पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

शिक्षा:महिला कॉलेज में परीक्षाएं शुरू, 29 छात्राएं रहीं गैरहाजिर

गोहाना8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • परीक्षा केंद्र में आने से पहले की गई थर्मल स्क्रीनिंग, परीक्षा केंद्र में भी रखा गया सोशल डिस्टेंस का ख्याल

राजकीय महिला कॉलेज में शनिवार को तृतीय वर्ष की छात्राओं की वार्षिक परीक्षाएं शुरू हो गई। पहले दिन परीक्षा में ऑफलाइन परीक्षा में 29 छात्राएं अनुपस्थित रही। शनिवार को हिंदी और अंग्रेजी विषय की परीक्षा हुई। परीक्षा केंद्र में आने से पहले सभी छात्राओं के हाथों को सैनिटाइज कर थर्मल स्क्रीनिंग की गई। शरीर का तापमान सामान्य होने पर ही छात्राओं को परीक्षा केंद्र में आने की अनुमति दी गई।

कोरोना महामारी के चलते उच्चतर शिक्षा विभाग ने प्रथम और द्वितीय वर्ष के विद्यार्थियों का अगली कक्षा में प्रमोट कर दिया है। विभाग के आदेशानुसार विवि द्वारा केवल अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों की परीक्षाएं ली जा रही हैं। परीक्षा शनिवार से शुरू हो गई। परीक्षा में शामिल होने के लिए महिला कॉलेज प्रशासन ने 717 छात्राओं को रोल नंबर जारी किए हुए हैं। इनमें से 661 छात्राओं ने कॉलेज में आकर ऑफलाइन माध्यम से परीक्षा देने का विकल्प चुना हुआ है।

परीक्षा केंद्र में छात्राओं की भीड़ नियंत्रित रखने के लिए दो सैशन में परीक्षाएं ली जा रही हैं। परीक्षा सुबह दस बजे और दोपहर बाद दो बजे शुरू हुई। दोनों ही सैशन में परीक्षा में शामिल होने के लिए छात्राओं को मास्क का प्रयोग करना अनिवार्य है। मास्क नहीं होने पर छात्रा को परीक्षा केंद्र में आने की अनुमति नहीं है। परीक्षा शुरू होने से पहले गेट पर कर्मचारी द्वारा छात्राओं के हाथ सैनिटाइज कर उनके शरीर का तापमान देखा गया। परीक्षा केंद्र के अंदर भी छात्राओं को सोशल डिस्टेंस बनाकर बैठाया हुआ था।

कॉलेज में परीक्षा के लिए तीन परीक्षा केंद्र बनाए हुए हैं। कॉलेज में परीक्षा के दौरान कोरोना संक्रमण से सुरक्षित रहने के लिए सोशल डिस्टेंस बनाए रखने के निर्देश दिए हुए हैं। शरीर का तापमान सामान्य होने पर ही छात्राओं को परीक्षा केंद्र में आने की अनुमति दी जाएगी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले कुछ समय से आप अपनी आंतरिक ऊर्जा को पहचानने के लिए जो प्रयास कर रहे हैं, उसकी वजह से आपके व्यक्तित्व व स्वभाव में सकारात्मक परिवर्तन आएंगे। दूसरों के दुख-दर्द व तकलीफ में उनकी सहायता के ...

और पढ़ें