कुंडली बॉर्डर पर पंजाब के किसान की मौत:दो महीने पहले पटियाला जिले से आंदोलन में शामिल होने आया था, रात में अचानक बिगड़ी तबीयत

सोनीपत3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक किसान करनैल सिंह। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
मृतक किसान करनैल सिंह। (फाइल फोटो)

नए कृषि कानूनों के खिलाफ कुंडली बॉर्डर पर चल रहे आंदोलन में शामिल पंजाब के एक और किसान की गुरुवार सुबह मौत हो गई। किसान करनैल सिंह पटियाला का रहने वाला था और दो महीने से आंदोलन में शामिल था। मौत का कारण हार्ट अटैक बताया गया है। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो सकेगी।

सोनीपत जिले के कुंडली बॉर्डर पर तीन कृषि कानूनों को रद्द कराने की मांग को लेकर करीब 10 महीने से आंदोलन जारी है। आंदोलन में शामिल पंजाब के पटियाला जिले के गांव रेनो निवासी करनैल सिंह (61) की बुधवार रात को अचानक तबीयत बिगड़ने से मौत हो गई। शुरुआती जांच में मौत का कारण हार्ट अटैक बताया जा रहा है। पुलिस ने शव को सामान्य अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है। पंजाब के जिला पटियाला के गांव रेनो निवासी करनैल सिंह (61) कुंडली बॉर्डर पर जारी आंदोलन में शामिल होने आए थे।

दो माह से शामिल था आंदोलन में

करनैल सिंह दो माह से आंदोलन में शामिल थे। उनकी तीन-चार दिन से तबियत खराब थी। बुधवार रात को वे बेसुध हो गए। जब साथी किसानों ने उन्हें उठाने का प्रयास किया तो नहीं उठे। इस पर चिकित्सक को बुलाकर जांच कराई तो उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। मामले की सूचना कुंडली थाना पुलिस को दी गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर सामान्य अस्पताल में भिजवा दिया है। साथी किसानों का कहना है कि वे अविवाहित थे। पुलिस ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत के सही कारणों का पता लग सकेगा।