पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टीकाकरण:वैक्सीन न मिलने से अभियान पड़ा धीमा, नहीं मिली कोविशील्ड, 10 तक उम्मीद

सोनीपत20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • को-वैक्सीन की 2 हजार डोज मिली, दूसरी डोज के लिए कोविशील्ड नहीं

कोरोना महामारी को हराने के लिए वैक्सीन का कवच बेहद जरूरी है, लेकिन सोनीपत में तीन दिन से वेक्सीनेशन अभियान की रफ्तार धीमी पड़ गई है। एक जुलाई से 4 जुलाई तक औसतन हर दिन 7749 को वैक्सीनेशन किया गया। जबकि अब तीन दिन में 7799 को ही वैक्सीन लगी। कोविशील्ड वैक्सीन जिन बुजुर्गों को लगाई थी, उनका दूसरी डोज का समय आ चुका है।

जबकि स्वास्थ्य विभाग के पास कोविशील्ड नहीं है। बुधवार को 2 हजार को-वैक्सीन मिली : वैक्सीन की कमी बुधवार को भी दूर नहीं हुई। जिले को 2 हजार को-वैक्सीन ही मिली। कोविशील्ड का स्टॉक नहीं मिला। जबकि उम्मीद थी कि कोविशील्ड भी मिलेगी। गुरुवार को कोविशील्ड की दूसरी डोज लेने वालों को परेशानी हो सकती है।

बुधवार को वैक्सीनेशन हुआ

एक फ्रंट लाइन वर्कर को दूसरी डोज, 18 से 44 वर्ष के 582 लोगों को पहली व 323 को दूसरी डोज लगाई गई। 45 से 59 वर्ष के 159 को पहली डोज व 205 को दूसरी डोज लगाई गई। 60 वर्ष से ऊपर के 64 लोगों को पहली व 93 को दूसरी डोज लगाई गई।

10 जुलाई तक कोविशील्ड मिलने की उम्मीद

जिले में कोविशील्ड की डोज नहीं है। 10 जुलाई तक कोविड शील्ड मिलने की उम्मीद है। बुधवार को 2 हजार डोज को -वैक्सीन की मिली है। डॉ. नीरज यादव, जिला टीकाकरण अधिकारी।

कैंप 80 डोज लगने के बाद बंद हुआ

अस्पताल में वैक्सीन का फिर से टोटा हो गया है। बुधवार को आदर्श नगर में लगाए कैंप में केवल 80 डोज ही लग पाई। कोविशिल्ड वैक्सीन खत्म होने पर कैंप को बीच में ही बंद करना पड़ा। कैंपों के कारण शहर में अधिकारी करीब 80 प्रतिशत वैक्सीनेशन का लक्ष्य पूरा कर चुके हैं। वैक्सीन की कमी के कारण नागरिक अस्पताल द्वारा शहर जिन स्थानों पर कैंप लगाने की प्लानिंग की थी, उसे वैक्सीन की सप्लाई सुचारू होने तक स्थगित कर दिया है

खबरें और भी हैं...