• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Sonipat
  • Orders to register a case against the sarpanch of Pipli Kheda, 70 lakh 76 thousand 300 rupees have come out from the panchayat account, the case has been filed on the sarpanch of Hasanpur, Tikaula, Kami

घोटालों की पंचायत / पीपली खेड़ा के सरपंच के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के आदेश, पंचायत अकाउंट से निकले हैं 70 लाख 76 हजार 300 रुपए, हसनपुर, टिकौला, कामी के सरपंच पर हो चुका है केस दर्ज

Orders to register a case against the sarpanch of Pipli Kheda, 70 lakh 76 thousand 300 rupees have come out from the panchayat account, the case has been filed on the sarpanch of Hasanpur, Tikaula, Kami
X
Orders to register a case against the sarpanch of Pipli Kheda, 70 lakh 76 thousand 300 rupees have come out from the panchayat account, the case has been filed on the sarpanch of Hasanpur, Tikaula, Kami

दैनिक भास्कर

May 30, 2020, 05:00 AM IST

सोनीपत. मुरथल बीडीपीओ कार्यालय के ग्राम सचिव सुरजीत की आत्महत्या के बाद पीपली खेड़ा गांव में भी करीब 70 लाख 76 हजार तीन सौ रुपए निकलने का मामला उजागर हुआ था। बीडीपीओ कार्यालय मुरथल की तरफ से आरोपी सरपंच को नोटिस दिए गए हैं। सरपंच के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की मांग को लेकर तत्कालीन डीसी डॉ. अशंज सिंह को अवगत कराया गया था। अब इस मामले में डीसी श्यामलाल पूनिया ने कड़ा संज्ञान लिया है। आरोपी सरपंच के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के आदेश दिए गए हैं। उधर, हसनपुर, टिकौला गांव के आरोपी सरपंचों को गिरफ्तार करने के लिए मुरथल थाना की पुलिस लगातार दबिश दे रही है।

पीपली खेड़ा गांव से निकले हैं 70 लाख 76 हजार 300 रुपए
पंचायतों के घोटालों की लिस्ट में अब पीपली खेड़ा गांव का नाम भी जुड़ गया है। पीपली खेड़ा गांव की पंचायत से भी ब्लैकलिस्ट हुई फर्म को 70 लाख 76 हजार 300 रुपए ट्रांसफर हुए हैं। यहां बताया जा रहा है कि पीपली खेड़ा की पंचायत से एफएफसी व न्यू स्कीम के पैसे निकाले गए हैं। पीपली खेड़ा के सरपंच को बीडीपीओ कार्यालय मुरथल की तरफ से नोटिस दिए गए हैं। सरपंच ने न तो पैसे जमा कराए हैं और न ही वह नोटिस का कोई जवाब दिया। बीडीपीओ कार्यालय की तरफ से अब डीसी को अवगत कराया गया था। जिस पर कार्रवाई करते हुए बीडीपीओ को सरपंच के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के आदेश दिए गए हैं।

फरार सरपंचों को गिरफ्तार करने का प्रयास कर रही है पुलिस
हसनपुर गांव की पंचायत से 1 करोड़ 67 लाख व टिकाैला गांव की पंचायत से 45 लाख 19 हजार रुपए का घोटाला होने की पुष्टि हुई थी। हसनपुर गांव के सरपंच जयनारायण व टिकौला की सरपंच सुमन के खिलाफ मुरथल थाना में मुकदमा दर्ज हुआ था। दोनों सरपंच फरार हैं। हसनपुर गांव के सरपंच जयनारायण ने हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका लगाई थी। जो कोर्ट ने खारिज कर दी थी। मुरथल पुलिस दोनों सरपंचों को गिरफ्तार करने का प्रयास कर रही है। पुलिस की टीम लगातार दबिश दे रही है।

कसा शिकंजा : इन सभी के खिलाफ है मुकदमा दर्ज
हसनपुर के सरपंच जयनारायण, मृतक ग्राम सचिव मृतक सुरजीत, आईडीबीआई बैंक धतूरी के मैनेजर दीपक, फ्रेंडस फीलिंग स्टेशन, मलिक इंटरप्राइजेज, ओम आंतिल बिल्डिंग मेटिरियल सप्लायर, चिंरजीलाल सेल्स, सौरभ कंट्रक्शन, गंगा इंटरप्राइजेज, साइन इंटरप्राइजेज, श्रीबालाजी इंटरप्राइजेज, शिव ट्रेडिंग कंपनी, व नेशनल सबमर्सिबल पंप के संचालकों के खिलाफ अमानत में खयानत व धोखाधड़ी के तहत मुकदमा दर्ज किया था।  इस मामले में दो आरोपी अटायल गांव निवासी सुरेंद्र व हुल्लाहेड़ी निवासी संजीव उर्फ बंटी पुत्र कप्तान को गिरफ्तार हो चुके हैं। अन्य फर्म अभी फरार हैं।

उनके पास ग्राम सचिव डीसी के आदेश का हवाला देते हुए एक शिकायत पत्र लेकर आया था। कोई कागज अधूरा होने की वजह से वह वापस ले गया। जैसे ही शिकायत आएगी, मुकदमा दर्ज किया जाएगा। -जयप्रकाश, एसएचओ थाना बड़ी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना