• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Sonipat
  • Adamant On Not Getting The Post mortem Done And Not Taking The Dead Body Till The Arrest, 24 hour Ultimatum In The Panchayat

रेसलर निशा दहिया और भाई सूरज की हत्या:मुख्य आरोपी कोच की पत्नी सुजाता और साला अमित गिरफ्तार, एक लाख के दोनों इनामी फरार

सोनीपत8 महीने पहले

रेसलर निशा दहिया और उसके भाई सूरज दहिया की हत्या के मामले में सोनीपत पुलिस की SIT ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। टीम ने रोहतक के डीघल रोड से मामले में मुख्य आरोपी पवन की पत्नी सुजाता और उसके भाई अमित को गिरफ्तार किया। SIT दोनों को लेकर सोनीपत पहुंच रही है। शुक्रवार दोपहर को उन्हें न्यायालय में पेश किया जाएगा।

पुलिस ने इस मामले में कुश्ती कोच पवन, उसकी पत्नी सुजाता, साले अमित और सचिन के खिलाफ केस दर्ज किया है। पवन और सचिन फरार हैं। एएसपी डॉ मयंक गुप्ता ने दोपहर में मीडिया से बातचीत में संकेत दिए थे कि पुलिस ने 2 आरोपियों को राउंडअप कर लिया है। अब शाम होते-होते सुजाता और अमित की गिरफ्तारी हो गई।

फरार कोच पवन की पत्नी सुजाता और उसका भाई अमित पुलिस गिरफ्त में।
फरार कोच पवन की पत्नी सुजाता और उसका भाई अमित पुलिस गिरफ्त में।

इससे पहले सोनीपत पुलिस ने आरोपी कोच पवन और सचिन पर एक लाख का इनाम घोषित किया। पंचायत ने भी एक पांच सदस्यीय कमेटी बनाई जो पूरे मामले पर नजर रखेगी। साथ ही गिरफ्तारी के लिए 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया। नागरिक अस्पताल में निशा और सूरज का पोस्टमार्टम के बाद शव परिवार को सौंप दिए गए। 2:20 बजे पोस्टमार्टम शुरू हुआ और करीब डेढ़ घंटे तक चला।

चार गोलियां लगीं निशा को, तीन सूरज को

सीनियर मेडिकल अफसर डॉ. जयभगवान ने बताया कि निशा को चार गोलियां लगी हैं, इनमें से दोनों बाजुओं में एक-एक और छाती में एक गोली लगी है। चौथी गोली उसके सिर में लगी थी, उसे ढूंढने के लिए दोबारा एक्स-रे भी करना पड़ा। सूरज को तीन गोलियां लगी हैं, इनमें एक गोली पीछे से मारी गई। दोनों का विसरा जांच के लिए भेजा गया है। शव लेकर CRPF के वाहनों में रखकर गांव पहुंचाए गए। इससे पहले दोनों शव नागरिक अस्पताल में रखवाए गए थे। CRPF अधिकारियों की टीम ने अस्पताल पहुंच कर मृतकों के बारे में जानकारी ली थी।

नागरिक अस्पताल में सीआरपीएफ के वाहन में शव रखते परिजन। पोस्टमार्टम के बाद जानकारी देते सीनियर मेडिकल अफसर डॉ. जयभगवान (इनसेट)।
नागरिक अस्पताल में सीआरपीएफ के वाहन में शव रखते परिजन। पोस्टमार्टम के बाद जानकारी देते सीनियर मेडिकल अफसर डॉ. जयभगवान (इनसेट)।

सुबह इस मामले में गांव वालों ने पंचायत कर गिरफ्तारी नहीं होने तक शव लेने से इनकार कर दिया और पोस्टमॉर्टम भी नहीं करवाने का फैसला लिया था। उन्होंने दो मांगें रखी थीं, इनमें 5 लाख का इनाम और 24 घंटे में आरोपी की गिरफ्तारी शामिल है। पुलिस ने आरोपियों पर एक लाख रुपए का इनाम घोषित किया था। उसके बाद ग्रामीण शांत हुए कमेटी गठित कर निगरानी रखने की बात कही। निशा के पिता दयानंद हवाई मार्ग से दिल्ली होकर गांव पहुंचे। वहीं, निशा दहिया के परिवार से अमित कुमार ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि आरोपी कोच का एनकाउंटर होना चाहिए।

अस्पताल से पोस्टमार्टम के बाद सीआरपीएफ के वाहन में शव ले जाते परिजन।
अस्पताल से पोस्टमार्टम के बाद सीआरपीएफ के वाहन में शव ले जाते परिजन।

ग्रामीणों में रोष, पंचायत जारी
रेसलर निशा दहिया, भाई सूरज की हत्या और उनकी मां को गोली मारने की वारदात से ग्रामीणों में जबर्दस्त रोष है। ग्रामीणों ने बुधवार रात एकेडमी में तोड़फोड़ के बाद आग लगा दी। गुरुवार सुबह पौने 9 बजे गांव की चौपाल में पंचायत शुरू हुई और दोपहर 12 बजे तक जारी थी।

पंचायत की अध्यक्षता दहिया चौबीसी प्रधान सुल्तान सिंह ने की। पंचायत में खरखौदा थाना प्रभारी कर्मजीत भी पहुंचे। वहीं रमेश नाहरा, कैप्टन फूल सिंह, राज सिंह, सरपंच जीवनी दैवी के पति कुलबीर सिंह, दीपक, राजेंद्र, कृष्ण, कप्तान सिंह आदि व्यक्ति भी शामिल हुए।

सोनीपत पुलिस की ओर से घोषित इनाम का पोस्टर।
सोनीपत पुलिस की ओर से घोषित इनाम का पोस्टर।

पंचायत बोली- भगोड़ों पर 5 लाख का इनाम रखो
गिरफ्तारी का अल्टीमेटम देने के साथ ही पंचायत ने फरार आरोपियों पर 5 लाख का इनाम घोषित करने और गांव से एकेडमी को हटाने की मांग की है। पंचायत में पहुंचे खरखौदा थाना प्रभारी कर्मजीत ने ग्रामीणों की मांगों को सुना और प्रशासन से बात करने के लिए पांच प्रमुख लोगों का नाम मांगा। SHO ने पंचायत में अपील की कि दोनों के शव का पोस्टमॉर्टम करा लें। दहिया चौबीसी प्रधान रमेश नाहरा ने कहा कि अभी इस बारे में पंचायत का फैसला नहीं हुआ है।

हत्याकांड के विरोध में हलालपुर में पंचायत करते ग्रामीण।
हत्याकांड के विरोध में हलालपुर में पंचायत करते ग्रामीण।

भाजपा विधायक पहुंचे
भाजपा राई के विधायक और जिला प्रधान मोहनलाल बड़ौली भी पंचायत में पहुंचे। उन्होंने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि सख्त कार्रवाई कराएंगे और आरोपी नहीं बचेंगे। फिलहाल पंचायत जारी है और कोई अंतिम निर्णय नहीं हुआ है। विधायक इसके बाद लौट गए।

सिविल अस्पताल में बढ़ाई गई सुरक्षा।
सिविल अस्पताल में बढ़ाई गई सुरक्षा।

CRPF के जवान पहुंचे देश की सेवा के लिए समर्पित दयानंद जम्मू-कश्मीर में अपनी ड्यूटी पर तैनात और सीमाओं की रक्षा में लगे थे। पीछे से उनकी बेटी पहलवान निशा और उसके बेटे सूरज की गोलियां मारकर बेरहमी से हत्या कर दी गई। अब सोनीपत के नागरिक अस्पताल में पहलवान निशा और उसके भाई की हत्या के बाद CRPF के अधिकारी पहुंचे हैं।

CRPF अधिकारी शमशेर सिंह ने बताया कि मृतक पहलवान निशा और उसके भाई सूरज की हत्या कर दी गई है। उनके पिता दयानंद जम्मू कश्मीर के पुलवामा शोपियां 178 बटालियन में इंस्पेक्टर के पद पर तैनात हैं और जैसे ही उन्हें वारदात की सूचना मिली, वे हवाई जहाज से दिल्ली होते हुए सोनीपत अपने गांव हलालपुर पहुंच चुके हैं। वे विभाग के दिशा-निर्देश अनुसार पोस्टमॉर्टम के लिए सरकारी अस्पताल पहुंचे हैं।

गांव में पहुंची CRPF टीम और पंचायत में मौजूद ग्रामीण।
गांव में पहुंची CRPF टीम और पंचायत में मौजूद ग्रामीण।

छेड़छाड़ का विरोध करने पर कुश्ती कोच ने मारी गोलियां

बता दें, सोनीपत जिले के हलालपुर गांव की कुश्ती एकेडमी में बुधवार को निशा दहिया और उसके छोटे भाई सूरज की हत्या कर दी गई। मां धनपति देवी भी गोली लगने से घायल हो गईं। मां धनपति के अनुसार, कुश्ती कोच पवन कुमार बेटी के साथ छेड़छाड़ करता था। जब निशा ने इसका विरोध किया तो पवन ने गोली मारकर उसकी हत्या कर दी।

आरोपी कोच अभी फरार है। वारदात से भड़के गांव वालों ने जमकर तोड़फोड़ करने के बाद एकेडमी को आग के हवाले कर दिया। निशा पर करीब डेढ़ महीने पहले भी फायरिंग हुई थी।

खबरें और भी हैं...