पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अब मिलेगा बेहतर इलाज:एक हजार एलपीएस के प्लांट से सामान्य 100 बेड या आईसीयू के 25 बेड पर भर्ती मरीजों की ऑक्सीजन मांग की होगी पूर्ति

गोहाना23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गोहाना. मेडिकल कॉलेज में लगाय जा रहा ऑक्सीजन प्लांट। - Dainik Bhaskar
गोहाना. मेडिकल कॉलेज में लगाय जा रहा ऑक्सीजन प्लांट।
  • ऑक्सीजन प्लांट के उपकरण मेडिकल कॉलेज पहुंचे, सोमवार तक चालू होने की उम्मीद

मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन मांग को पूरा करने के लिए एक हजार एलपीएस क्षमता का प्लांट सोमवार तक चालू होने की उम्मीद है। प्लांट शुरू करने के लिए अहमदाबाद से उपकरण शनिवार को पहुंच गए। इंजीनियरों द्वारा उपकरणों को जोड़ने का शुरू कर दिया है। प्लांट में हवा से ऑक्सीजन तैयार की जाएगी। इस ऑक्सीजन से सामान्य 100 बेड या फिर से आईसीयू के 25 बेड के मरीजों की मांग को पूरा किया जा सकेगा।

मेडिकल कॉलेज को तीसरी लहर के लिए तैयार किया जा रहा है। हवा से ऑक्सीजन बनाने वाले दो प्लांट लगाने का कार्य चल रहा है। सीएसआर फंड से लगने वाले प्लांट के लिए उपकरण कॉलेज में पहुंच चुके हैं। उपकरण को स्थापित करके पाइप लाइन से जोड़ने का कार्य शुरू करा दिया है। दूसरा प्लांट डीआरडीओ द्वारा लगवाया जा रहा है।

दोनों ही प्लांट की क्षमता एक-एक हजार एलपीएम की है। प्लांट के चालू होने के बाद कॉलेज में जिस वार्ड में ऑक्सीजन की सप्लाई नहीं हैं, वहां पर भी ऑक्सीजन पहुंच जाएगी। ऑक्सीजन बेड की संख्या बढ़ने पर तीसरी लहर में ऑक्सीजन बैड के लिए मारामारी नहीं होगी।

प्लांट के उपकरण कॉलेज में पहुंच गए हैं। स्थापित करने का कार्य भी शुरू करा दिया है। उम्मीद है कि सोमवार तक उपकरण जोड़ने का कार्य पूरा हो जाएगा। दूसरे प्लांट का कार्य भी शुरू करा दिया है। प्लांट चालू होने के बाद उन वार्डों में भी ऑक्सीजन की सप्लाई शुरू होगी, जहां पर ऑक्सीजन की सप्लाई नहीं है। डॉ. राजीव महेंद्रु, डायरेक्टर, मेडिकल कॉलेज, खानपुर कलां।

200 बेड पर ऑक्सीजन पहुंचाने का कार्य शुरू

कॉलेज में करीब 200 बेड पर ऑक्सीजन नहीं है। इन बैड पर ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए पाइप लाइन बिछाने का कार्य शुरू करा दिया है। एजेंसी ने पाइप लाइन बिछाने के लिए प्वाइंट निर्धारित कर दिए हैं। पाइप मंगाने के लिए कंपनी को ऑर्डर दिया हुआ है। अधिकारी का कहना है कि पाइप पहुंचने से पहले अन्य कार्य पूरा कराया जा रहा है, ताकि पाइप पहुंचने ही लगाने का कार्य शुरू कर दिया जाए।

पाइप लाइन बिछाने के बाद कॉलेज के सभी 500 बेड आक्सीजन के हो जाएंगे। गौरतलब है कि कॉलेज के 300 बेड पर पहले ही ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए पाइप लाइन बिछाई हुई हैं। इनके अलावा करीब 50 बैड आईसीयू में है।

दो मई को सीएम ने की थी घोषणा : दो मई को सीएम मनोहर लाल ने मेडिकल कॉलेज खानपुर कलां का दौरा किया था। उस दौरान अधिकारियों से चर्चा करने के बाद कॉलेज में पीएसए प्लांट लगाने की घोषणा की थी। प्लांट लगवाने की जिम्मेदारी जिला उपायुक्त को सौंपी थी, ताकि प्लांट लगाने में कोई भी बाधा नहीं आए। अधिकारी भी प्लांट का उद्घाटन सीएम से कराना चाहते हैं। क्योंकि सीएम के आदेशों पर ही प्लांट स्थापित कराया गया है।

खबरें और भी हैं...