अव्यवस्था:जीवानंद स्कूल की बिल्डिंग बच्चों को बैठाने लायक नहीं

गन्नौर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • विभाग ने कहा- स्कूल रहेगा बंद, बच्चों को ऑनलाइन पढ़ा सकते हैं शिक्षक

बायं गांव में जीवानंद मॉडर्न पब्लिक स्कूल की बिल्डिंग बच्चों के बैठने के लायक नहीं है। करीब दो सप्ताह पहले इस स्कूल की छत गिरने से तीसरी कक्षा के 25 बच्चे, शिक्षिका व मजदूर मलबे में दबकर घायल हो गए थे। हादसे को देखते हुए शिक्षा विभाग से जिलास्तरीय गठित 4 सदस्यीय टीम ने पिछले दिनों ही स्कूल का निरीक्षण किया था।

टीम ने अपनी रिपोर्ट में स्पष्ट कहा कि स्कूल प्रोविजनल मान्यता संबंधी नियम व शर्तें पूरी नहीं करता है। ऐसे में विभाग की ओर से स्कूल की प्रोविजनल मान्यता रद्द/वापस करने को लेकर उच्चाधिकारियों को रिपोर्ट बनाकर भेजी गई है। साथ ही स्कूल में आने वाले बच्चों की पढ़ाई प्रभावित न हो, इसके लिए उन्हें ऑनलाइन पढ़ाया जाएगा। पिछले माह 23 सितंबर को सरकारी छुट्टी होने के बावजूद भी नियमों को ताक पर रखकर बायं गांव में जीवानंद मॉडर्न पब्लिक स्कूल में बच्चों को बुलाया गया। स्कूल में बरसात होने के बाद कमरों की छत टपक रही थी।

स्कूल के बच्चों को पढ़ाएं ऑनलाइन

कार्यवाहक बीईओ सतपाल वर्मा ने बताया कि जीवानंद स्कूल में बच्चों के साथ हादसा होने के बाद विभाग की टीम ने निरीक्षण किया था, उन्होंने अपनी रिपोर्ट में स्कूल की बिल्डिंग को बच्चों की सुरक्षा के हित में नहीं बताया। इसकी रिपोर्ट भी निदेशालय में भेजी जा चुकी है। फिलहाल स्कूल की बिल्डिंग में बच्चों को नहीं बैठाया जाएगा। उन्होंने बताया कि स्कूल के बच्चों की पढ़ाई प्रभावित न हो, इसके लिए स्कूल के शिक्षक ऑनलाइन क्लास ले सकते हैं।

खबरें और भी हैं...