स्वास्थ्य विभाग देगा प्रति अल्ट्रासाउंड करीब 350 रुपए:अल्ट्रासाउंड की नि:शुल्क सुविधा दिलाने को प्राइवेट सेंटर से अनुबंध करेगा विभाग

गोहाना3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नागरिक अस्पताल में बंद पड़ा अल्ट्रासाउंड केंद्र। - Dainik Bhaskar
नागरिक अस्पताल में बंद पड़ा अल्ट्रासाउंड केंद्र।

नागरिक अस्पताल में करीब छह माह से अल्ट्रासाउंड केंद्र में डॉक्टर का पद खाली पड़ा हुआ है। अल्ट्रासाउंड कराने के लिए मेडिकल कालेज, खानपुर कलां या फिर प्राइवेट लैब में जाते हैं। कोरोना संक्रमण फैलने पर अल्ट्रासाउंड मेडिकल कॉलेज भी जाते। मरीजों को शहर में निशुल्क अल्ट्रासाउंड की सुविधा मुहैया कराने के लिए प्राइवेट लैब के साथ स्वास्थ्य विभाग अनुबंध करेगा। इसके लिए प्राइवेट अल्ट्रासाउंड सेंटरों से आवेदन मांगें है। विभाग द्वारा प्रति अल्ट्रासाउंड करीब 350 देगा।

अस्पताल के अल्ट्रासाउंड सेंटर में कार्यरत डॉ.अश्विनी कुमार को लगाया हुआ था। उन पर सोनीपत अस्पताल में चालू मशीन को खराब बताने का आरोप था। इसकी जांच मुख्यालय स्तर पर चल रही थी। इस मामले में मुख्यालय ने जुलाई 2021 में सस्पेंड कर दिया था। अस्पताल में उनका दूसरा विकल्प नहीं था, इसलिए उनके जाने पर अल्ट्रासाउंड सेवाएं भी बाधित हो गई थी। अधिकारियों ने मुख्यालय से कई बार दूसरे डॉक्टर की नियुक्ति करने की मांग की, लेकिन डॉक्टर नहीं लगाया। अल्ट्रासाउंड सेवाएं बंद होने के कारण मरीजों को परेशानी झेलनी पड़ रही है। कोरोना संक्रमण बढ़ने के बाद परेशानी अधिक बढ़ गई हैं।

प्रतिदिन होते थे 35 से 40 अल्ट्रासाउंड
नागरिक अस्पताल में प्रतिदिन औसतन 200 से 250 मरीजों की ओपीडी हैं। इनमें महिलाओं की ओपीडी करीब 100 तक रहती हैं। गर्भवती महिलाओं का अल्ट्रासाउंड कराना होता है। वहीं, कई बार डिलीवरी से पहले भी डॉक्टर द्वारा महिला का अल्ट्रासाउंड कराया जाता है। अस्पताल में प्रतिदिन 35 से 40 मरीजों के प्रतिदिन अल्ट्रासाउंड होते थे।

मरीजों से कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा, विभाग करेगा वहन
मरीजों को अल्ट्रासाउंड की सुविधा मुहैया कराने के लिए प्राइवेट सेंटर से अनुबंध किया जाएगा। अस्पताल से जो भी मरीज भेजा जाएगा, सेंटर द्वारा उससे कोई चार्ज नहीं लिया जाएग। विभाग द्वारा ही सेंटर को प्रति अल्ट्रासाउंड 350 रुपए दिए जाएंगे। अल्ट्रासाउंड सेंटरों से आवेदन मागें हैं। -डॉ. कर्मवीर, एसएमओ, गोहाना

खबरें और भी हैं...