बहुचर्चित राकेश हत्याकांड:पूर्व भाजपा नेता रविंद्र आंतिल को 20 साल कारावास की सजा

राई2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बड़ौली गांव के एक पशु चिकित्सक की हत्या कर शव गंगा नदी में फेंकने के आरोपी पूर्व भाजपा नेता रविंद्र आंतिल को मंगलवार को सेशन कोर्ट ने दोषी करार देते हुए 20 साल कारावास की सजा सुनाई। 28 हजार जुर्माना भी लगाया है। जुर्माना न देने की एवज में 6 महीने अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा। कोर्ट के इस फैसले से मृतक राकेश की पत्नी सुशीला देवी ने इसे न्याय की जीत बताया है। सुशीला ने कहा कि उसके पति को नशे की हालत में जिंदा गंगा नदी में फेंका था।

बड़ौली निवासी सुशीला देवी ने 8 जनवरी 2019 को आरोप लगाया था कि उसका पति राकेश कुमार 6 जनवरी को घर से 3 लाख रुपए व मेरे सर्टिफिकेट लेकर चंडीगढ़ के लिए निकला था। वह घर पर कहकर गया था कि उसे दोस्त रविंद्र आंतिल के साथ जाना है। इसके बाद से उसका पति घर नहीं आया। उसने अपनी सभी रिश्तेदारी में पता किया, लेकिन उसके पति का कोई सुराग नहीं लग रहा था। उसके पति का मोबाइल भी स्विच ऑफ था। उसे शक है कि उसके पति का रविंद्र आंतिल ने ही अपहरण किया है।

राई थाना पुलिस ने सुशीला की शिकायत पर रविंद्र आंतिल के खिलाफ मामला दर्ज किया था। पुलिस ने आरोपी पूर्व भाजपा नेता रविंद्र आंतिल को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो रविंद्र ने सच उगल दिया था। उसने बताया था वह अपहरण करने के बाद राकेश को हरिद्वार ले गया था। जहां किसी बात को लेकर उसका राकेश से झगड़ा हो गया था। उसने राकेश को चाय में नशीली गोलियां पिलाई थी। जब राकेश बेहोश हो गया तो उसे गंगा नदी में फेंक दिया था।

तीन धाराओं में अलग-अलग कारावास

पीड़ित पक्ष के वकील संदीप शर्मा ने बताया कि राकेश हत्याकांड के मामले सेशन कोर्ट में जज सुभाष मेहला की कोर्ट फैसला दिया है। इसमें हत्यारोपी रविंद्र आंतिल को तीन धाराओं में दोषी करार दिया है। धारा 302 में 20 साल कैद, धारा 420 में सात साल कैद और धारा 201 में तीन साल सजा सुनाई है। तीनों सजा एक साथ चलेंगी।

खबरें और भी हैं...