सुविधा / जून से दाैड़ेंगी रेलगाड़ियां, फ्लाइंग व जनशताब्दी में करा सकते हैं टिकट

From June, trains can be provided in trains, flying and Jan Shatabdi
X
From June, trains can be provided in trains, flying and Jan Shatabdi

  • साेनीपत रेलवे स्टेशन से प्रतिदिन 60 हजार यात्री करते हैं आवागमन, 200 ट्रेनाें का किया जाता है परिचालन

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 06:17 AM IST

सोनीपत. लॉकडाउन में रेलवे के इतिहास में पहले बार ऐसा हुआ है जब पूरी तरह से रेलवे का पहिया थमा है। देश की रीढ़ कही जाने वाली रेलवे काे भी बहाल करने की दिशा में प्रयास शुरू कर दिया गया है। रेलवे द्वारा दिल्ली-चंडीगढ़ रूट पर फिलहाल एक जून से दाे ट्रेनाें काे चलाने का निर्णय लिया गया है। जिसमें साेनीपत में रुकने वाली फ्लाइंग मेल और जनशताब्दी ट्रेन शामिल है।
रेलवे द्वारा साेनीपत रेलवे स्टेशन से प्रतिदिन करीब 200 ट्रेनाें काे चलाया जाता है। जिसमें बड़ी संख्या में एक्सप्रेस, मेल और लाेकल ट्रेनाें काे चलाया जाता है। जिससे साेनीपत से प्रतिदिन करीब 60 हजार यात्री आवागमन करते हैं। हालांकि लाॅकडाउन में सब कुछ बंद हाेने के कारण इन लाेगाें काे कहीं आने जाने की आवश्यकता नहीं महसूस हाे रही है। लंबी दूरी के यात्री आवागमन करना चाहते हैं। इसलिए रेलवे फिलहाल एक्सप्रेस ट्रेनाें काे ही चला रहा है। अभी पैसेंजर ट्रेनाें काे राेका गया है। 31 मई के बाद निर्णय हाेगा कि दिल्ली में काम शुरू हाेगा या नहीं। जिसके बाद लाेकल ट्रेनाें काे चलाया जा सकता है।

हर महीने करीब दाे कराेड़ की आमदनी

फ्लाइंग और जनशताब्दी चलाई जाएगी :

रेलवे द्वारा दिल्ली-चंडीगढ़ रूट पर फिलहाल एक जून से दाे ट्रेनाें काे चलाने का निर्णय लिया गया है। जिसमें साेनीपत में रुकने वाली फ्लाइंग मेल और जनशताब्दी ट्रेन शामिल है। हालांकि स्टेशन से इन ट्रेनाें के लिए काेई बुेकिंग नहीं हाे रही है। ऑनलाइन माेड फिलहाल टिकट के लिए सबसे उत्तम रास्ता है। अगर आपकाे ऑनलाइन माेड में परेशानी या दिक्कत हाे रही है ताे नरेला स्टेशन के काउंटराें पर बुकिंग कराया जा सकता है। साेनीपत में अभी काउंटर खाेलने काे लेकर किसी तरह का निर्णय नहीं लिया गया है। अधिकारियाें का कहना है कि एक जून से दाे ट्रेनाें में यात्री आवागम कर सकते हैं।

साेनीपत रेलवे स्टेशन से प्रतिदिन 60 हजार यात्री आवागमन करते हैं। जिसके लिए करीब 200 ट्रेनाें का परिचालन किया जाता है। इसके करीब 100 ट्रेनें साेनीपत रेलवे स्टेशन पर रुकती है। इसके अलावा काफी ट्रेन रन थ्रू निकल जाती है। रेलवे हर महीने स्टेशन से करीब दाे कराेड़ रुपए की अामदनी हाेती है। इसमें सबसे अहम कमई रेलवे काे मालगाड़ी से हाेती है। जिसमें यूरिया और सीमेंट की बड़ी खेप महीने में आती है। इसके अलावा रेलवे पार्किंग और अन्य स्त्राेत से भी कमाई करता है। स्टेशन काे ए ग्रेड और आदर्श स्टेशन का दर्जा भी मिला है।

24 मार्च से बंद है ट्रेनाें का परिचालन

: पीएम नरेंद्र माेदी ने 22 मार्च काे लाॅकडाउन की घाेषणा की थी। जिसके बाद 24 मार्च से रेलवे ने पूरे देश में ट्रेनांे काे बंद करने की घाेषणा की थी। तब से लेकर अाज तक किसी भी यात्री ट्रेन का परिचालन साेनीपत से नहीं हाे सका है। हालांकि अब लाॅकडाउन में ढील देने के बाद लाेग ट्रेनाें के परिचालन की मांग कर रहे हैं। लेकिन रेलवे द्वारा लाॅकडाउन काे पूरी तरह से सफल बनाने का प्रयास किया जा रहा है। 

^रेलवे द्वारा साेनीपत रेलवे स्टेशन से दाे ट्रेनाें काे चलाने का आदेश प्राप्त हुआ है। बुकिंग काउंटर के लिए अभी काेई आदेश प्राप्त नहीं हुआ है। अन्य ट्रेनाें काे लेकर काेई भी जानकारी नहीं दी गई है। फिलहाल फ्लाइंग और जनशताब्दी काे चलाया जा रहा है। इसके बाद जैसा आदेश मिलेगा काईरवाई की जाएगी। गजेंद्र सिंह, स्टेशन अधीक्षक साेनीपत रेलवे स्टेशन।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना