निहंगों की पेशी की मॉक ड्रिल:कोर्ट परिसर में पुलिस तैनात कर बर्बर हत्या मामले में पेशी की दी सूचना, बैन की मीडिया की एंट्री

सोनीपतएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सोनीपत कोर्ट परिसर में मॉक ड्रिल के दौरान तैनात पुलिस। - Dainik Bhaskar
सोनीपत कोर्ट परिसर में मॉक ड्रिल के दौरान तैनात पुलिस।

सोनीपत कोर्ट परिसर में शुक्रवार को बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर सूचना दी गई कि सिंघु बॉर्डर पर बर्बर हत्या के मामले में आरोपी निहंगों की पेशी है। पुलिस इस दौरान मुस्तैद दिखी और मीडिया की एंट्री बैन कर दी गई। हालांकि यह पेशी से एक दिन पहले रिहर्सल थी। बाद में मीडिया को भी बुलाया गया। शनिवार को हत्या के आरोपी निहंगों को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

सिंघु बॉर्डर पर गुरु ग्रन्थ साहिब की बेअदबी पर 15 अक्टूबर को तरनतारन के चीमा खुर्द निवासी लखबीर सिंह की बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। हत्याकांड में गिरफ्तार निहंग नारायण सिंह, सरबजीत सिंह, भगवंत सिंह और गोविंदप्रीत सिंह पुलिस रिमांड पर हैं। शनिवार को चारों को कोर्ट में पेश किया जाना है। इस केस में पहले दो बार कोर्ट में पेशी के दौरान बड़ी संख्या में मीडिया के आने से पुलिस असहज हो गई थी। इसलिए पुलिस ने सिंघु बॉर्डर के बर्बर हत्याकांड के आरोपियों को कोर्ट में पेश करने से एक दिन पहले ही तैयारी कर ली।

सुरक्षा व्यवस्था चेक करने के लिए क्रिएट किया सीन

अब शनिवार को फिर निहंगों की पेशी है। इसे लेकर शुक्रवार को कोर्ट परिसर में सुरक्षा व्यवस्था चेक करने के उद्देश्य से ऐसा सीन क्रिएट किया गया जैसे कि आज ही निहंगों की पेशी है। कोर्ट परिसर में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात रहा। परिसर में हर आने वाले से पूछताछ की गई कि किस काम से अंदर जा रहा है। मीडियाकर्मियों को भी इस दौरान कोर्ट परिसर के गेट पर रोक लिया गया। हालांकि इससे पहले मीडिया को भी गुमराह किया गया कि निहंगों की पेशी है।

निहंग पहुंचे, कोर्ट नहीं जाने दिया

निहंगों को कोर्ट में पेश करने के लिए हुई मॉक रिहर्सल की अगुवाई एएसपी उपासना ने की। पुलिस की कार्रवाई चल ही रही थी कि कुछ निहंग जीप में सवार होकर वहां पहुंच गए। पहले से ही अलर्ट पुलिस ने उन्हें कोर्ट परिसर में नहीं आने दिया और गेट से ही लौटा दिया। तैनात पुलिस कर्मी पूरे कोर्ट परिसर को घेरे थे। हर गेट पर पुलिस की छानबीन चल रही थी। बेवजह किसी को भी अंदर नहीं आने दिया गया। कर्मियों ने राहत की सांस तब ली, जबकि एएसपी उपासना के बताया कि आज तो मात्र रिहर्सल थी, पेशी कल है।

मीडिया पर लगाम की तैयारी

चारों निहंगों की पेशी को लेकर पुलिस की तैयारी इस तरफ इशारा कर रही है कि शनिवार को यहां मीडिया कर्मियों पर लगाम लग सकती है। शनिवार को कोर्ट बंद रहता है। ऐसे में निहंगों की पेशी कवर करने के लिए पत्रकार यहां मौजूद रहेंगे। पिछले रविवार को निहंग नारायण सिंह, भगवंत सिंह और गोविंदप्रीत की पेशी के दौरान पुलिस ने मॉड्यूल को पीछे ही रोक लिया था। हालांकि जज किमी सिंगला ने 2 पत्रकारों को कवरेज के लिए बुलाया। लेकिन पुलिस उन्हें भी रोकती दिखी। इससे पहले शनिवार को सरबजीत की पगड़ी भी गिर गई थी।

दूसरे निहंगों के आने का भी भय

हत्या आरोपी चार निहंगों की पेशी के दौरान कहीं कुंडली बॉर्डर से भी अन्य निहंग न पहुंच जाएं, इसका भय भी पुलिस को है। पिछली पेशी में भी कुछ निहंग कोर्ट परिसर में थे। आशंका है कि इस बार इनकी संख्या बढ़ न जाए। पुलिस इसको लेकर एक दिन पहले ही चिंता करती दिखी।