पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

72 खिलाड़ियों की नौकरी पर लटकी तलवार:खिलाड़ियों को नई खेल नीति अनुसार अपने ग्रेडेशन प्रमाण पत्र साैंपने के हैं निर्देश

सोनीपत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

खेल विभाग द्वारा सोनीपत में ग्रुप-डी में भर्ती किए गए 72 कर्मचारियों की नौकरी पर अब तलवार लटक रही है। आरोप है कि ग्रेडेशन अनुसार कुछ लोगों ने नियम विरूद्ध हाेकर नौकरी प्राप्त की। इस मामले में शिकायत के बाद अब खेल विभाग की ओर से जांच की जा रही है। इसके लिए वरिष्ठ प्रशिक्षकों की जांच कमेटी भी बनाई गई है। जिन खिलाड़ियों ने नई खेल नीति के तहत ग्रेडेशन नहीं है उनकी नौकरी पर तलवार लटक चुकी है। सोनीपत जिले में कुल 72 उम्मीदवार थे। खेल विभाग की ओर से जिला बैडमिंटन कोच प्रदीप पालीवाल, तलवारबाजी कोच सतेन्द्र, हॉकी कोच देवेन्द्र दहिया कुश्ती कोच राज सिंह छिक्कारा तथा वैकल्पिक तौर पर क्रिकेट कोच मनोज को शामिल कर उम्मीदवारों के प्रमाण पत्रों की जांच की जा रही है।

ग्रुप-डी में भर्ती हुए कई खिलाड़ियों के पास नहीं थे प्रमाण पत्र

इस बात को लेकर उलझा था मामला

सरकार की ओर से अप्रैल 2018 में ग्रुप-डी की भर्ती का विज्ञापन जारी किया गया था। 25 मई 2018 को खेल विभाग की ओर से डी ग्रेडेशन सर्टिफिकेट को लेकर नए निर्देश जारी कर दिए थे। युवाओं ने इस भर्ती के लिए 1993 की खेल नीति के अनुसार बने ग्रेडेशन सर्टिफिकेट लगा दिए थे। 31 जनवरी 2019 को युवाओं ने विभिन्न विभागों में जाॅइन कर लिया था। उसके बाद कुछ युवाओं ने नई खेल नीति को लेकर ग्रेडेशन सर्टिफिकेट ना बने होने का हवाला देकर सरकार के खिलाफ हाईकोर्ट में केस कर दिया था।

यह हुआ था बदलाव : खेल नीति 1993 के अनुसार अगर कोई भी खिलाड़ी राज्य या जिला स्तर पर होने वाली प्रतियोगिता में भाग लेता था तो उसका डी ग्रेड का सर्टिफिकेट खेल विभाग बनाकर देता था। 25 मई 2018 के नए निर्देशों के अनुसार अंडर-19 और सीनियर लेवल के खेलों में राज्य या जिला स्तर पर होने वाली प्रतियोगिता में पहला, दूसरा या तीसरा स्थान प्राप्त करने वालों का ही डी ग्रेड का ग्रेडेशन बनाया जाएगा।

‘खेल नीति के फेर में न जाए किसी की नौकरी’

राजीव गांधी खेल रत्न अवार्ड विजेता बजरंग पुनिया इस मुद्दे पर खिलाड़ियों के समर्थन में सामने आए हैं। उन्होंने कहा कि ग्रुप डी में लगे 1518 खिलाड़ियों को पहले सरकार ने रोजगार दिया अब नई पुरानी खेल नीति के फेर से नौकरी से निकाला जा रहा है, जो सही नहीं है। किसी को रोजगार देकर उसे वापस नहीं लिया जाना चाहिए।

निदेशालय करेगा फैसला : प्रशिक्षकों की ओर से रिपोर्ट बनाकर निदेशालय को भेजी जाएगी। जिसमें ग्रेडेशन अनुसार प्रशिक्षकों की स्थिति होगी। सोनीपत के विभिन्न विभागों में ग्रुप डी के तहत चयनित कर्मी अपनी सेवाएं दे रहे हैं। मौजूदा समय में सोनीपत में अभी कोई डीएसओ नहीं है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज समय कुछ मिला-जुला प्रभाव ला रहा है। पिछले कुछ समय से नजदीकी संबंधों के बीच चल रहे गिले-शिकवे दूर होंगे। आपकी मेहनत और प्रयास के सार्थक परिणाम सामने आएंगे। किसी धार्मिक स्थल पर जाने से आपको...

    और पढ़ें