पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

खरीद-बिक्री:मंडी में हड़ताल के चलते 90 हजार क्विंटल गेहूं की नहीं हो सकी खरीद

गोहाना12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अनाज मंडी में खरीद नहीं होने पर किसानों ने भी किया रोष प्रकट
  • अनाज मंडी में गेटपास नहीं कटने पर किसानों ने किया हंगामा, बीडीपीओ ने किसानों को समझाया

नई अनाज मंडी में फसल के उठान की ऑनलाइन व्यवस्था के विरोध में आढ़तियों ने दूसरे दिन भी गेहूं की खरीद बंद रखी। मंडी में 2 दिन से खरीद बंद रहने से परिसर में हर तरफ गेहूं के ढेर लगे हुए हैं। मंडी परिसर में करीब 90 हजार क्विंटल गेहूं खरीद शुरू होने के इंतजार में पड़ा हुआ है। मंडी में खरीद नहीं होने से किसानों की समस्या बढ़ गई है। किसान अनाज को मंडी परिसर में डाल कर वापिस चले गए।

पक्का आढ़ती एसोसिएशन के प्रधान प्रदीप कुमार ने बताया कि मार्केट कमेटी मुख्यालय ने गेहूं की खरीद होने पर मंडी से उसके उठान को लेकर ऑनलाइन व्यवस्था लागू की है। इसके अंतर्गत खरीद होने के बाद आढ़ती को एजेंसी के पोर्टल पर उसकी जानकारी अपलोड करनी है। आढ़ती के द्वारा अपलोड की गई जानकारी के आधार पर ही एजेंसी फसल का उठान करवाएगी।

आढ़ती उठान की इस व्यवस्था से संतुष्ट नहीं हैं। ऑनलाइन उठान के विरोध में आढ़तियों ने बुधवार से हड़ताल शुरू कर दी थी। आढ़तियों ने अपनी हड़ताल गुरुवार को भी जारी रखी। आढ़तियाें ने मंडी में फसल की खरीद शुरू नहीं की। मंडी में फसल की खरीद नहीं होने के बावजूद भी आवक लगातार हो रही है। गुरुवार को मंडी में करीब 70 हजार क्विंटल गेहूं की आवक हुई।

अनाज मंडी में खरीद नहीं होने पर किसानों ने भी रोष प्रकट किया। किसान प्रदीप, कर्मवीर, राजेश, विक्रम, सुशील, राकेश का कहना है कि खेतों में फसल पक कर तैयार हो चुकी है। फसल की कटाई का कार्य मशीनों से करवाया जा रहा है। अधिकांश किसान कटाई के बाद फसल सीधे मंडी में लेकर आते हैं। किसानों के पास फसल को स्टोर करने की व्यवस्था नहीं है। ऐसे में मंडी में खरीद नहीं होने से उनकी परेशानी बढ़ गई है।

परिचित का पहले गेटपास काटने का आरोप

अनाज मंडी में हड़ताल के बावजूद भी किसान फसल लेकर आ रहे हैं। मंडी में फसल की आवक गेट पास के माध्यम से हो रही है। गुरुवार को गेट पास कटवाने के लिए किसानों की भीड़ एकत्रित हो गई। किसानों ने कर्मचारियों पर आरोप लगाया है कि वे परिचित को पहले गेट पास काट कर दे रहे हैं। इससे गुस्साए किसानों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। किसानों ने मार्केट कमेटी कार्यालय में पहुंचकर प्रदर्शन किया।

बीडीपीओ मनोज कौशल और तहसीलदार रोशन लाल ने अनाज मंडी में पहुंचकर किसानों को समझाया। किसानों ने अधिकारियों से गेट पास काउंटर पर पुलिस कर्मियों की ड्यूटी लगवाने की मांग की। उन्होंने किसानों को कमेटी अधिकारियों से उनकी समस्या का समाधान करवाने का आश्वासन दिया।

अनाज मंडी आढ़तियों ने गिनाई दिक्कतें

मंडी से किसान की फसल की सफाई करवाकर खरीद होती है। उसकी भराई करवाकर गोदाम में भेजते हैं। काफी मात्रा में बेहतर सफाई या गुणवत्ता का हवाला देकर गेहूं एफसीआई गोदाम से वापस भेजा जा रहा है। इससे 18 रुपए प्रति बैग के खर्च का नुकसान आढ़ती को हाे रहा है। एफसीआई गोदाम में 6 रुपए प्रति बैग छंटाई तक देनी पड़ रही है।

अन्य एजेंसी ने आढ़त तय की है लेकिन एफसीआई की तरफ से अभी भी लिखित में आढ़त तय नहीं की है कि कितनी मिलेगी। सोनीपत मंडी में दो दिन एफसीआई की और चार दिन हैफेड की खरीद है। किसान के खाते में सीधे पेमेंट हो रही है। फसल की सफाई, उतरवाई खर्च आढ़ती किसान से नकद कैसे ले सकता है। यह दिक्कत है।

किसानों ने की पेयजल की व्यवस्था करने की मांग : नई अनाज मंडी में किसानों ने बीडीपीओ मनोज कौशल से पेयजल की व्यवस्था करवाने की मांग की। किसानों का कहना है कि अनाज मंडी में किसान गेट पास कटवाने के लिए घंटों लाइन में खड़े रहते हैं। जहां गेट पास काटे जा रहे हैं उसके नजदीक पेयजल की व्यवस्था नहीं है। पानी पीने के लिए किसानों को दूर जाना पड़ता है।

मंडी में बारदाना या उठान की कोई दिक्कत नहीं है। खरीद हुए गेहूं का उठान लगातार करवाया जा रहा है। आढ़तियों ने प्रदेश स्तर पर हड़ताल की घोषणा की है। इससे खरीद प्रभावित हुई है। खरीद को भी जल्द दुरुस्त करने के प्रयास किए जाएंगे।
-जितेंद्र कुमार, सचिव, मार्केट कमेटी सोनीपत।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कहीं इन्वेस्टमेंट करने के लिए समय उत्तम है, लेकिन किसी अनुभवी व्यक्ति का मार्गदर्शन अवश्य लें। धार्मिक तथा आध्यात्मिक गतिविधियों में भी आपका विशेष योगदान रहेगा। किसी नजदीकी संबंधी द्वारा शुभ ...

    और पढ़ें