हरियाणा के 4 जिलों में सभी स्कूल फिर बंद:एयर पॉल्यूशन के चलते हरियाणा के 14 जिलों में निर्माण कार्य पर रोक, जनरेटर भी नहीं चलेंगे

सोनीपत7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के नई दिल्ली से लगते 4 जिलों- सोनीपत, गुरुग्राम, फरीदाबाद और झज्जर में पॉल्यूशन की वजह से हालात खराब होते जा रहे हैं। ऐसे में पर्यावरण विभाग ने अगले आदेश तक इन चारों जिलों में सारे स्कूल बंद कर दिए हैं। इन जिलों में सभी प्राइवेट और सरकारी स्कूल अगले आदेश तक बंद रहेंगे।

सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) में आते इन चारों जिलों में 14 नवंबर को भी स्कूल बंद करवाए थे, जिन्हें 5 दिन पहले ही दोबारा खोला गया। पर्यावरण विभाग ने स्कूलों के अलावा हरियाणा के 22 में से 14 जिलों में सभी तरह के निर्माण कार्यों पर भी रोक लगा दी है। साथ ही जनरेटर सेट भी नहीं चलाए जा सकेंगे।

दरअसल राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली और उससे लगते हरियाणा, उत्तरप्रदेश और राजस्थान के इलाकों में स्मॉग और एयर पॉल्यूशन की वजह से हालात बेहद खराब हो चुके हैं। बढ़ती ठंड के बीच हवा खराब होने से सांस लेना भी मुश्किल हो चुका है। सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के बावजूद हालात सुधर नहीं रहे। सुप्रीम कोर्ट ने 2 दिसंबर को ही स्कूल खोलने पर दिल्ली सरकार को फटकार लगाई थी। दिल्ली में पॉल्यूशन की वजह से बिगड़ते हालात पर सुप्रीम कोर्ट में चल रही सुनवाई के दौरान हरियाणा और यूपी सरकार भी पक्षकार हैं।

3 दिसंबर को आदेश पहुंचने तक खुल चुके थे स्कूल
पर्यावरण विभाग ने स्कूल बंद करने के यह आदेश 2 दिसंबर को ही जारी कर दिए थे, मगर शुक्रवार 3 दिसंबर की सुबह जब तक ये आदेश इन जिलों में पहुंचे, तब तक बच्चे स्कूल जा चुके थे। ऐसे में इन आदेशों को अब शनिवार 4 दिसंबर से लागू किया जाएगा। हालांकि सरकारी आदेश में यह स्पष्ट नहीं किया गया कि इन चारों जिलों में ऑनलाइन स्टडी को लेकर कोई क्लैरिटी नहीं दी गई।

14 जिलों में एयर क्वालिटी सुधारने के लिए 3 अलग-अलग आदेश
सुप्रीम कोर्ट के रुख को देखते हुए हरियाणा सरकार के पर्यावरण एवं मौसम विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव (ACS) ने 2 दिसंबर को ही प्रदेश के NCR में आते 14 जिलों में एयर क्वालिटी सुधारने के लिए तीन अलग-अलग आदेश जारी कर दिए। संबंधित जिलाें के डीसी और अन्य अधिकारियों को इन निर्देशों को सख्ती से लागू करने के लिए कहा गया है।

20 दिनों में स्कूल दूसरी बार बंद हरियाणा सरकार का पहला आदेश सोनीपत, गुरुग्राम, फरीदाबाद और झज्जर जिले में सभी स्कूल बंद करने को लेकर है। सरकार ने पत्र में कहा है कि दिल्ली से सटे इन चारों जिलों में अगले आदेश तक सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूल बंद रहेंगे। एयर पॉल्यूशन को लेकर पिछले 20 दिनों में यह दूसरा मौका है जब इन चारों जिलों में स्कूल बंद किए गए हैं। इससे पहले 14 नवंबर को 3 दिन के लिए चारों जिलों में स्कूल बंद किए गए और फिर उस अवधि को बढ़ा दिया गया। उसके बाद 29 नवंबर को ही इन जिलों में स्कूल खोले गए थे।

14 जिलों में निर्माण कार्यों पर रोक, कुछ छूट भी NCR में हरियाणा के 14 जिले आते हैं। इनमें सोनीपत, गुरुग्राम, फरीदाबाद, पलवल, रोहतक, झज्जर, भिवानी, जींद, पानीपत, करनाल, मेवात, रेवाड़ी, भिवानी और महेंद्रगढ़ शामिल है। हरियाणा सरकार के आदेश के मुताबिक इन 14 जिलों में सभी तरह की निर्माण गतिविधियों पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। सरकार ने संबंधित जिलों के डीसी को ये आदेश सख्ती से लागू कराने को कहा है।

हालांकि प्लंबिंग, इंटीरियर डेकोरेशन, बिजली फिटिंग और बढ़ईगीरी जैसे बिना प्रदूषण वाले काम पर यह रोक लागू नहीं होगी। इसके अलावा NCR और आसपास के क्षेत्र के लिए वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (CQM) की ओर से जिन गतिविधियों को चालू रखने की अनुमति दी गई है, उस पर भी यह आदेश लागू नहीं होंगे।

नई दिल्ली और उसके आसपास के इलाके में कई दिनों से एयर क्वालिटी बहुत खराब चल रही है।
नई दिल्ली और उसके आसपास के इलाके में कई दिनों से एयर क्वालिटी बहुत खराब चल रही है।

डीजल जनरेटर चलाने पर रोक
हरियाणा सरकार ने एयर पॉल्यूशन में सुधार होने तक एनसीआर में आते 14 जिलों में सभी तरह के डीजल जनरेटर सेट चलाने पर भी रोक लगा दी है। इसमें वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (CQM) की ओर से छूट दी गई। आपातकालीन गतिविधियों पर यह आदेश लागू नहीं होंगे।

निर्बाध बिजली सप्लाई के आदेश हरियाणा सरकार ने बिजली वितरण निगम को हरियाणा के NCR में आने वाले जिलों में निर्बाध बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए कहा है। इसके लिए सभी जरूरी कदम तत्काल उठाने को कहा गया है ताकि किसी उपभोक्ता को डीजल जनरेटर सेट चलाने की जरूरत ही न पड़े।

खबरें और भी हैं...