विरोध:निगम को 31 दिसंबर तक 322 गांवों मंे करने हैं मीटर बाहर, 194 कर चुके पूरे, 70 में काम जारी

गोहाना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कृषि कानूनों के चलते सेहरी में हुई 5 गांव की पंचायत में जगमग योजना पर लगाई रोक

कृषि कानूनों का चल रहा विरोध अब बिजली निगम के लिए भी मुश्किल खड़ी कर रहा है। म्हारा गांव जगमग योजना के तहत घरों से बाहर निकाले जा रहे बिजली मीटर कार्य का गांवों में विरोध शुरू हो गया है। मंगलवार को इस मसले को लेकर सेहरी गांव में 5 गांवों के लोगों की पंचायत हुई।

इसमें गांवों से कई-कई प्रतिनिधि शामिल हुए। फैसला लिया गया कि जब तक केंद्र सरकार कृषि कानूनों को वापस नहीं लेती तब तक गांवों बिजली मीटर बाहर नहीं लगने दिए जाएंगे। निगम ने 31 दिसंबर तक जिले के सभी गांवों को योजना में शामिल कर बाहर मीटर लगाने का टारगेट रखा है। 194 गांवों में बाहर मीटर लगाए जा चुके हैं।

सेहरी गांव में मीटर बाहर लगाने का कार्य इन दिनों चल रहा है। काम करने आए बिजली निगम के कर्मचारियों को भी उन्होंने काम न करने के लिए कह दिया गया। गांव में हुई पंचायत में पांच गांवों में भदाना, बिधलान, निरथान, नकलोई, सेहरी शामिल रहे। पंचायत में प्रतिनिधि के रूप में भदाना गांव से धर्मबीर, कृष्ण व भोपाल शामिल हुए।

बिधलान से राजेश, राजेंद्र, राजू, आजाद, निरथान से सुभाष व आनंद, नकलोई से जय सिंह, देवेंद्र, दिलावर व सेहरी गांव से बलबीर प्रधान, राजू, धर्मबीर सतबीर पंचायत में मौजूद रहे। पंचायत में फैसला लिया गया है कि पांचों गांवों में बिजली निगम द्वारा जगमग योजना के तहत कोई भी काम नहीं करने दिया जाएगा, शांतिपूर्वक ढंग से उन्हें मना किया जाएगा।

बिजली की बेहतर सुविधा देने का प्रयास : एसई

म्हारा गांव जगमग योजना को दिसंबर तक पूरा करने का लक्ष्य है। 24 घंटे गांवों मंे बिजली देंगे। इस पर काम तेजी से चल रहा है। अगर कहीं विरोध की बात सामने आ रही है तो ग्रामीणों से मिलकर समाधान निकालेंगे। -संदीप जैन, एसई, बिजली निगम सोनीपत।

योजना के तहत 141 फीडर लिए गए

म्हारा गांव जगमग योजना को तेजी से बिजली निगम जिले में लागू कर रहा है। इसके तहत घरों से बाहर मीटर लगाए जा रहे हैं। बिजली निगम का दावा है कि जहां घरों से बाहर मीटर निकल चुके और लाइन लोस ना के बराबर व बिल रिकवरी बेहतर है तो 24 घंटे बिजली सप्लाई दी जाएगी।

योजना के तहत 141 फीडर लिए गए हैं। करीब 322 गांव इसमें शामिल हैं। 81 फीडर पर काम पूरा हो चुका है। 194 गांव में बाहर मीटर किए जा चुके हैं। 32 फीडर पर काम शुरू हो चुका है। इसमें 70 गांवों में फिलहाल काम चल रहा है। 31 दिसंबर तक का लक्ष्य बिजली निगम ने निर्धारित किया है।

गन्नौर के गांव में भी हो चुका पहले विरोध

13 सितंबर काे गन्नौर क्षेत्र के किसानों ने रोष प्रदर्शन कर संयुक्त किसान मोर्चा हरियाणा के बैनर तले लघु सचिवालय पहुंचकर एसडीएम को ज्ञापन दिया था। किसान नेता वीरेंद्र पहल, रोहताश बैनीवाल, सत्यवान नरवाल, राजेंद्र, ओमसिंह कुराड़, जयभगवान मलिक, बलराज सिंह, सतीश आदि ने ज्ञापन में बताया कि खेतीबाड़ी के नए तीन कानूनों के विरोध में किसान कई माह से बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे है।

20% तक लाइन लॉस की दिक्कत

जिलेभर में बिजली निगम के 4 लाख 10 हजार 894 उपभोक्ता है। इन सभी द्वारा पूरे सर्कल में 19 लाख 57 हजार 14 किलोवाट का लोड सैंक्शन किया गया है। गर्मी सीजन में जिले में बिजली खपत 130 लाख यूनिट प्रति दिन तक हो जाती है। ओवरलोड सिस्टम में सुधार के प्रयास हो रहे हैं ताकि फाॅल्ट कम हो और बिजली चोरी का लाइन लॉस कम करने के लिए घरों से बाहर मीटर निकाले जा रहे हैं। 20 प्रतिशत तक लाइन लोस की दिक्कत रहती है।

खबरें और भी हैं...