• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Sonipat
  • Musewala Massacre Sharp Shooter Manjeet Alias Bholu, Resident Of Garhi Sisana Sainipat. Villagers Shocked By The Announcement Of Punjab Police

फरार प्रियवर्त के फोन से फंसा बेस्ट फ्रेंड:मूसेवाला मर्डर में सोनीपत का गढ़ी सिसाना चर्चा में; शार्प शूटर भोलू यहीं का निवासी

सोनीपत4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में हरियाणा के सोनीपत के गढ़ी सिसाना के प्रियव्रत फौजी और अंकित सेरसा के बाद तीसरे युवक मंजीत उर्फ भोलू का नाम आने पर ग्रामीण स्तब्ध हैं, वहीं स्थानीय पुलिस भी उसके शार्प शूटर होने के पंजाब पुलिस के ऐलान पर हैरान है। फिलहाल की जांच में यही सामने आया है कि मंजीत की अपने गांव के कुख्यात गैंगस्टर प्रियव्रत गहरी दोस्ती है। हालांकि वह मूसेवाला की हत्या के दन 29 मई को अपने गांव में अपने खेत में काम कर रहा था। गैंगस्टर से फोन पर हुई बातचीत मे वह मूसेवाला हत्याकांड में पुलिस के निशाने पर आया है। चार साल पहले पुलिस ने उसे देशी पिस्तौल के साथ पकड़ा था। वह हत्या के एक केस में प्रियवर्त के साथ नामजद रहा है।

चर्चा में गांव गढ़ी सिसाना

सोनीपत के थाना खरखौदा के अंतर्गत आने वाले गांव गढ़ी सिसाना में हरियाणा और पंजाब पुलिस की आवाजाही इन दिनों कुछ ज्यादा ही है। मूसेवाला हत्याकांड में चार दिन पहले वारदात में प्रयुक्त बोलेरो में इस गांव का कुख्यात गैंगस्टर प्रियव्रत फौजी का सीसीटीवी फुटेज सामने आया था। पंजाब पुलिस की दाे टीमें तभी से उसकी गिरफ्तारी के लिए सोनीपत में हैं। इस मामले में ग्रामीणों को धक्का तब लगा जबकि सोमवार को पंजाब पुलिस ने मूसेवाला हत्याकांड के 8 शार्प शूटरों के नाम सार्वजनिक किए तो यहां के मंजीत उर्फ भोलू का नाम सामने आया।

ये है भोलू का परिवार

मंजीत उर्फ भोलू की अभी शादी नहीं हुई है। उसके परिवार में उसका पिता राजपाल, मां और एक भाई है। तीन बहनें हैं, जिनमें से दो की शादी हो चुकी है। छोटी बहन का अभी रिश्ता नहीं हुआ है। परिवार के पास साढ़े तीन एकड़ कृषि भूमि है, जिसे उसका पिता राजपाल संभालता है। साथ ही भोलू का भाई गांव में ही सुअर फार्म चलाता है। मूसेवाला मर्डर के दौरान वह गांव में ही रहा है। परिवार भी स्तब्ध है कि हत्याकांड के शार्प शूटरों में उसका नाम कैसे आ गया। पुलिस ने परिजनों को मीडिया से दूर रहने की हिदायत दी है, ऐसे में वे किसी से खुलकर बातचीत नहीं कर रहे हैं।

हत्या का केस भी हुआ था दर्ज

बताया गया है कि गढ़ी सिसाना के जिस मंजीत उर्फ भोलू को शार्प शूटर बताया गया है, वह कुख्यात गैंगस्टर प्रियव्रत उर्फ फौजी का दोस्त है। हालांकि फौजी की तरह उसका कोई लंबा चौडा आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है। खरखौदा पुलिस ने करीब चार साल पहले उसे गांव के मोड़ से एक अवैध पिस्तौल व जिंदा कारतूस के साथ गिरफ्तार किया था। इसके अलावा वर्ष 2015 में उस पर प्रियवर्त के साथ हत्या का केस भी दर्ज हो चुका है। उसके शार्प शूटर होने की बात फिलहाल ग्रामीणों और सोनीपत पुलिस के गले से नहीं उतर रही है। हालांकि फिलहाल वह गांव में नहीं है और पुलिस उसकी तलाश की बात कह रही है।

गैंगस्टर के फोन के बाद शुरू हुई तलाश

ग्रामीणों की मानें तो सिद्धू मूसेवाला की हत्या के दिन 29 मई को मंजीत उर्फ भोलू अपने गांव में ही था। उसके मोबाइल फोन की लोकेशन भी उसके गांव की ही बताई जा रही है। गांव व स्थानीय पुलिस को अभी जो सूचना है, उसमें अभी यही कहा जा रहा है कि शार्प शूटर प्रियव्रत फौजी ने वारदात के दौरान मंजीत को फोन किया था। दोनों की आपस में बातचीत के बाद ही वह पुलिस के निशाने पर आया है। मूसेवाला हत्याकांड में प्रियव्रत की संलिप्तता पहले ही सामने आ चुकी है। वारदात में प्रयुक्त बोलेरो में फतेहाबाद में बीसला के पेट्रोल पंप पर तेल डलवाया गया था, जिसके सीसीटीवी फुटेज में प्रियव्रत और अंकित सेरसा साफ नजर आए हैं।

सोनीपत पुलिस की चुप्पी

मूसेवाला हत्याकांड में सोनीपत के प्रियव्रत फौजी, अंकित सेरसा और अब मंजीत उर्फ भोलू के नाम सामने आ चुके हैं। सोनीपत पुलिस चौकन्नी है, लेकिन कोई भी अधिकारी मामले में ज्यादा जानकारी देने को तैयार नहीं है। पूरे मामले में एसपी हिमांशु गर्ग का इतना ही कहना है कि पंजाब पुलिस कोई सहयोग मांगती है तो मदद देंगे। हत्याकांड के पीछे कौन कौन हैं, पंजाब पुलिस ही बताएगी। जिनके नाम सामने आ रहे हैं, उनके बारे में छानबीन चल रही है।

खबरें और भी हैं...