पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सीजन:गोहाना नई अनाज मंडी में 27 नवंबर तक होगी बाजरा की सरकारी खरीद

गोहाना11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

नई अनाज मंडी में बाजरा की सरकारी खरीद 27 नवंबर तक होगी। किसानों की मांग पर प्रशासनिक अधिकारियों ने यह निर्णय लिया है। डीसी ने पत्र जारी कर एजेंसी को बाजरा की खरीद शुरू करने के आदेश दिए हैं। मार्केट कमेटी अधिकारियों ने भी बाजरा की खरीद दोबारा शुरू होने को लेकर किसानों को सूचित करना शुरू कर दिया है।

अनाज मंडी में बाजरा की खरीद हैफेड एजेंसी द्वारा की जा रही थी। एजेंसी का बाजरा की खरीद को लेकर 15 नवंबर को टारगेट पूरा हो गया। टारगेट पूरा होने पर एजेंसी ने खरीद बंद कर दी। एजेंसी ने करीब 64373 क्विंटल बाजरा की खरीद की है। एजेंसी द्वारा अनाज मंडी और खरीद केंद्रों पर केवल पंजीकृत किसानों से ही बाजरा की खरीद की है।

अधिकारियों के अनुसार क्षेत्र कई किसान अभी भी बाजरा की फसल बेचने से वंचित रह गए हैं। किसानों द्वारा अधिकारियों से बार-बार बाजरा की सरकारी खरीद दोबारा से शुरू करवाने की मांग की जा रही थी। किसानों की मांग पर जिला प्रशासन ने पत्र जारी कर एजेंसी को दोबारा से बाजरा की खरीद शुरू करने के आदेश दिए हैं।

14.32 लाख क्विंटल धान की हुई आवक

अनाज मंडी में धान की आवक बीते वर्ष की अपेक्षा अधिक है। बीते वर्ष मंडी में 906881 क्विंटल धान की आवक हुई थी। जबकि इस बार 14.32 लाख क्विंटल धान की आवक हो चुकी है। मंडी में इस बार पीआर धान का आंकड़ा भी 1.30 लाख क्विंटल पहुंच गया है। जबकि बीते वर्ष मंडी में मात्र 37883 क्विंटल पीआर धान की आवक हुई थी। इसके अतिरिक्त मंडी में 47892 क्विंटल कपास की भी आवक हो चुकी है।

किसानों को किया जा रहा है सूचित

प्रशासन ने मंडी में बाजरा की सरकारी खरीद शुरू करने को लेकर पत्र जारी किया है। फसल की खरीद हैफेड एजेंसी करेगी। खरीद शुरू होने को लेकर क्षेत्र के किसानों को भी सूचित किया जा रहा है। जगजीत काद्यान, सचिव, मार्केट कमेटी, गोहाना

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले रुके हुए और अटके हुए काम पूरा करने का उत्तम समय है। चतुराई और विवेक से काम लेना स्थितियों को आपके पक्ष में करेगा। साथ ही संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी चिंता का भी निवारण होगा...

और पढ़ें