौकरी करता है। रविवार सुबह के समय श्वेता छत पर उपले लगाने गई थी। खड़ी हुई तो करंट लग गया। अस्पताल लेकर पहुंचे तो उसकी मौत हो गई। परिजनों को इस बारे में सूचित कर दिया था। उन्होंने बताया कि पुत्रवधू के मायके वालों ने दहेज हत्या का आरोप लगाया है वह निराधार है। न तो कभी कार की डिमांड की और न ही उसे घर से निकाला था।

विसरा रिपोर्ट आने के बाद होगा खुलासा: इंचार्ज

महिला के शरीर पर जला होने का निशान है। मायके वालों ने पति नीरज, सास शीला देवी व ससुर दिलबाग पर दहेज हत्या का आरोप लगाकर केस दर्ज कराया है। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है। विसरा रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के असली कारणों का पता चल सकेगा। -चांद सिंह, चौकी इंचार्ज, राजलू गढ़ी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कड़ी मेहनत और परीक्षा का समय है। परंतु आप अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में सफल रहेंगे। बुजुर्गों का स्नेह व आशीर्वाद आपके जीवन की सबसे बड़ी पूंजी रहेगी। परिवार की सुख-सुविधाओं के प्रति भी आपक...

और पढ़ें