उम्मीद की रोशनी:शहर के फ्लाईओवर और पुलों से छंटेगा अंधेरा, एलईडी से होंगे राेशन

सोनीपत8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • गोहाना रोड बाईपास और पुरखास रोड आरओबी पर लंबे समय से बगैर लाइट वाहनों के हो रहे आवागमन से मिलेगा छुटकारा

शहर के नव निर्मित रेलवे ओवर ब्रिज और फ्लाईओवर पर काफी समय से अंधेरा छाया है। वाहन चालक अंधेरे में आवागमन करने को विवश थे। धुंध के दिनों में हादसे भी हुए। हालांकि हादसों में किसी की जान नहीं गई, लेकिन कई लोगों को गंभीर चोटें आई।

वाहन चालकों ने पीडब्ल्यूडी और एनएचएआई के ऑनलाइन पोर्टल पर शिकायतें दर्ज करना शुरू कर दिया। जिसके बाद विभागों द्वारा सभी ब्रिज और फ्लाईओवरों पर लाइट के पाेल लगाने का कार्य शुरू किया गया है। इसके बाद इन पाेल पर एलईडी लाइटें लगाई जाएंगी। यह एलईडी लाइटें हाई मास्ट लाइटों के सरीखे होंगी। जिससे करीब 500 मीटर का रेडियस रौशन होगा। आरओबी पर अंधेरा होने संबंधित खबर दैनिक भास्कर ने प्रकाशित भी किया था।

नेशनल हाइवे अथॉरिटी इंडिया द्वारा नेशनल हाइवे-44 का निर्माण कार्य किया जा रहा है। हाइवे काे 8 लेन में विकसित किया जा रहा है। जिसका काम तेज गति से चल रहा है। हालांकि किसानों के आंदोलन की वजह से यह कार्य प्रभावित हो रहा है।

निर्माता कंपनी द्वारा आंदोलन स्थल को छोड़कर अनय स्थानों पर कार्य किया जा रहा है। जिले में सबसे अधिक हादसे एनएच-44 पर ही होते हैं। जिसके मद्देनजर कुंडली से लेकर सोनीपत तक बनाए गए तीनों फ्लाईओवर पर लाइट लगाने का कार्य शुरू कर दिया गया है। एक महीने के अंदर यह सभी लाइटें जल जाएंगी।

उम्मीद की रोशनी, गोहाना रोड बाईपास

एनएचएआई द्वारा करनाल बाईपास से पानीपत तक रोड को 8 लेन बनाने का कार्य किया जा रहा है। कुंडली से बहालगढ़ तक तीन फ्लाईओवर लाइट का कार्य शुरू किया गया है। इन फ्लाईओवर की लंबाई करीब डेढ़ किमी है। जिन पर हाई मास्ट रोशनी आधारित एलईडी लाइटें लगाई जाएंगी। इससे जीटी रोड से हर मिनट गुजरने वाले सैकड़ों वाहन चालकों को अंधेरे से मुक्ति मिलेगी। जिससे हाइवे पर भी रफ्तार बढ़ेगी।

गोहाना रोड आरओबी पर शुरू हुआ कार्य

पीडब्ल्यूडी द्वारा सोनीपत-गोहाना-जींद रेल लाइन पर गोहाना रोड बाईपास पर इंडियन स्कूल के पास बनाए गए आरओबी अधिकारिक रूप से चालू नहीं हुआ है। लेकिन 10 हजार से अधिक वाहन प्रतिदिन यहां से गुजर रहे हैं। धुंध के दौरान यहां पर दृश्यता घटने के कारण हादसे भी हुए थे।

मामले में पीडब्ल्यूडी ने अतिशीघ्र ही ठेकेदार से लाइट लगाने के लिए कहा था। जिसके बाद ठेकेदार द्वारा एक किमी लंबे पुल पर करीब 42 खंभे एक लेन में लगाए जाएंगे। यानि की कुल करीब 84 स्ट्रीट लाइट के पाेल लगाए जाएंगे। जिस पर एलईडी लाइटें लगाई जाएंगी। यह कार्य एक महीने में पूरा किया जाएगा।

जल्द जला दी जाएंगी लाइटें

गोहाना रोड बाईपास के आरओबी पर स्ट्रीट लाइट लगाने के लिए ठेकेदार और संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया गया था। इसके तहत ही पोल लगाए जा रहे हैं। जल्द लाइटों को चालू किया जाएगा। पुल भी अधिकारिक रूप से जल्द ही वाहन चालकों के लिए खोला जाएगा। पंकज गौड़, एक्सईएन पीडब्ल्यूडी सोनीपत।

खबरें और भी हैं...