ठंड में बढ़ने लगी बिजली चारी:बड़े स्तर पर छापामार कार्रवाई के लिए गठित की 32 टीम, सभी सब डिवीजन में दाे टीमें करेंगी काम

सोनीपत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • गोहाना में सामने आई बिजली चोरी की घटना के बाद निगम के अधिकारियों ने उठाया कदम

गर्मी पड़े या फिर ठंड बढ़े। दोनों ही दशा में बिजली चोरी के मामले में वृद्धि हो जाती है। लोग ठंड से बचने के लिए इन दिनों घरों में हीटर, गीजर और ब्लाेअर लगाकर चोरी की बिजली फूंक रहे हैं। इस बीच बिजली चाेरी भी बढ़ रही है। लाइनलाॅस 18 प्रतिशत के करीब चल रहा है। पिछले दिनों में यह 16 प्रतिशत तक आ गया था। इससे अाेवरलाेड अाैर बिजली कट से अन्य उपभाेक्ताअाें की दिक्कत बढ़ती है। हाल ही में गोहाना में की गई चैकिंग में बड़े पैमाने पर बिजली चोरी के मामले सामने आए हैं। अब बिजली निगम पूरे जिले में बड़े स्तर पर चैकिंग अभियान शुरू करेगा। सभी 15 सब डिवीजनों के एसडीओ को टीम गठित करने का निर्देश दिया है। सभी सब डिवीजन में दो टीमें काम करेंगी। कुल 32 टीम गठित की गई हैं। दो टीम एसई की देखरेख में पूरे मामले पर नजर रखेगी, ताकि कहीं पर कोई गड़बड़ी होने पर मामले को संभाला जा सके। जिलेभर में चार लाख से अधिक उपभोक्ताओं को फिलहाल 95 लाख यूनिट बिजली की आपूर्ति की जा रही है। बिजली निगम द्वारा बिजली चोरों पर कार्रवाई करते हुए पिछले दिनों 500 से अधिक बिजली चोरों को पकड़ा गया था। जिन पर निगम की टीम द्वारा पौने दाे करोड़ रुपए से अधिक का जुर्माना किया गया था।

कार्रवाई : इस वित्त वर्ष 2733 बिजली चोर पकड़े गए

बिजली निगम द्वारा छापामार कार्रवाई जिलेभर में की जा रही है। नवंबर में की गई छापेमारी में छापामार टीम ने जिले भर में शाम तक 1619 कनेक्शनों को चेक किया था। जिसमें 137 बिजली चोरी पकड़ी गई जो 305 किलोवाट बिजली चोरी करते पकड़ा था। टीम ने तीन दिनों तक अभियान चलाकर 500 से अधिक को पकड़ा था। जिसके तहत पूरे सोनीपत सर्कल में इस वित्त वर्ष में 2733 बिजली चोरों को रंगे हाथ पकड़ा गया था। इन लोगों पर निगम की टीम द्वारा 811.28 लाख रुपए का भारी भरकम जुर्माना किया गया है। जिनसे टीम ने अब तक 423 लाख रुपए की रिकवरी की है। शेष 376 लाख रुपए की रिकवरी पेंडिंग है।

एसडीओ से लाइनमैन तक टीम में शामिल
बिजली निगम द्वारा जिलेभर में छापामार कार्रवाई की जाएगी। जिसके लिए सभी एसडीओ को जेई, फोर मैन, लाइनमैन और असिस्टेंट लाइनमैन की टीम बनाना होगा। इसके बाद मीटर रीडरों से ली गई लोकेशन और मदद के हिसाब से छापामार कार्रवाई की जाएगी। संदिग्ध सभी मीटरों की चैकिंग की जाएगी। पकड़े जाने वालों पर निगम द्वारा भारी जुर्माना लगाया जाएगा। इन दिनों जिले में करीब 18 प्रतिशत लाइनलॉस है।
बिजली चोरों को नहीं बख्शा जाएगा : एसई

बिजली निगम द्वारा उपभोक्ताओं को बेहतर सुविधा प्रदान करने के लिए कार्य किया जा रहा है। जिसके तहत बड़े पैमाने पर जिले में सुधार का कार्य किया जा रहा है। लेकिन बिजली चोरी भी की जा रही है। जिसे किसी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। चैकिंग अभियान में तेजी लाई जाएगी। किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा।

संदीप जैन, एसई बिजली निगम सोनीपत।

खबरें और भी हैं...