नगर निकाय चुनाव कराने की तैयारी:चुनाव आयोग ने शहर के संवेदनशील व अति संवेदनशील बूथों की मांगी रिपोर्ट

गोहाना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नगर निकाय चुनाव कराने के लिए मतदाता सूची तैयार कर भेजी जा चुकी है

नगर निकाय चुनाव कराने के लिए आयोग ने तैयारियां शुरू कर दी है। आयोग की तरफ से चुनाव सामग्री भेजी जा चुकी है। आयोग ने जिला निर्वाचन अधिकारी से शहर के संवेदनशील व अति संवेदनशील बूथों की सूची, कर्मचारी व अधिकारियों की रिपोर्ट मांगी है। रिपोर्ट जल्द से जल्द भेजने के लिए कहा है। गोहाना नगर पार्षदों का कार्यकाल 14 जून को पूरा हो गया है। कोरोना की दूसरी लहर आने से पहले मतदाता सूची तैयार करने का कार्य शुरू कर दिया था। लेकिन संक्रमण फैलने के कारण मतदाता सूची तैयार करने का कार्य भी आगे बढ़ा दिया था। चेयरमैन पद के लिए निकाले गए ड्रा पर विवाद हो गया। इसका निपटारा होने के बाद चुनाव आयोग ने चुनाव कराने की तैयारियां शुरू कर दी है। माना जा रहा है कि जनवरी में नई मतदाता सूची प्रकाशित की जाएगी। उसके आधार पर ही चुनाव कराएं जाएंगे। चुनाव आयोग भी चुनाव कराने से पहले की सभी औपचारिकताएं पूरी कर रहा है। पिछले दिनों ही आयोग द्वारा ईवीएम और चुनाव सामग्री भी भेज दी थी। कार्यकाल पूरा होने के छह माह के अंदर ही चुनाव कराने होते हैं। नगर पार्षदों का कार्यकाल जून माह में पूरा हुआ था। इस हिसाब से दिसंबर माह तक चुनाव कराए जाने थे, लेकिन कोई न कोई पेंच फंसने के कारण चुनाव आयोग भी चुनाव शैड्यूल जारी नहीं कर रहा। इसे देख चेयरमैन व पार्षद पद के संभावित उम्मीदवार भी शांत बैठे हुए हैं।

भाजपा ने 10 कार्यकर्ताओं का पैनल तैयार कर भेजा
चेयरमैन पद सामान्य वर्ग में ओपन है। पहली बार इसका सीधा चुनाव होगा। इसलिए पार्टियों द्वारा उम्मीदवार को चुनाव मैदान में उतारा जाएगा। भाजपा के जिलाध्यक्ष तीर्थ राणा ने पिछले दिनों ही दस सदस्यों का पैनल बनाकर गोहाना के चुनाव सह प्रभारी को भेजा है। जिसमें निवर्तमान चेयरमैन रजनी विरमानी, अरूण बडौक, अंजू कालरा, डॉ.रमेश कश्यप, डॉ.ओमप्रकाश शर्मा, डॉ.योगेश अलमादी, कर्मवीर शर्मा, बलराम कौशिक, सूरजमल शर्मा, संदीप कौशिक के नाम शामिल है। वहीं, कांग्रेस से भी कई नेता स्वयं को भावी उम्मीदवार बताकर प्रचार कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...