पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दाे टेंडर देकर पूरी करवाई:2 साल में मुरथल राेड दुकानदारों को हुआ ‌10 कराेड़ का नुकसान

सोनीपत17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
उखड़े पड़े मुरथल रोड पर एक डेयरी संचालक द्वारा बांधी गई भैंसे। - Dainik Bhaskar
उखड़े पड़े मुरथल रोड पर एक डेयरी संचालक द्वारा बांधी गई भैंसे।
  • सीवरेज लाइन, अब पीडब्ल्यूडी से सड़क बनवाएगा नगर निगम
  • सीवर दबाने का कार्य पूरा, 3.5 कराेड़ से बनेगी सड़क
  • नवंबर 2017 में सीवर लाइन के काम का शुभारंभ किया गया था

पिछले दो साल में दस करोड़ से अधिक का कारोबारी नुकसान झेल चुके मुरथल रोड के कारोबारियों और आवागमन करने वाले लोगों के लिए राहत की खबर है। नगर निगम द्वारा यहां सीवर लाइन दबाने का कार्य पूरा कर लिया गया है। पीडब्ल्यूडी के माध्यम से अगले दो माह में यहां दोबारा सड़क निर्माण होगा।

इसके लिए नगर निगम ने करीब साढ़े तीन करोड़ रुपए पीडब्ल्यूडी को दिए हैं और टेंडर प्रक्रिया अमल में लाई गई है। अभी सड़क उखड़ी होने से एक तरफ आवागमन है और जाम लगता है। दूसरी तरफ शहर के इस प्रमुख स्टेट हाईवे पर भैंस तक बांधी जाने लगी हैं।

अधिकारियों के मुताबिक यह कार्य बरसाती सीजन से पूर्व कर लिया जाएगा। पीडब्ल्यूडी द्वारा मुरथल रोड स्थित सीएनजी पेट्रोल पंप से शुरू कर शहर की ओर सड़क निर्माण किया जाएगा। सोमवार को पीडब्ल्यूडी के अधिकारी नगर निगम के अधिकारियों से मिलेंगे और मौजूदा कार्य की समीक्षा भी करेंगे।

दुकानों का धंधा चौपट, बंधने लगी भैंस

शहर से जीटी रोड को जोड़ने वाली मुख्य सड़क दो साल से सीवर लाइन दबाने के लिए उखाड़ी हुई है। 300 से अधिक दुकानों, शोरूम, पेट्रोल पंप, बैंक्वेट हाल व होटल का धंधा यहां चौपट हुआ है। करीब दो साल में 10 करोड़ से ज्यादा का कारोबार प्रभावित हो चुका है। इसके कारण एक तरफ की सड़क पूरी तरह से खुदी है और दोनों ओर के वाहन एक ही लेन से गुजरते हैं।

इसकी वजह से दिनभर इस रोड पर जाम की स्थिति बनी रहती है। लंबे समय से उखड़ी सड़क पर डिवाइडर की ग्रिल पर पशु तक बांधे जाने लगे हैं। मुख्यमंत्री ने नवंबर 2017 में सीवर के काम का शुभारंभ किया था। इसको 18 महीने में पूरा किया जाना था। सांसद, विधायक व निगमायुक्त की लगातार चेतावनी के बावजूद काम में तेजी नहीं आ सकी।

स्ट्रीट लाइट की केबल कटी, रात को रहता है अंधेरा

स्थानीय निवासी मनोज सरोहा ने बताया कि मुरथल रोड पर सीवर लाइन दबाने के कार्य के दौरान स्ट्रीट लाइटों की केबल भी कट गई, जिसके चलते खोदाई वाले हिस्से की स्ट्रीट लाइटें बंद पड़ी हैं। कई बार निगम को शिकायत करने के बावजूद भी कोई समाधान नहीं किया गया है। आलम ये है कि अंधेरे में वाहन चलाना हादसे को दावत देने से कम नहीं है। यहां लंबे समय से गहरे गड्ढे खुदे पड़े हैं, लेकिन कंपनी की ओर से मुरथल रोड के साथ साथ बैरिकेडिग, रिफ्लेक्टर, डायवर्जन पट्ट, सूचना पट्ट तक नहीं।

डेढ़ साल से व्यापारियों का बढ़ गया नुकसान

करीब डेढ़ साल से ज्यादा समय तक मुरथल रोड पर काम अधूरा रहने के कारण यहां दुकानदारों से लेकर बैंक्विट हाल संचालकों का भी नुकसान हो रहा है। विक्रेता राज, विक्रम सिंह व अजय कुमार के अनुसार अभी हाल ही में आई बारिश में गड्‌ढों का कीचड़ दुकान तक घुस आया, इसमें ग्राहक आना ही बंद हो गए। एक तो लॉकडाउन की टेंशन उस पर यहां की बदहाल व्यवस्था के कारण मजबूरी में दुकानें की बंद करनी पड़ी।

सबसे पसंदीदा पॉइंट अब नहीं रहा फेवरेट

बैंक्विट हाल में प्रबंधक हेमंत हसीजा ने कहा कि मुरथल रोड के बैंक्विट हाल मुख्य हाईवे के रोड होने के कारण सभी के पसंदीदा रहे हैं, लेकिन अब गड्‌ढों के कारण लोगों ने इससे दूरी बना ली है। लगातार जाम एवं वाहन खड़ा होने की टेंशन ने लोगों को दूसरे आप्शन पर सोचने पर मजबूर कर दिया है। जिससे करीब 30 प्रतिशत ऑर्डर प्रभावित हो रहे हैं।

खबरें और भी हैं...